खांसते ही निकलता है पेशाब तो हो सकता है ये जानलेवा रोग!

Jan 11, 2018

Quick Bites:
  • बार-बार पेशाब आना शारीरिक बीमारी का है संकेत।
  • अक्सर ऐसा गर्भावस्‍था और शिशु के जन्‍म के कारण होता है।
  • इस समस्या को ओवरफ्लो असंयमित भी कहते है।

कई लोग ऐसे होते हैं जिनका हल्का सा खांसते ही पेशाब निकल जाता है। अगर आप यह सोच रहे हैं कि बढ़ती उम्र के साथ ये चीज होती है तो ये आपकी सिर्फ गलतफहमी है। क्योकि ये समस्या किसी भी उम्र में लोगों को हो सकती है। जब व्यक्ति का अपने पेशाब पर नियंत्रण नहीं रहता है तो इस समस्या को मामूली नहीं समझना चाहिए। क्योंकि ये समस्या किसी बड़ी बीमारी का संकेत भी हो सकती है।

अगर आंकड़ों पर गौर करें तो पुरुषों की तुलना में महिलाओं के साथ ये दिक्कत ज्यादा होती है। अक्सर ऐसा गर्भावस्‍था और शिशु के जन्‍म के कारण होता है। इसके अलावा सर्जरी या डिलीवरी, बढ़े हुए प्रोस्टेट, रजोनिवृत्ति, ओवर-एक्टिव ब्‍लैडर, मूत्राशय की पथरी, यूरीन मार्ग में इंफेक्‍शन और कब्‍ज के कारण भी यह दिक्कत पैदा होती है। आज हम आपको इस समस्या के चलते होने वाली बीमारियों के बारे में बता रहे हैं।

मूत्राशय की कमजोर मांसपेशियां

जब आपका मन बार-बार पेशाब जाने का करता है तो इसे ओवरफ्लो असंयमित कहते है। इस परिस्थिति में मूत्राशय पूरा भरने के बाद व्यक्ति को मूत्र लीक होने की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। यह परिस्थिति महिलाओं में पुरुषों की अपेक्षा अधिक देखी जाती है। इसके मुख्य कारण मूत्राशय की कमजोर मांसपेशियां, ट्यूमर जैसी चिकित्सीय परिस्थितियां है, जिसके कारण मूत्र पूरी तरह प्रवाहित नहीं हो पाता। मूत्रमार्ग में रुकावट और कब्ज आदि के कारण भी यह समस्या हो सकती है।

डायबिटीज भी हो सकता है कारण

कई बार ऐसा होता है कि एकदम से जोर से यूरिन का प्रेशर बन जाने के कारण हम यूरीन कंट्रोल नहीं कर पाते और कुछ बूंदे लीक हो जाती है। यह समस्‍या डायबिटीज के कारण होती है। तो अगली बार आपको भी इनमें से कोई संकेत दिखें तो तुरंत अपने डॉक्‍टर से संपर्क करें, क्‍योंकि हो सकता है कि आप भी मूत्र असंयम से ग्रस्‍त हो। 

कहीं डिप्रेशन तो नहीं?

पेट की निचली मांसपेशियों पर अत्‍यधिक दबाव बनने के कारण अपने मूत्र पर नियंत्रण नहीं रहता और पेशाब निकल जाता है। ऐसा व्यायाम, छीकने, हंसने अथवा खांसने के दौरान हो सकता है। तनाव असंयम आमतौर पर तब होता है जब किसी व्यक्ति के पेल्विक टिश्‍यु और मसल्‍स कमजोर होते हैं। ऐसा गर्भावस्था और शिशु के जन्‍म के दौरान श्रोणि क्षेत्र की मांसपेशियों पर अधिक दबाव पड़ने के कारण भी होता है। कुछ अन्य कारण जैसे अधिक वजन, कुछ दवायें और प्रोस्टेट सर्जरी भी इसमें शामिल हैं।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Women Health In Hindi

Loading...