Baby Skincare: गर्मी और उमस से शिशु की नाजुक त्वचा हो सकती है खराब, अपनाएं ये बेबी स्किन केयर टिप्स

Updated at: May 28, 2020
Baby Skincare: गर्मी और उमस से शिशु की नाजुक त्वचा हो सकती है खराब, अपनाएं ये बेबी स्किन केयर टिप्स

शिशु की स्किन बहुत अधिक संवेदनशील होती है। इसलिए गर्मियों के मौसम में बच्चे की स्किन का ख्याल रखते हुए उन्हें हल्के कपड़े ही पहनाएं।

Pallavi Kumari
नवजात की देखभालWritten by: Pallavi KumariPublished at: May 28, 2020

गर्मियों के मौसम में बड़े हो या बच्चे हर किसी के लिए ये कुछ न कुछ स्किन से जुड़ी परेशानियों को लाता ही है। पर ये मौसम बच्चों की कोमल और नाजुक स्किन के लिए कठोर साबित हो सकता है। गर्मियों में धूप, उमस और टेम्परेचर के बढ़ने के कारण बच्चे की स्किन पर रैशेज़, इरिटेशन, फोड़े-फुंसियां और घमौरियां हो सकती हैं। ऐसे में गर्मी और उमस से शिशु की त्वचा की देखभाल (baby skincare)  करना बेहद जरूरी है। वहीं इस देखभाल में खास इस बात का खास ध्यान रखें कि कोई भी चीज केमिकल युक्त न हो। तो आइए जानते हैं कि गर्मियों में शिशु की नाजुक त्वचा की देखभाल (summer skin care tips for babies) कैसे करें?

insidebabycare

गर्मी में बेबी की त्वचा का ख्याल

शिशु को घमौरियों से बचा कर रखें 

गर्मी के दिनों में शिशु अक्सर घमौरियों हो ही जाती हैं। ये छोटे लाल दाने चेहरे, गर्दन, हाथ, आदि पर दिखाई देते हैं। इससे शिशु असहज होते हैं और खुजली व जलन से परेशान हो जाते हैं। ऐसे में जरूरी है कि आप उन्हें घमौरियों से बचाकर रखें। इसके लिए आप इन बातों का खास ख्याल रखें :

  • -सुनिश्चित करें कि आपका शिशु गुनगुने पानी में स्नान करे।
  • -नाजुक त्वचा के लिए माइल्ड सोप का इस्तेमाल करें।
  • -उसे ढीले ढाले कपड़े पहनाएं।
  • -गर्मियों के दौरान डायपर रैश आम हैं, इसलिए आवश्यकता पड़ने पर ही डायपर का उपयोग करें।
  • -शांत वातावरण बेहतर है, इसलिए घर के अंदर ही रखें।
  • -एयर कंडीशन नुकसान नहीं पहुंचाता है। इसलिए 25 डिग्री के एक सुखदायक तापमान पर अपने शिशु को रखें।

सनस्क्रीन का प्रयोग करें

छोटे बच्चों के लिए भी सनस्क्रीन उतना ही जरूरी है, जितना कि बड़ों के लिए। अमेरिकन एकेडमी ऑफ पीडियाट्रिक्स ने 6 महीने और उससे कम उम्र के शिशुओं के लिए सनस्क्रीन को मंजूरी दी है। इसलिए घर से बाहर निकलने से 20 मिनट पहले अपने बच्चे के चेहरे और शरीर पर सनस्क्रीन लगाएं। वहीं कोशिश करें, कि धूप में लेकर उन्हें ज्यादा न जाएं। क्योंकि आपका बच्चा आपको बता नहीं सकता है कि उसे बहुत गर्मी लग रही है इसलिए मामूली धूप से भी उसे बचा कर रखा। अगर उसकी त्वचा लाल दिखती है, तो वह पहले ही जल चुकी होगी। ऐसे में इसका उपचार करें।

insidesunscreen

इसे भी पढ़ें : इन 3 उबटन की मदद से हटाएं नवजात बच्‍चे के शरीर से बाल, न होगा बच्‍चे को दर्द और न होगा एलर्जी का खतरा

छाया में ही बच्चे को रखें

अगर आपको अपने शिशु को बाहर ले भी जाना है, तो उन्हें सूर्य के सीधे संपर्क में आने से बचाएं। समुद्र तट, पार्क, या कहीं भी बाहत जाते समय छाता साथ में रखें। ये विशेष रूप से यूवी किरणों से आपके बच्चे के स्किन को बचाएगा। अपने शिशु को चौड़ी-चौड़ी टोपी पहनाएं, कसकर पूरी तरह से बुने हुए कपड़े और धूप का चश्मा पहनाएं और दिन के मध्य में घर के अंदर आ जाएं।

एलर्जी के लिए टेस्ट

बेबी की त्वचा पर कम मात्रा में लोशन का उपयोग करें। यह देखने के लिए कि क्या उसे इससे एलर्जी है या नहीं पहले उसका एलर्जी टेस्ट करवा लें। पैरा-एमिनोबेंजोइक (PABA) सबसे ज्यादा एलर्जी से जुड़ी सामग्री है। ऐसे में डॉक्टर से बात कर के बेपबी के लिए किसी अच्छे लोशन का प्रयोग करें। अगर आपके बच्चे की त्वचा चिड़चिड़ी हो गई है, या उन्हें उस लोशन से पेशानी है, तो ऐसे ब्रांड पर स्विच करें जिसमें अन्य अवयव हों।

बेबी पाउडर का कम करें इस्तेमाल

गर्मियों में लोग पसीने और उमस से बच्चे को बचाने के लिए बच्चे की स्किन पर बहुत अधिक बेबी पाउडर लगाते हैं। स्किन को ड्राई रखने के लिए ऐसा ना करें। पाउडर में कई तरह के केमिकल्स मौजूद होते हैं, जो बच्चे की स्किन को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इससे हिट रैशेज और इरिटेशन की परेशानी बढ़ सकती है।

इसे भी पढ़ें : Newborn Care in Lockdown: समीरा रेड्डी ने बेटी के लिए ऐसे बनाएं गर्मी के कपड़े, आप भी करें इसे ट्राई

हाइड्रेशन का ख्याल रखें

बड़ों की तरह ही बच्चों को भी गर्मियों में पानी अधिक मात्रा में पीना चाहिए होता है। लेकिन 6 महीने से छोटे बच्चों को पानी नहीं पिलाया जाता। इसीलिए, उन्हें बार-बार ब्रेस्टफीड कराते रहें। 6 महीने से बड़े बच्चों को हर आधे घंटे बाद 2-3 चम्मच पानी पिलाएं। इसी तरह उन्हें मौसमी फल, सब्जियां और पौष्टिक आहार को तरल पदार्थ के रूप में देते रहें।

दिन में दो बार नहलाएं

गर्मियों में बच्चे को नियमित रूप से नहलाएं। बहुत छोटे बच्चों को भी गर्मियों में नहलाया जा सकता है। इससे, बच्चों की स्किन को साफ रखने के अलावा उसे ठंडक पहुंचती है। अगर आपके बच्चे को नहाना पसंद है, तो आप सुबह के अलावा शाम को भी उन्हें एक बार नहला सकते हैं। 

Read more articles on New-Born-Care in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK