हार्ट के मरीजों के लिए खतरनाक हो सकता है गर्म मौसम, जानें गर्मियों में हृदय को स्वस्थ रखने के लिए 10 टिप्स

Updated at: May 29, 2020
हार्ट के मरीजों के लिए खतरनाक हो सकता है गर्म मौसम, जानें गर्मियों में हृदय को स्वस्थ रखने के लिए 10 टिप्स

गर्मी में छोटी-छोटी गलतियां आपके हृदय (हार्ट) के लिए घातक हो सकती हैं। जानें 10 टिप्स जिन्हें अपनाकर आप इन गर्मियों में अपने दिल को स्वस्थ रख सकते हैं

Anurag Anubhav
हृदय स्‍वास्‍थ्‍यWritten by: Anurag AnubhavPublished at: May 29, 2020

उत्तर भारत में गर्मी तेजी से बढ़ रही है। कुछ इलाकों में तापमान 46 डिग्री से भी ऊपर रहने लगा है, जिसके कारण रेड एलर्ट घोषित कर दिया गया है। दोपहर में 1 बजे से लेकर 4 बजे तक लोगों को घर से बाहर न निकलने की सलाह दी जा रही है। इतनी विकराल गर्मी में सामान्य लोगों की हालत खराब है, तो सोचिए कि दिल के मरीजों के लिए गर्मी का मौसम कितना कष्टकारी होगा। अधिक गर्मी के कारण नींद की कमी, बेचैनी और प्यास से उनके दिल की धड़कन बढ़ सकती है और वो एरिद्मिया के शिकार हो सकते हैं।

इसी तरह बहुत अधिक गर्मी और लू के कारण शरीर में पानी, सोडियम और पोटैशियम की कमी हो सकती है, जिसके कारण डिहाइड्रेशन हो सकता है और स्थिति जानलेवा हो सकती है। ये समस्याएं दिल के मरीजों के लिए तो गंभीर हैं हीं, साथ ही स्वस्थ लोगों के लिए भी खतरनाक हो सकती हैं। इसलिए गर्मी के मौसम में अपने दिल का ख्याल रखने के लिए आपको इन 10 टिप्स को जरूर फॉलो करना चाहिए।

healthy heart summer tips

गर्मी में पानी कम पीना कितना खतरनाक हो सकता है?

गर्मी के मौसम में शरीर की पानी की जरूरतें बढ़ जाती हैं। इसलिए अगर आप पानी पीने में लापरवाही बरतते हैं, तो आपको डिहाइड्रेशन हो सकता है। डिहाइड्रेशन के कारण शरीर में सोडियम, पोटैशियम और पानी की कमी हो सकती है। इससे हृदय की मांसपेशियों में खिंचाव पैदा हो सकता है। जो लोग पहले से ही हाई ब्लड प्रेशर के मरीज हैं, उनके लिए भी ये मौसम खतरनाक हो सकता है। दरअसल पानी की कमी से पूरे शरीर में ब्लड सर्कुलेशन बिगड़ जाता है। ऐसे में अगर कोई व्यक्ति ब्लड प्रेशर कम करने की दवा भी ले रहा है, तो स्थिति ऐसी बनती है- एक तरफ को पानी कम पीने के कारण हार्ट रेट बढ़ जाता है, दूसरी तरह ब्लड प्रेशर की दवा अंदर जाकर ब्लड प्रेशर कम कर देती है। इससे अचानक व्यक्ति को कार्डियक अरेस्ट की समस्या हो सकती है।

इसे भी पढ़ें: दिल की धड़कन को अचानक बढ़ा सकते हैं ये 5 आहार, लंबे समय में बढ़ता है दिल की बीमारी का खतरा

इसलिए गर्मी के मौसम में पर्याप्त पानी पीना बहुत जरूरी है। एक्सपर्ट्स के अनुसार आपको एक दिन में कम से कम 2.5 लीटर पानी जरूर पीना चाहिए। किसी भी स्थिति में दिनभर में 1.25 लीटर से कम पानी न पिएं, अन्यथा आपकी जान को खतरा हो सकता है।

गर्मी में हार्ट को स्वस्थ रखने के लिए 10 जरूरी टिप्स

  • शरीर में पानी का संतुलन बनाए रखने के लिए पानी लगातार पीते रहें। खासकर एक्सरसाइज के समय और एक्सरसाइज के बाद पानी पीना बहुत जरूरी है।
  • इस मौसम में चाय-कॉफी कम पिएं क्योंकि ये शरीर में पानी की कमी पैदा करते हैं। इसके बजाय छाछ, लस्सी, फलों का जूस आदि पिएं।
  • ब्लड प्रेशर रोगियों के लिए तो नमक खतरनाक है ही, लेकिन सामान्य लोग भी गर्मी के मौसम में नमक का सेवन कम करें।
  • एक बार में बहुत ज्यादा खाने के बजाय कई बार में थोड़ा-थोड़ा खाएं, जिससे पेट को बहुत अधिक मेहनत न करनी पड़े खाने को पचाने में।
  • खाने में रसीले फल और सब्जियों को शामिल करें ताकि आपको न्यूट्रिएंट्स भी मिलें और पानी भी। इसके लिए तरबूज, खरबूजा, खीरा, ककड़ी, टमाटर, प्याज, अदरक, संतरा, केला और दूसरे फलों को शामिल करें।
  • गहरे (डार्क) रंग के कपड़े न पहनें। इसके बजाय हल्के (लाइट) रंग के कपड़े पहनें। कोशिश करें कि सिंथेटिक कपड़ों के बजाय कॉटन के कपड़े पहनें।
  • दोपहर के समय घर से बाहर निकलने से बचें और घर पर भी शरीर को ठंडा रखने के लिए पंखा, कूलर या एसी आदि को चलाकर ही बैठें।
  • अगर घर से बाहर निकल ही रहे हैं, तो सिर पर टोपी या छाता रखें। कान ढक कर रखें और साथ में पानी की बोतल जरूर रखें।
  • अपना ब्लड प्रेशर चेक करते रहें और किसी भी प्रकार की असुविधा या समस्या होने पर तुरंत बिना देरी किए डॉक्टर से संपर्क करें।
  • बहुत ठंडी चीजें जैसे- आइसक्रीम, बर्फ, चिल्ड पानी या शर्बत आदि लेने से बचें। यानी ठंडी चीजें खा-पी सकते हैं, लेकिन बहुत अधिक ठंडी चीजें नहीं।

Read More Articles on Heart Health in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK