प्रेगनेंसी के बाद भी दिखना चाहती हैं ब्‍यूटीफुल, तो इन टिप्‍स के साथ रखें अपनी त्‍वचा का ख्‍याल

Updated at: Sep 21, 2020
प्रेगनेंसी के बाद भी दिखना चाहती हैं ब्‍यूटीफुल, तो इन टिप्‍स के साथ रखें अपनी त्‍वचा का ख्‍याल

गर्भावस्‍था के दौरान महिलाओं में कई बदलाव आते हैं, जिसका असर आपकी त्‍वचा पर भी पड़ता है। यहां जानिए कि कैसे प्रेगनेंसी में अपनी त्‍वचा का ध्‍यान रखें।

Sheetal Bisht
त्‍वचा की देखभालWritten by: Sheetal BishtPublished at: Sep 21, 2020

गर्भावस्‍था एक महिला के जीवन के सबसे खूबसूरत पलों में से एक पल है। हालांकि, इस दौरान महिला को कई परेशानियों से गुजरना पड़ता है, जिसमें कि कुछ शारीरिक और मानसिक बदलाव भी शामिल हैं। इस दौरान महिला में मूड स्विंग्‍स, मॉर्निंग सिकनेस और फूड क्रेविंग जैसी भी चीजें होती हैं। इतना ही नहीं महिला में इस दौरान कई हार्मोनल उतार-चढ़ाव भी आते हैं, जिसकी वजह से इस दौरान महिला के बालों और त्‍वचा पर भी असर पड़ता है। लेकिन गर्भावस्‍था के दौरान आप कुछ स्किन केयर और हेयर केयर टिप्‍स की मदद से अपनी ब्‍यूटी पर आने वाले इन बदलावों से निपट सकते हैं। आइए यहां हम प्रेगनेंसी में त्‍वचा पर आने वाले कुछ बदलाव और उनससे निपटने का तरीका आपको बता रहे हैं। 

ब्रेकआउट्स 

वैसे तो ब्रेकआउट्स की समस्‍या कभी भी हो सकती हैं, यह बहुत आम है। लेकिन प्रेगनेंसी के समय, विशेष रूप से पहली या दूसरी तिमाही में चेहरे पर ब्रेकआउट्स होना आम है। ऐसा इसलिए होता है क्‍योंकि आपके हार्मोन में इस दौरान बदलाव आता है। आपको इस दौरान एण्‍ड्रोजन के रूप में जाने वाले हार्मोन में एक स्‍पाइक का अनुभव हो सकता है। यह आपकी त्‍वचा में सीबम उत्‍पादन में वृद्धि करता है और अंतत: ब्रेकआउट्स या मुंहासों का कारण बनता है। 

इसे भी पढ़ें: त्‍वचा को हाईड्रेट और मॉइश्‍चराइज करने में मददगार है लैवेंडर मिल्‍क बाथ

Breakouts

इस समस्‍या से कैसे निपटें:  

प्रेगनेंसी के दौरान मुंहासों या ब्रेकआउट्स से निपटने के लिए आप सुनिश्चित करें कि आप अपने चेहरे को दिन में कम से कम 2 बार धोएं। इसके अलावा, आप नॉन-कॉमेडोजेनिक स्किनकेयर और मेकअप प्रॉडक्‍ट का इस्‍तेमाल करें। आप मुंहासों से बचाव के लिए कुछ होममेड फेस पैक भी ट्राई कर सकते हैं। जिसमें आप चाहें, तो मुल्‍तानी मिट्टी, खीरे का रस और नींबू का रस मिलाकर एक फेस पैक तैयार कर सकते हैं। यह आपके सीबम उत्‍पादन को संतुलित करेगा और आपकी त्‍वचा को शांत करेगा। 

स्‍ट्रेच मार्क्‍स 

स्‍ट्रेच मार्क्‍स प्रेगनेंसी के दौरान होने वाली एक आम समस्‍याओं में से एक है। जैसे-जैसे प्रेगनेंसी के समय आपका पेट बढ़ता है, तो आपकी त्‍वचा में भी खिंचाप आता है, जिसके कि त्‍वचा पर निशान पड़ जाते हैं। स्‍ट्रेच मार्क्‍स आपके पेट बढ़ने और त्‍वचा में खिंचाव के कारण आते हैं। लगभग 90 से 95 प्रतिशत महिलाएं ऐसी हैं, जिनमें स्‍ट्रेच मार्क्‍स देखने को मिलते हैं। 

Take Care Of Your Skin With These Tips

इस समस्‍या से कैसे निपटें: 

जब आपकी त्‍वचा में प्रेगनेंसी के दौरान या बाद में स्‍ट्रेच मार्स्‍क दिखते हैं, तो आप इन्‍हें तुरंत हटा तो नहीं सकते हैं, लेकिन धीरे-धीरे कम कर सकते हैं। स्‍ट्रेच मार्क्‍स को कम करने के लिए आप कई तरह के उपाय अपना सकते हैं। जिसमें कि आप जैतून का तेल इस्‍तेमाल कर सकते हैं, यह विटामिन ई का एक बड़ा स्‍त्रोत हैं और यह आपकी त्‍वचा में सुधार कर सकता है। रोजाना इस तेल की मसाज से आप स्‍ट्रेच मार्क्‍स को कम कर सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें: इन 3 तरीकों से आपकी त्‍वचा ग्‍लोइंग बनाने में मददगार हो सकता है काला नमक

पिगमेंटेशन

क्‍या आपको भी अपनी गर्भावस्‍था के दौरान या उसके बाद चेहरे पर छोटे-छोटे काले धब्‍बे दिखते हैं? तो इसे पिगमेंटेशन कहा जाता है। गर्भावस्‍था के दौरान पिगमेंटेशन की समस्‍या होना एक आम बात है। यह हार्मोनल परिवर्तनों के कारण होता है, जो कि गर्भावस्‍था का एक हिस्‍सा है। 

How To Remove Pigmentation

इस समस्‍या से कैसे निपटें: 

गर्भावस्‍था के दौरान काले दाग-धब्‍बों यानि पिगमेंटेशन से बचने के लिए आप घर से बाहर निकलने पर सनस्‍क्रीन का उपयोग करें। वहीं आप पिगमेंटेशन को दूर करने के लिए कुछ उपाय भी अपना सकते हैं, जिसमें कि आप प्रभावित जगह पर नींबू का रस या फिर आलू का रस लगाकर रब कर सकते हैं। नींबू या आलू का रस आपकी त्‍वचा को ठीक करने में आपकी काफी हद तक मदद कर सकता है। 

इस प्रकार आप इन सुझावों के साथ गर्भावस्‍था के दौरान अपनी त्‍वचा का ध्‍यान रख सकते हैं और गर्भावस्‍था के दौरान होने वाली स्किन प्राब्‍लम्‍स से निपट सकते हैं। 

Read More Article On Skin Care In Hindi 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK