• shareIcon

चमकती त्‍वचा पाने के लिए जानें स्किन टाइप के अनुसार सीरम का सही इस्‍तेमाल और फायदे

त्‍वचा की देखभाल By शीतल बिष्ट , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Aug 20, 2019
चमकती त्‍वचा पाने के लिए जानें स्किन टाइप के अनुसार सीरम का सही इस्‍तेमाल और फायदे

त्वचा को स्वस्थ और चमकदार बनाए रखने के लिए स्किनकेयर रूटीन के साथ अपनी त्‍वचा की उचित देखभाल करना बेहद जरूरी है। नियमित रूप से चेहरे पर मॉइस्चराइजर या लोशन की तुलना में, एक सीरम कहीं बेहतर है।

त्वचा को स्वस्थ और चमकदार बनाए रखने के लिए स्किनकेयर रूटीन के साथ अपनी त्‍वचा की उचित देखभाल करना बेहद जरूरी है। त्‍वचा के लिए क्लीन्ज़र, टोनर और मॉइस्चराइज़र आमतौर पर सुना जाता है, लेकिन एक सीरम का उपयोग कम ही लोग करते होंगे। हालाँकि यह अब लोकप्रिय हो रहा है, फिर भी लोग इसकी तुलना मॉइस्चराइज़र से करते हैं। एक सीरम आपकी पूरी स्किनकेयर रूटीन का स्तंभ है। यानि नियमित रूप से चेहरे पर मॉइस्चराइजर या लोशन की तुलना में, एक सीरम कहीं बेहतर है। सीरम में विटामिन, खनिज, एंटीऑक्सिडेंट और मॉइस्चराइजिंग एजेंट जैसे सक्रिय तत्व होते हैं, जो त्वचा को कोमल, मुलायम व जवां बनाए रखने में मदद करते हैं। 

सीरम के बारे में कुछ जरूरी तथ्‍य

  • आमतौर पर, सीरम पतला ही होता है, जो आपकी त्‍वचा पर लगते ही त्वचा में अवशोषित हो जाता है। जबकि कुछ सीरम जैल की तरह महसूस होते हैं। 
  • सीरम त्वचा को सक्रिय अवयव प्रदान करता है। 
  • सीरम एक वसा आधारित उत्पाद है।
  • सीरम में सारी सामग्री को अच्‍छे से ब्‍लेंड किया जाता है, जिससे मिश्रण त्वचा द्वारा जल्दी और आसानी से अवशोषित हो जाता है



कौन सा सीरम आपकी त्‍वचा के लिए सही है? 

आपको बता दें कि हर स्किन टाइप की अलग-अलग जरूरतें होती हैं। ठीक इसी प्रकार आपको पहले अपनी स्किन टाइप जानकर ही किसी भी स्किनकेयर उत्पाद को खरीदना चाहिए। सीरम में पेप्टाइड्स, अमीनो एसिड, रेटिनोइड्स, एंटीऑक्सिडेंट्स, अल्फा-लिपोइक एसिड और अल्फा हाइड्रॉक्सिक एसिड की उच्च मात्रा होती है। इन सभी के अलग-अलग गुण हैं। सीरम के लिए खरीदारी करते समय, आपको इसकी सही प्रकार जांच करना जरूरी है।

इसे भी पढें: कद्दू के छिलके से बने फेसपैक से पाएं बेदाग-खूबसूरत चेहरा, हर समस्या से मिलेगी निजात

सीरम खरीदते समय निम्नलिखित सामग्रियों की जाँच करें: 

मुँहासे वाली त्‍वचा के लिए (Acne prone Skin) 

  • विटामिन सी- मुँहासे वाली त्वचा में कोलेजन उत्पादन को बढ़ाता है, सूजन को कम करता है और त्वचा की मरम्मत प्रक्रिया में सुधार करता है। 
  • सैलिसिलिक एसिड- त्वचा के रोम छिद्रों को बंद करने में मदद करता है। 
  • रेटिनॉल- यह एक एंटीऑक्सिडेंट जो सूजन को कम करता है। 
  • जस्ता- यह सीबम उत्पादन को नियंत्रित करता है और जलन को दूर करता है। 

 

रूखी त्वचा (Dry Skin)

  • विटामिन ई- यह एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर है और स्किन सेल्‍स को ऑक्सीडेटिव क्षति से बचाता है। 
  • हाईऐल्युरोनिक एसिड- यह नमी बनाए रखने में मदद करता है। 
  • नियासिनमाइड- यह सेरामाइड के स्तर में वृद्धि और त्वचा की लोच में सुधार करता है। 
  • ग्लाइकोलिक एसिड- इसकी मदद से मलिनकिरण का इलाज में मदद मिलती है। 

सुस्त त्वचा (Dull Skin)

एंटीऑक्सिडेंट जैसे कि फेरुलिक एसिड और हरी चाय के अर्क के लिए देखें, जो फ्री रेडिकल्‍स से लड़ने में मददगार हैं। इसके अलावा यह स्किन सेल्‍स को हुए नुकसान की मरम्मत करने में और हानिकारक यूवी किरणों से त्वचा की रक्षा करते हैं। 

इसे भी पढें: सब्जियों के रस से बनाएं ये स्पेशल आइसक्यूब, दाग-धब्बे, मुंहासे और अंडरआर्म्स के कालेपन को करेगा दूर

सीरम कैसे लगाएं?

  • सबसे पहले आप अपने चेहरे को साफ कर लें। 
  • इसके बाद आप चेहरे पर कुछ भी लगाने से पहले सीरम लगा लें। क्‍योंकि मॉइस्चराइज़र, सनस्क्रीन, या फाउंडेशन सीरम में सक्रिय अवयवों के प्रवेश को रोक सकता है। 
  • संवेदनशील त्वचा वाले लोगों को तब तक इंतजार करना चाहिए जब तक उनका चेहरा सूख न जाए और फिर सीरम लगा लें। ऐसा इसलिए है क्योंकि नम त्वचा आसानी से सीरम के सक्रिय तत्वों को अवशोषित कर लेती है जिससे त्वचा में जलन हो सकती है।
  • सीरम लगाने के बाद, त्वचा को आवश्यक पोषक तत्व देने के लिए एक अच्छी मॉइस्चराइजिंग क्रीम लगा लें। 

नोट: सीरम को हमेशा कम मात्रा में उपयोग करना चाहिए। उनमें मौजूद अवयवों की उच्च मात्रा आपकी त्वचा को नुकसान पहुंचा सकती है और दुष्प्रभाव पैदा कर सकती है। 

Read More Article On Skin Care In Hindi 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK