स्‍वादिष्‍ट सब्‍जी ही नहीं औषधीय गुणों का भंडार है कचनार, हाई ब्‍लड शुगर लेकर हाइपोथायरायडिज्म में है फायदेमंद

Updated at: Aug 19, 2020
स्‍वादिष्‍ट सब्‍जी ही नहीं औषधीय गुणों का भंडार है कचनार, हाई ब्‍लड शुगर लेकर हाइपोथायरायडिज्म में है फायदेमंद

कचनार या Bauhinia Variegata एक ऐसी अद्भुज सब्‍जी हैं, जो आपके लिए कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभों से भरपूर है। आइए कचनार के फायदे जाननें के लिए लेख को आगे पढ़ें

Sheetal Bisht
स्वस्थ आहारWritten by: Sheetal BishtPublished at: Aug 19, 2020

क्‍या आप में से किसी ने कचनार की सब्‍जी खाई है? शायद कुछ लोगों ने खाई होगी और कुछ ने नहीं। लेकिन हम आपको बता दें, कचनार एक बेहद स्‍वादिष्‍ट सब्जियों में से एक है। कुछ जगहों पर कचनार का अचार बनाकर खाया जाता है, तो कहीं स‍ब्‍जी और कहीं मांस या फिर अन्‍य व्‍यंजनों के साथ मिलाकर इसे बनाया जाता है। कचनार की सब्‍जी खाने में जितनी स्‍वादिष्‍ट है, उतनी ही सेहतमंद भी है। कचनार की दो अलग-अलग वृक्षजातियों को बॉहिनिया वैरीगेटा (Bauhinia variegata) और बॉहिनिया परप्यूरिया (Bauhinia purpurea) भी कहते हैं।  इसके अलावा, हो सकता है कचनार को अन्‍य जगहों पर कुछ और नाम से जाना जाता हो, लेकिन उत्‍तराखंड में इसे वहां की आम भाषा में गुरियाल के नाम से जाना जाता है। 

कचनार कई पोषक तत्‍वों से भरपूर है, लेकिन इसमें मुख्‍य रूप से विटामिन सी, विटामिन के और अन्‍य कुछ आवश्‍यक खनिज पाए जाते हैं। यही वजह है कि कचनार के फूलों और कली को सब्‍जी के अलावा, दवा के रूप में भी इस्‍तेमाल किया जाता है। यह आपको कई बीमारियों से दूर रखने और उनके इलाज में मददगार साबित हो सकता है। आइए यहां आप कचनार के फूलों और कलियों के फायदे जानें। 

Kachnaar Benefits

हाइपोथायरायडिज्म में मददगार 

आपको जानकर हैरानी होगी कि कचनार की छाल से बना काढ़ा पीने से हाइपोथायरायडिज्म के इलाज में मदद मिलती है। कचनार का थायराइड असंतुलन में काफी अच्‍छा प्रभाव पड़ता है, क्‍योंकि यह शरीर से कफ को निकालने में मदद करता है। 

इसे भी पढ़ें: डायबिटीज रोगियों के लिए बेस्‍ट है दूध के ये 4 विकल्‍प, ब्‍लड शुगर भी रहेगा कंट्रोल

Hypothyroidism

कब्‍ज और अपच से राहत 

कचनार की छाल का अर्क और पाउडर पाचन तंत्र को शांत करने में मदद करता है। यह आपको अपच और कब्‍ज से राहत दिला सकता है क्‍योंकि यह पाचन क्रिया को ठीक करता है। यदि आप पेट से जुड़ी किसी समस्‍या से जूझ रहे हैं, तो आप कचनार के अर्क का उपयोग करें, यह पेट की समस्या को ठीक कर देगा। आप अपने पेट को साफ करने और बेहतर पाचन के लिए खाना खाने से पहले कचनाल की छाल के पाउडर से बने काढ़े का एक गिलास लें। 

ब्‍लड प्‍यूरिफिकेशन में सहायक 

जी हां, कचनार आपके खून को साफ करने में मदद करता है। यह एक तरह से ब्‍लड प्‍यूरिफिकेशन का प्राकृतिक तरीका है। कचनार के कड़वे फूलों को एक महान ब्‍लड प्‍यूरिफायर के रूप में जाना जाता है। यह खून को साफ करने और खून से विषाक्‍त पदार्थों को बाहर निकालने में मददगार है। 

हाई ब्‍लड शुगर के लिए प्रभावी 

अगर आप हाई ब्‍लड शुगर की समस्‍या से पीडि़त हें, तो कचनार आपके लिए एक बेहतरीन औषधी है। ऐसा इसलिए, क्‍योंकि कचनार के अर्क में मौजूद रसायन में इंसुलिन जैसे गुण होते हैं। यह आपके बढ़े हुए शुगर को कंट्रोल करने का एक प्राकृतिक नुस्‍खा है। आप कचनार के अर्क का काढ़ा बनाकर इसका सेवन करें। 

इसे भी पढ़ें: बच्‍चों के दिमाग को तेज और इम्‍युनिटी बूस्‍ट करने में मदद करता है नारियल का दूध, जानें इसके अन्‍य फायदे

High Blood Sugar

पीरियड्स के दौरान सही ब्‍लड फ्लो के लिए 

यदि आप अपने पीरियड्स के दौरान बहुत अधिक या बहुत कम रक्‍तस्‍त्राव महसूस करती हैं, तो यह आपके लिए एक अच्‍छा नुस्‍खा है। कचानार पीरियड्स के दौरान अत्यधिक रक्तस्राव और कम रक्‍तत्राव की शिकायत से निपटने के लिए फायदेमंद है। बस आप अपनी डाइट में कचनार की सब्‍जी या इसका काढ़ा शामिल करें। 

इस तरह यदि आप अपनी डाइट में इस औषधीय गुणों से भरपूर सब्‍जी कचनार को शामिल करते हैं, तो आपको कई अन्‍य फायदे भी मिलेंगे। यह आपको मुंह के अल्‍सर, बदबूदार सासों, डायरिया, पीलिया, लिवर की समस्‍याओं और कमजोरी को दूर करने में भी मददगार है। 

Read More Article On Healthy Diet In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK