Stream Bath: स्टीम बाथ से शरीर को मिलते हैं ये 7 फायदे, लेकिन गलत तरीके से नहाने पर हो सकते हैं ये 6 नुकसान

Updated at: Mar 05, 2021
Stream Bath: स्टीम बाथ से शरीर को मिलते हैं ये 7 फायदे, लेकिन गलत तरीके से नहाने पर हो सकते हैं ये 6 नुकसान

स्टीम बाथ हमारे शरीर के लिए फायदेमंद होता है। लेकिन इसे लेने से पहले हमें कुछ सावधानियां बरतने की जरूरत होती है। आइए जानते हैं विस्तार से

 

Kishori Mishra
घरेलू नुस्‍खWritten by: Kishori MishraPublished at: Mar 05, 2021

खूबसूरती को बढ़ाने और स्ट्रेस को कम करने के लिए कई लोग स्टीम बाथ लेते हैं। स्टीम बाथ आप कभी भी ले सकते हैं। यह ना सिर्फ आपकी स्किन को अंदर से साथ करता बै, बल्कि स्टीम बाथ लेने से आपके शरीर की थकान दूर होती है। इससे आपका तनाव कम होता है। साथ ही सौंदर्यता में निखार आती है। कई लोग अपने शरीर का वजन कम करने के लिए स्टीम बाथ लेते हैं। आधुनिक समय में स्टीम बाथ की काफी ज्यादा चर्चा हो रही है, लेकिन आपको बता दें कि स्टीम बाथ प्राचीन रोमन सभ्यता से जुड़ा हुआ है। इसकी शुरुआत प्राचीन रोमन वासियों द्वारा कई बीमारियों को ठीक करने के लिए किया गया जाता है। स्टीम बाथ के कई फायदे हैं। समय के साथ-साथ स्टीम बाथ की टेक्नीक में काफी ज्यादा सुधार हुए हैं। स्टीम बाथ के एक ओर जहां अनेकों फायदे हैं, वहीं अगर आप स्टीम बाथ लेते समय लापरवाही बरतेंगे, तो इससे आपको नुकसान भी हो सकता है। अगर आपको स्टीम बाथ के बारे में नहीं पता है, तो आपको बता दें कि यह एक स्टीम यानी वाष्प रूम है, जिसमें पूरे कमरे को भाप से भर दिया जाता है। जगह के अनुसार इसका तापमान भी अलग-अलग रखा जाता है। लेकिन आमतौर पर स्टीम बाथ का तापमान 110°F ही रखा जाता है। स्टीम बाथ अधिकतर जिम या फिर स्पा जाने वाले लोग लेते हैं। इसके कई फायदे हैं। ब्लड सर्कुलेशन को सुधारने से लेकर जोड़ों की मांसपेशियों के तनाव को दूर करने के लिए स्टीम बाथ लिया जाता है। आइए जानते हैं इसके बारे में (Steam Bath Health benefits and Side effects) विस्तार से-

स्टीम रूम के नियमा  (Rules Of Steam Room)

Rule No. 1 - कभी भी ज्वेलरी पहनकर स्टीम बाथ ना लें।

Rule No. 2 - स्टीम बाथ लेने से पहले खाना कम खाएं।

Rule No 3 - हमेशा अपने साथ तौलिया ले जाएं।

Rule No 4 - स्टीम बाथ लेने  के बाद जरूर नहाएं।

Rule No 5 - अधिक पानी पिएं।

Rule No 6 - कभी भी खूशबूदार तेल या फिर परफ्यूम लगाकर स्टीम बाथ ना लें।

Rule No 7 - अधिक देर तक स्टीम बाथ ना लें।

Rule No 8 - स्टीम बाथ लेने के बाद शरीर का तापमान सामान्य होने दें।

Rule No 9 - अधिक कपड़ें ना पहलें।

Rule No 10 - अगर आप बीमार हैं, तो डॉक्टर की सलाह पर ही स्टीम बाथ लें।

इसे भी पढ़ें - कुलथी की दाल है किडनी की पथरी के रोगियों के लिए वरदान, जानें इसके फायदे और सेवन का सही तरीका

स्टीम बाथ के फायदे (Benefits of Steam Bath)

वजन करे कम

स्टीम बाथ लेने से हमारे शरीर का वजन कम होता है, यह बात सुनने में थोड़ी अटपटी लगे। लेकिन यह सच है। कई लोग स्टीम बाथ वजन कम करने के लिए ही लेते हैं। स्टीम बाथ लेने से आपके शरीर में मौजूद एक्स्ट्रा चर्बी को कम करता है। करीब 30 मिनट तक स्टीम बाथ लेने से आपके शरीर की लगभग 600 कैलोरी बर्न होती है। अपने शरीर की अतिरिक्त चर्बी को कम करने के लिए आप स्टीम बाथ ले सकते हैं।

ब्लड सर्कुलेशन को करे बेहतर

ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर करने में स्टीम बाथ काफी फायदेमंद होता है। दरअसल, जब आप स्टीम बाथ लेते हैं, तो इससे शरीर के ब्लड सेल्स फैलने लगते हैं, जिससे ब्लड प्रेशर और हमारा पल्स रेट कम होता है। पल्स रेट कम होने से ब्लड सर्कुलेशन में सुधार होता है। 

इम्यून पावर करे बूस्ट

स्टीम बाथ लेने से इम्यूनिटी बूस्ट होती है। दरअसल, गर्म स्टीम शरीर पर पड़ने से शरीर में ल्यूकोसाइट शरीर को स्टीमूलेट करता है। ल्यूकोसाइट हमारे शरीर की वजह कोशिका है, जो संक्रमण से लड़ने में मददगार साबित होता है। लेकिन आपको बता दें कि सिर्फ 1 दिन में स्टीम बाथ से इम्यूनिटी बूस्ट नहीं होता है। इम्यूनिटी बूस्ट करने के लिए आपको स्टीम बाथ बीच-बीच में लेने की जरूरत पड़ती है।

इसे भी पढ़ें - आयुर्वेदाचार्य की बताई इन जड़ी-बूटियों से जड़ से खत्म होगी किडनी स्टोन की समस्या, जानिए किस तरह करें इस्तेमाल

स्ट्रेस को कम करे स्टीम बाथ

अगर आप अपने कामकाज को लेकर काफी स्ट्रेस महसूस कर रहे हैं, तो आपके लिए स्टीम बाथ बहुत ही असरकारी साबित हो सकता है। स्टीम बाथ लेने से स्ट्रेस चुटकियों में दूर होता है। इससे आपका शरीर काफी रिलैक्स महसूबस करता है। साथ ही यह शरीर में मौजूद ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को दूर करने में मददगार साबित होता है। इतना ही नहीं स्टीम बाथ लेने से चिंता और अवसाद विकृति भी कम होती है। जिससे आपको अच्छी नींद आती है।

ब्लड प्रेशर को करे कम

आप अपने ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए स्टीम बाथ का सहारा ले सकते हैं। स्टीम बाथ के दौरान आपके शरीर का तापमान बढ़ता है, जिससे ब्लड सेल्स फैलने लगते हैं। ब्लड सेल्स फैलने से ब्लड प्रेशर कम होने लगता है। 

जोड़ों में अकड़न की समस्या को करे दूर

अगर आपको किसी कारणवश मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द या अकड़न की शिकायत है, तो स्टीम बाथ लेना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। स्टीम बाथ लेने से आपकी मांसपेशियां रिलैक्स फील करती हैं। साथ ही इससे मांसपेशियों में होने वाले दर्द और अकड़न से राहत पाया जा सकता है।

त्वचा के लिए फायदेमंद है स्टीम बाथ

स्टीम बाथ लेने से आपकी सौंदर्यता बढ़ती है। जी हां, दरअसल, स्टीम बाथ लेने से आपकी स्किन के पोर्स खुलते हैं, जिससे पसीना निकलता है। इस पसीने के साथ स्किन मे मौजूद हानिकारक बैक्टीरिया भी हमारे शरीर से बाहर निकल जाते है। शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थों को दूर करने में स्टीम बाथ असरकारी होता है। 

इसे भी पढ़ें - किडनी की पथरी में क्या खाएं और किन चीजों से करें परहेज? एक्सपर्ट से जानें पथरी के लिए सही डाइट टिप्स

स्टीम बाथ के नुकसान ( Side Effects of Steam Bath )

जो लोग सावाधानी पूर्वक या फिर किसी एक्सपर्ट की निगरानी में स्टीम बाथ लेते हैं, उनके लिए यह काफी फायदेमंद होता है। लेकिन अगर आप स्टीम बाथ लेने में किसी तरह की लापरवाही बरतते हैं, तो इससे आपके शरीर को नुकसान पहुंच सकता है। आइए जानते हैं इसके कुछ हानिकारक प्रभाव -

  • कभी भी अधिक देर तक स्टीम बाथ ना लें। इससे आपकी स्किन जल सकती है, जिससे आपके शरीर पर फफोले पड़ने लगते हैं। 
  • स्टीम बाथ करने से पहले एल्कोहल का सेवन ना करें। एल्कोहल का सेवन करने के बाद स्टीम बाथ लेने से आपके शरीर का ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है, जो आपके लिए नुकसानदेय है।
  • दिल के रोगियो के लिए स्टीम बाथ लेना नुकसानदेय होता है। इससे आपके हृदय की गतिविधि बढ़ सकती है। जिससे गंभीर स्थिति पैदा हो सकती है। 
  • गर्भवती महिलाओं को स्टीम बाथ लेने के दौरान खास सावधानियां बरतने की आवश्यकता होती है। क्योंकि इससे उनके शिशु को नुकसान पहुंच सकता है। 
  • स्टीम बाथ लेने के दौरान अपने शरीर के नाजुक हिस्से को ढककर रखें, क्योंकि इससे आपका नाजुक हिस्सा जल सकता है। 
  • स्टीम बाथ के दौरान साबुन या फिर दूसरों के तौलिए का इस्तेमाल ना करें। इससे संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ता है। 
 
Read More Articles on Home Remedies in Hindi

 

 

 

 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK