• shareIcon

गर्मियों में पसीने से हो रही है एलर्जी? तो अपनाएं ये आसान टिप्स

त्‍वचा की देखभाल By Rashmi Upadhyay , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / May 11, 2017
गर्मियों में पसीने से हो रही है एलर्जी? तो अपनाएं ये आसान टिप्स

गर्मी के मौसम में त्वचा का आपस में रगड़ना बहुत कष्टकारी होता है। खासतौर पर उनलोगो के लिए जिनका वजन ज्यादा हो। पैरों के बीच में, बगल का रगड खाना त्वचा को भी परेशान कर देता है।

गर्मियों में होने वाली गर्मी और फिर पूरी शरीर में खुजली के चलते अधिकतर लोगों को वगर्मियों का मौसम पंसद नहीं होता है। गर्मियों में पसीना आने की शिकायत बहुत रहती है जिससे त्वचा चिपचिपी हो जाती है। और आपस में रगड़ने पर छिल जाती है। ऐसे में तो त्वचा के रगडने की समस्या से बचने के लिए जरूरी है कि आप उसे सूखा और ठंडा बनाए रखें। इसके लिए  आप पाउडर, तेल, क्रीम, ग्रीस आदि जैसी चीजों का उपयोग करके इस समस्या से बच सकती है।

इसे भी पढ़ें : ये नैचुलर उपाय अपनाएं, त्वचा के दाग-धब्बे हटाएं



  • जांघों और बगल के आसपास आने वाले पसीने को सुखाने के लिए आप पाउडर का इस्तेमाल कर सकती है। हालांकि पाउडर से ज्यादा प्रभावशाली तेल होता है। ये ज्यादा देर तक त्वचा में चिकनाई को बनाए रखता है। औऱ आपस में रगड़ने पर छिलता भी नहीं है।
  • जांघों को रगड़ने से बचाने के लिए आपके कपड़ों का स्टाइल भी जरूरी भूमिका निभाता है। कॉटन की जगह आप ढीला सिंथेटिक पहना ज्यादा बेहतर रहता है। अगर आप स्कर्ट आदि पहन रही है तो अंदर शॉर्टस जरूर पहने। ये आपकी जांघों को रगड़ने से बचाएगा। ज्यादा कसे कपड़े पहनने से भी बचे, ये आपकी त्वचा से रगड़कर आपके लिए परेशानी पैदा कर सकते है।
  • तेल और पाउडर के अलावा वैसलीन जेली जैसे ग्रीसी क्रीम का उपयोग भी किया जा सकता है। ये आपके त्वचा को रूखा या चिपचिपा नहीं करते है। आपकी त्वचा की नमी को बरकार रखकर उसे सामान्य रखते है ताकि आपस में टकराने पर भी परेशनी ना हो। पाउडर ज्यादा देर तक नहीं टिकता। वहीं तेल लगाने से कई बार कपड़ो पर दाग लगने का डर रहता है। जबकि वैसलीन से आपको ऐसी किसी भी समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। आप चाहे तो बच्चों की डायपर रैश क्रीम का भी प्रयोग कर सकती है।
  • आप सीढ़िया चढ़ते उतरते समय अपनी जांघों को रगड़ने से रोकने के लिए एंटी बिल्सटर क्रीम का प्रयोग कर सकती है। ये प्लाट वैक्स से बनी होती है। और पैरों में नमी बनाए रखती है। जो लोग मैराथनआदि में दौड़ते है वे इस क्रीम का ही प्रयोग करते है। इसके अलावा डियो स्टिक का प्रयोग भी कर सकते है।

इसे भी पढ़ें : चोट या खरोंच को चाटना है कितना सही? जानें

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Article on Skin Problem in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK