• shareIcon

साइनस में हो सिरदर्द तो कैसे पायें छुटकारा

Updated at: Dec 23, 2014
संक्रामक बीमारियां
Written by: Nachiketa SharmaPublished at: Dec 23, 2014
साइनस में हो सिरदर्द तो कैसे पायें छुटकारा

ठंड के मौसम में साइनस की समस्‍या बढ़ जाती है, साइनस के कारण सिरदर्द की समस्‍या आम है, इसके कारण सिर में असहनीय दर्द हो सकता है, इसलिए इससे बचाव के तरीके जरूर आजमायें।

मौसम में बदलाव के साथ सिरदर्द होना सामान्‍य है। लेकिन अगर सिरदर्द आपके सिर के एक ही हिस्‍से में है और तापमान में हल्‍के से बदलाव के बाद यह और बदतर होता जाता है तो यह साइनस में होने वाला सिरदर्द है। मौसम में बदलाव के साथ आगे झुकने और लेटने से भी साइनस से होने वाला सिरदर्द बढ़ जाता है। जब नाक व साइनस का संक्रमण होता है तो इसका लक्षण आंखों पर और माथे पर महसूस होता है। कई बार तो नाक बंद, थकान, सर्दी के साथ बुखार, चेहरे पर सूजन व नाक से पीला या हरे रंग का रेशा भी निकलता है। इसके उपचार के लिए आपने कई तरीके आजमायें होंगे लेकिन इस लेख में कुछ सामान्‍य तरीके हैं जो साइनस में होने वाले सिरदर्द से राहत देंगे।
Sinus Headache in Hindi

गरम हवा में सांस लें

साइनस के रास्‍ते ठंडी और नमयुक्‍त वायु में सांस लेने के कारण सूख जाते हैं, जिसके कारण साइनस के मरीजों को सांस लेने में दिक्‍कत होती है। ऐसे में इस रास्‍ते को नम रखने के लिए गरम हवा में सांस लीजिए। ऐसे में अपने कमरे में हवा को गरम रखने वाले उपकरण का प्रयोग कीजिए। गरम पानी के भाप में 10-20 मिनट तक सांस लीजिए। इसके अलावा गरम पानी के शॉवर में थोड़ा वक्‍त बितायें।


आराम कीजिए

जब भी आपको साइनस के कारण सिरदर्द सताये थोड़ी देर आराम कीजिए। क्‍योंकि आप इसे जितना अनुभव करेंगे उतना ही तनाव होगा और सिरदर्द बढ़ता जायेगा। ऐसे में थोड़ी देर मन को शांत करके आराम कीजिए। ऐसे कमरे में आराम कीजिए जहां अधिक रोशनी न हो, अधिक शोर न हो रहा हो। इससे सिरदर्द कम होगा।


तरल पदार्थ का सेवन

सानइस होने पर अधिक से अधिक तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए, क्‍योंकि आप जितना अधिक तरल पदार्थों का सेवन करेंगे उतना ही आपका बलगम पतला होगा। पतले बगलम आसानी से नाक के जरिये बाहर निकल जाते हैं। इसके लिए कम से 8-10 गिलास पानी पियें, अन्‍य तरल पदार्थों जैसे - फ्रूट जूस, नींबू पानी, आदि का सेवन फायदेमंद है।


दर्द बढ़ाने वाली गतिविधि न करें

साइनस के कारण होने वाले सिरदर्द के दौरान ऐसी गतिविधियों को करने से बचें जिसके कारण सिरदर्द बढ़ता जाये। ऐसी जगह न जायें जहा प्रदूषण हो, ऐसे कमरे में न प्रवेश करें जहां धुआं हो, धूम्रपान करने वाले व्‍यक्ति के पास न जायें। इसके अलावा ऐसी जगहों पर न जायें जहां ऑक्‍सीजन कम हो, पहाड़ों, हवाई जहाज,  आदि जगह पर न जायें। ऐसी जगहों पर भी न जायें जहां के वातावरण में अचानक से परिवर्तन हो।


सब्जियों का जूस पियें

साइनस के प्रभाव को कम करने के लिए ऐसी सब्जियों का प्रयोग कीजिए जो इसपर प्रभावी हों। अगर आप 300 एमएल गाजर का रस, 100 एमएल चुकंदर का रस, 200 एमएल पालक का रस और 100 एमएल ककड़ी का रस पियें तो साइनस का प्रभाव कम होगा और सिरदर्द भी कम हो जायेगा।
Headache in Hindi

एंटीबॉयटिक दवायें

अगर साइनस के कारण असहनीय सिरदर्द होने लगे तो इसपर काबू पाने के लिए एंटीबॉयटिक दवाओं का सेवन कर सकते हैं। लेकिन दवाओं का सेवन करने से पहले एक बार चिकित्‍सक से सलाह जरूर करें। क्‍योंकि इन एंटीबॉयटिक दवाओं का नकारात्‍मक असर पड़ता है।

साइनस के उपचार के लिए घरेलू नुस्‍खे भी आजमा सकते हैं, अगर ये उपाय सानइस के सिरदर्द पर काबू न पा सकें तो चिकित्‍सक से सलाह जरूर लीजिए, क्‍योंकि लंबे समय तक होने वाला सिरदर्द माइग्रेन हो सकता है।

 

Image Source - Geatty Images

Read More Articles Infectional Disease in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK