• shareIcon

तेल जो कम करेगा जंक फूड का दुष्‍प्रभाव

लेटेस्ट By एजेंसी , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / May 16, 2013
तेल जो कम करेगा जंक फूड का दुष्‍प्रभाव

इस नए तेल को अपने आहार में शामिल कर जंक फूड के दुष्‍प्रभावों को कम किया जा सकता है।

tail jo kam karega jung food ka dushparbhav

वैज्ञानिकों के अनुसार, जंक फूड के दिमाग पर पड़ने वाले दुष्प्रभावों को मछली का तेल कम कर सकता है। यूनिवर्सिटी आफ लीवरपूल के वैज्ञानिकों ने यह पता लगाने के लिए दुनियाभर के शोधपत्रों का विश्लेषण किया कि क्या इस बात के लिए पर्याप्त आंकड़ें उपलब्ध हैं जो यह बता सकें कि ओमेगा 3एस की वजन कम करने में कोई भूमिका थी।

 

पूर्व में किए गए अध्ययनों से संकेत मिलता है कि उच्च वसा युक्त भोजन नयी स्नायु कोशिकाओं को बनाने वाली न्यूरोजेनेसिस प्रक्रिया गड़बड़ा सकती है। लेकिन ओमेगा 3एस मस्तिष्क के खानपान, सीखने और स्मति को नियंत्रित करने वाले हिस्सों को सक्रिय कर इन नकारात्मक प्रभावों को रोक सकता है।

 

हालांकि 185 शोध पत्रों से मिले आंकड़ों ने खुलासा किया कि मछली के तेल का मस्तिष्क के इन इलाकों की इस प्रक्रिया पर धीरे कोई असर नहीं है, लेकिन यह रिफाइंड शुगर और सेचुरेटिड फैट की मस्तिष्क की शरीर की आहार लेने की प्रक्रिया को नियंत्रित करने की क्षमता को रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकता है।

 

यूनिवर्सिटी के इंस्टीट्यूट ऑफ ऐजिंग एंड क्रोनिक डिजीज विभाग के डॉक्टर लूसी पिकवान्से ने बताया कि शरीर का वजन कई तत्वों से प्रभावित होता है और इनमें से सर्वाधिक महत्वपूर्ण वे पोषक तत्व होते हैं जो हम भोजन के जरिए लेते हैं।

 

उन्होंने बताया कि कई सूक्ष्म पोषक तत्वों की अधिक मात्रा का सेवन और जंक फूड में पायी जाने वाली शूगर तथा सेचुरेटिड फैट वजन बढ़ा सकता है, मैटाबोलिजम को गड़बड़ कर सकता है और यहां तक कि यह दिमागी प्रक्रिया को भी प्रभावित कर सकता है।

 

 


Read More Articels on Health News in hindi.

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।