• shareIcon

ट्रेडमिल पर पसीना बहाने से बेहतर है सीढ़ियां चढ़ना, जानें इसके कुछ खास स्वास्थ्य लाभ

एक्सरसाइज और फिटनेस By पल्‍लवी कुमारी , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jul 11, 2017
ट्रेडमिल पर पसीना बहाने से बेहतर है सीढ़ियां चढ़ना, जानें इसके कुछ खास स्वास्थ्य लाभ

आपको बता दें कि अगर आपके घर के आस-पास वॉक करने की जगह नहीं हैं, तो रोजाना सीढ़ियां को चढ़ने से आप किसी व्यायाम को करने जितना ही ताजगी महसूस कर सकते हैं। इसके अलावा कुछ शोध कहते हैं कि यह 50 मिलीग्राम कैफीन या सोडा की एक कैन के बराबर ऊर्जा देता है।

अधिकांश लोगों के लिए, व्यायाम का मतलब जिम में डम्बल उठाना या ट्रेडमिल पर दौड़कर पसीना बहाना है। लेकिन असल में वर्कआउट का मतलब सिर्फ जिमिंग नहीं है। यदि आप फिट और स्वस्थ रहना चाहते हैं, तो विभिन्न प्रकार के व्यायाम कर सकते हैं और जिसमें में से एक सीढ़ियों की चढ़ाई भी है। अपने स्टेमिना को बढ़ाने और मांसपेशियों को बहतर बनाने में सीढ़ियां चढ़ने का आइडिया काफी आसान औप फायदेमंद हो सकता है। दरअसल सीढ़ियों को चढ़ने के काफी फायदें हैं। भले ही आपको साढ़ियां चढ़ना भारी लगता हो और आप इसे करना नहीं चाहते, पर सीढ़ियां चढ़ना आपके लिए एक काफी प्रभावी व्यायाम हो सकता है। यहां तक कि अगर किसी को वजन कम करना है, तो वह बस सीढ़ियां चढ़कर ही अच्छा खासा कैलोरी बर्न कर सकता है। इसके अलावा यह आपकी मांसपेशियों की टोनिंग में भी मदद करता है, जिसके लिए आप घंटो जिम में पसीना बहाते हैं। साथ ही यह सरल व्यायाम, आपकी दैनिक गतिविधियों के कार्य को बेहतर बनाने में भी मदद कर सकती है। आइए हम आपको बताते हैं सीढ़ी चढ़ने के कुछ स्वास्थ्य लाभ।

Inside_benefitsofstairclimbing

सीढ़ी चढ़ने के कुछ खास फायदे-

स्टेमिना और शरीर का बैलेंस बढ़ाता है

सीढ़ियों पर चढ़ते समय, आपके पैर, टखने और पेरोनियल टेंडन में स्थिर मांसपेशियां संतुलन बनाने का प्रयास करती हैं, जिससे आपके पूरे शरीर में धीरे-धीरे संतुलन बनने लगता है। इसके अलावा, हर दिन सीढिंयों को चढ़ने से आपका स्टेमिना बेहतर हो सकता है। शुरुआत में जब आप सीढ़ियां चढ़ने का प्रयास शुरू करते हैं तो आपके शरीर में प्रारंभ में दर्द हो सकता है। आप पैरों और मांसपेशियों में ऐंठन का अनुभव कर सकते हैं, लेकिन कुछ दिनों तक इसे करने के बाद आपको इसकी आदत हो जाएगी। इस तरह इसे दैनिक रूप में करने से आप अपने शरीर में इसका फायदा देखेंगे। 

मांसपेशियों को एक्टिव करके बैलेंस करता है

चलने, टहलने या एक सपाट सतह पर दौड़ने की तुलना में सीढ़ी चढ़ने वाले व्यायाम में आपकी सारी मांसपेशियां काम करती हैं। इससे आपके सारे मसल्स एक्टिव हो सकते हैं। जब आप समतल जमीन पर दौड़ते है या ट्रेडमिल पर पसीना बहाते हैं, तो केवल आपके पैर की मांसपेशियां ही इसमें शामिल होती हैं, जबकि सीढ़ी चढ़ना आपके पूरे शरीर के मांसपेशियां का एक्सरसाइज हो जाता है। यह आपके शरीर के अतिरिक्त फैट को बर्न करके आपको दुबला-पतला कर सकता है।

इसे भी पढ़ें : जिम में खराब प्रदर्शन का कारण बन सकती हैं आपकी ये 5 गलतियां, भूलकर भी न करें इन चीजों का सेवन

ब्लड प्रेशर को संतुलित रखने में यह मदद करता है

सीढ़ियां चढ़ने से आपका शरीर का ब्लड-सर्कुलेशन बैलेंस रहता है। दरअसल सीढ़ियों को चढ़ते वक्त आपका ब्लड सर्कुलेशन तेज हो जाता है। इसके कारण आपके दोनों ब्लड वेसेल्स - आर्टरी और वेन्स एक्टिव हो जाते हैं और बेहतर काम करते हैं। इसी वजह आपका ब्लड- सर्कुलेशन अच्छा हो जाता है। ब्लड-सर्कुलेशन के अच्छे होने से आपकी त्वचा पर भी निखार आ जाता है और साथ ही बालों की जड़ों को भी मजबूती मिलती है। इसलिए जरूरी है कि आप लिफ्ट से जाने की जगह सीढ़ियों का रास्ता चुनें।

तेज ब्रेन 

जब शरीर में रक्त का संचार अच्छे से होता है तो माइंड अच्छे से काम करता है। इसके अलावा सीढ़ियां चढ़ने से आपका मूड भी अच्छा रहता है। ऐसा इसलिए क्योंकि मूड को ठीक करने वाला होर्मोन एडर्निल शरीर के द्वारा अच्छे से रिलीज होता है, जिससे आप हमेशा खुश, तनाव और चिंता से मुक्त रहते हैं।

इसे भी पढ़ें : एक्‍सरसाइज से मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य में होते हैं ये 5 सुधार, जानें क्‍या हैं ये

सही तरीके से सीढ़ियों पर कैसे चढ़ें-

सीढ़ियों को चढ़कर एक बेहतर मानसिक और शारीरिक स्वास्थय लाभ के लिए जरूरी है कि आप सीढ़ियों जैसे-तैसे नहीं बल्कि एक सही तरीके से चढ़ें। ऐसे में जरूरी है कि जब आप सीढ़ियां चढ़ रहे हों तो कुछ बातों का ध्यान रखें। जैसे- 

  • -अपका आसन सही हो इस बात को सुनिश्चित करें। अपनी पीठ को सीधा रखें और कूबड़ न निकाल कर न चढ़ें।
  • -धीरे-धीरे शुरू करें और फिर तीव्रता बढ़ाएं।
  • -इसे वर्कआउट रूप में करते समय सही जूते पहनना बहुत जरूरी है। गलत जूते को पहनने से सीढ़ियां चढ़ते वक्त आप गिर सकते हैं और आपको चोट भी आ सकती है।

सावधानियां-

यदि आप पहले से ही कमजोर हैं या सीढ़ियों को चढ़ते वक्त आपको चक्कर आ रहा है, तो इसे करना बंद कर दें। इसके अलावा, यदि आप गठिया या जोड़ों की समस्या जैसी किसी भी तरह की हड्डियों की गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं, तो सीढ़ी बिलकुल न चढ़ें।

Read more articles on Exercise-Fitness in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK