• shareIcon

गुर्दे में ही नहीं बल्कि मुंह और नाक में भी होती है पथरी, जानें ऐसे 6 अंग जिनमें होती है पथरी

Updated at: Aug 12, 2019
अन्य़ बीमारियां
Written by: जितेंद्र गुप्ताPublished at: Aug 12, 2019
गुर्दे में ही नहीं बल्कि मुंह और नाक में भी होती है पथरी, जानें ऐसे 6 अंग जिनमें होती है पथरी

पथरी यानी कि किडनी व शरीर के अलग-अलग हिस्सों में स्टोन बनने की समस्या है। पथरी की समस्या किसी-किसी मामले में इतनी बड़ी हो जाती है कि मरीज को सर्जरी तक करावाने की जरूरत पड़ सकती है। 

पथरी यानी कि किडनी व शरीर के अलग-अलग हिस्सों में स्टोन बनने की समस्या है। पथरी की समस्या किसी-किसी मामले में इतनी बड़ी हो जाती है कि मरीज को सर्जरी तक करावाने की जरूरत पड़ सकती है। अक्सर लोग मानते हैं कि पथरी हमारे गुर्दे यानी की किडनी में होती है जबकि ऐसा नहीं है। पथरी हमारे शरीर के विभिन्न हिस्सों में हो सकती हैं। अगर आप इस बात को सुनकर हैरान हैं तो चौंकिए मत क्योंकि ऐसा सच है। दरअसल पथरी हमारे शरीर के कई अंगों में बनती है। हम आपको बताने जा रहे हैं कि हमारे शरीर के कौन-कौन से अंगों में पथरी बन सकती है।

गुर्दे (Kidneys)

ये कठोर तत्व तब बढ़ते हैं, जब मिनरल्स, आमतौर पर कैल्शियम आपके मूत्र मार्ग में बनने लगते हैं। ये वास्तव में उस वक्त असहनीय दर्द पैदा करते हैं जब ये पर्याप्त रूप से उस आकार के हो जाते हैं  कि आपके पेशाब में बाधा पैदा करने लगे। यह विशेष रूप से आपके कूल्हों और पसलियों के पास आपकी पीठ में दर्द पैदा करते हैं। आप अपने पेशाब में रक्त या पत्थर का एक टुकड़ा भी देख सकते हैं। छोटी पथरी कभी-कभी अपने आप पेशाब के बाहर निकल आती है। लेकिन बड़े पथरी से छुटकारा पाने के लिए आपको सर्जरी की आवश्यकता हो सकती है।

गला (Throat)

आपके टॉन्सिल आपके गले के पीछे टिश्यू के दो लंप्स होते हैं, जो कीटाणुओं को बाहर निकालने में मदद करते हैं। खाना, मृत त्वचा, या अन्य प्रकार का अपशिष्ट उस जगह इकठ्ठा हो जाते हैं और पथरी का रूप ले लेते हैं, जिसे 'टॉन्सिलोलाइट्स' कहा जाता है। इसके कारण आपके गले में खराश, सांस  में बदबू और सफेद धब्बों के साथ सूजन हो सकती है। आप आमतौर पर इस प्रकार की पथरी को अपने टूथब्रश या रुई के जरिए निकाल सकते हैं। अगर फिर भी वह नहीं निकलती है तो अपने डॉक्टर से बात करें।

इसे भी पढ़ेंः शुगर की लत से छुटकारा दिलाने में फायदेमंद हैं ये 5 स्नैक, कई रोगों से बचने में मिलेगी मदद

मूत्राशय  (Bladder)

मूत्राशय में पथरी का कारण पेशाब सही तरह से न होना है। या फिर इसके पीछे एक कारण ये भी हो सकता है कि आपके पेशाब में कुछ मिनरल्स बहुत अधिक है जबिक दूसरे बहुत कम। इस प्रकार की पथरी अपने आप बन जाती हैं या फिर गुर्दे की एक छोटे सी पथरी गिरकर आपके मूत्राशय में जाकर बड़ी हो जाती है। जब आप पेशाब करते हैं तो आपको पेशाब में झाग या फिर खून आ सकता है। इतना ही नहीं आपके पेट के निचले हिस्से में दर्द भी हो सकता है। आपका डॉक्टर इसे सर्जरी या दवाओं के जरिए निकाल सकता है, या फिर इसे ध्वनि तरंगों और लेजर के जरिए तोड़ सकता है।

पित्ताशय  (Gallbladder)

आपके दाएं ओर पेट के ऊपर स्थित यह छोटा अंग पित्त नामक एक पाचक रस संग्रहित करता है। कोलेस्ट्रॉल और पित्त में मौजूद बिलीरूबिन नाम का एक कंपाउंड पित्त पथरी को जन्म दे सकता है। वे आमतौर पर दर्द का कारण या उपचार की आवश्यकता के लिए बहुत छोटे होते हैं। अगर आपको पथरी में दर्द हो रहा है तो पित्ताशय की थैली को बाहर निकालने के लिए आपको सर्जरी की आवश्यकता हो सकती है।

इसे भी पढ़ेंः ये 6 नौकरियां करने वाले लोगों में कैंसर का खतरा होता है अधिक, जानें कौन सी नौकरी सबसे घातक

मुंह (Mouth)

वास्तव में इस बात का पता किसी को नहीं है लेकिन आपके मुंह के अंदर भी पथरी हो सकती है। ये दर्द और सूजन का कारण बन सकती है। जब आप भोजन करते हैं तो उससे बनने वाली लार को यह अवरुद्ध कर सकते हैं। आप अपनी जीभ के नीचे सफेद पथरी देख सकते हैं। यह आमतौर पर ज्यादा गंभीर नहीं होती है। अगर आप अधिक पानी पीएंगे तो यह उसके सहारे निकल जाएगी और फिर भी नहीं निकलती है तो अपने डॉक्टर से संपर्क करिए।

नाक (Nose)

इस प्रकार की दुर्लभ पथरी तब बनना शुरू होती है जब बटन, इरेज़र, बीज, लकड़ी, या कुछ इसी तरह का एक छोटा सा टुकड़ा आपकी नाक में फंस जाता है। ऐसा अक्सर बचपन में होता है। वर्षों से इसमें कैल्शियम, मैग्नीशियम और आयरन जैसे खनिज आकर्षित होते हैं और इसका आकार बड़ा होता चला जाता है। आखिरकार, अंत में आपको दर्द होना शुरू हो जाएगा और आपकी नाक का एक हिस्सा बंद भी हो सकता है। आपका डॉक्टर इसे एक विशेष उपकरण से बाहर निकाल सकता है या फिर आपको सर्जरी की जरूरत पड़ सकती है।

Read More Articles On Miscellaneous in Hindi

 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK