Mask Mistake : ये गलतियां आपके मास्क को बना रहीं कोरोना वाला मास्क, इन गलतियों को जानें खुद को वायरस से बचाएं

Updated at: Jun 25, 2020
Mask Mistake : ये गलतियां आपके मास्क को बना रहीं कोरोना वाला मास्क, इन गलतियों को जानें खुद को वायरस से बचाएं

मास्क पहनने के दौरान अक्सर हम कुछ गलतियां करते हैं, जो हमें वायरस की चपेट में डाल सकती हैं। आइए जानें इन्हें।    

Jitendra Gupta
अन्य़ बीमारियांWritten by: Jitendra GuptaPublished at: Jun 25, 2020

मौजूदा वक्त में जब कोरोनावायरस ने लगभग पूरी दुनिया को अपनी चपेट में लिया हुआ है ऐसे समय में मास्क पहनना अपने आप को सुरक्षित रखने और संक्रमण के जोखिम को रोकने के कई तरीकों में से एक है। हालांकि, मास्क पहनना सबसे आरामदायक चीज नहीं है, खासकर जब बात बहुत ज्यादा देर की होती है। ज्यादा देर तक मास्क पहनने से आपको खरोंच, पसीने से तर-बतर और यहां तक कि सांस लेने में थोड़ी तकलीफ भी हो सकती है। इसके अलावा अगर आप सही तरीके से मास्क नहीं पहन रहे हैं तो आप वास्तव में मास्क को लेकर गंभीर गलतियों का शिकार हो रहे हैं, इस तरह से आप वास्तव में अपने आप के स्वास्थ्य को खतरे में डाल रहे हैं। विशेषज्ञों का यह भी कहना है कि कुछ गलतियां, विशेषकर जब आप बीमार होते हैं, तब भी आपको संभावित रूप से असुरक्षित बना सकती है। इसलिए आपको कुछ जरूरी बातें जाननी चाहिए।    

mask 

आपको इन बातों का ध्यान रखने की है जरूरत       

भले ही सरकार  द्वारा मास्क को कई जगहों पर अनिवार्य कर दिया गया है और सीडीसी ने मास्क को बचाव के सर्वोत्तम रूपों में से एक के रूप में माना है, लेकिन एक गलती जो इसके प्रभाव को कम कर सकती है और वह है आपका मास्क में बार-बार खांखना। 

ऐसा क्यों

हालांकि जब आप बीमार होते हैं या किसी ऐसे व्यक्ति के करीबी संपर्क में आते हैं, जिसमें लक्षण दिखाई दे रहे हैं तो आपके चेहरे पर लगा मास्क वायरस के फैलने के जोखिम को कम करता है,लेकिन खांसी होने पर मास्क उन सभी बूंदों को रोक नहीं सकता है जिसे आप फैलाते हैं। इसका मतलब ये है कि एक मास्क या एक सुरक्षात्मक गियर का उपयोग करके कुछ बूंदों के प्रसार को रोका जा सकता है, लेकिन फिर भी, कभी-कभी बूंदें 3 फीट की दूरी तक तय कर सकती हैं।  इसके लिए साइप्रस के निकोसिया विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों द्वारा एक शोध किया गया था, जिन्होंने कंप्यूटर मॉडल का उपयोग करके अध्ययन किया और ये पता लगाने की कोशिश कि, खांसी की बूंदे कितनी दूर तक फैल सकती है। यह देखा गया कि अच्छे मास्क के साथ भी, बूंदें एक निश्चित दूरी तक यात्रा कर सकती हैं।  

इसे भी पढ़ेंः   कोरोना वायरस के 40% मामलों को फैलाने के जिम्मेदार हो सकते हैं बिना लक्षणों वाले लोग, मास्क पहनना जरूरी: WHO

ऐसा क्यों होता है

ऐसा मुख्य रूप से हवा के दबाव की वजह से होता है जो मास्क पहनने के दौरान बनता है, जो कुछ विशेष परेशानियों के कारण बूंदों को बाहर निकाल देता है। 

maskmistakes

तो क्या मास्क अप्रभावी हैं?

अध्ययन में यह पाया गया कि छोटी बूंदें सबसे दूर की यात्रा करने में सक्षम थीं। हालांकि इसको और पुख्ता तरीके से जानने के लिए अधिक वैज्ञानिक समर्थन की आवश्यकता होती है। यह भी देखा गया कि मास्क पहनना एक निश्चित स्तर तक जोखिम में कमी लाने में सक्षम है। पीपीई किट पहनने वालों की तुलना में, मास्क नहीं पहनने वाले लोगों में वायरल का फैलाव दो गुना तक बढ़ गया। 

इसे भी पढ़ेंः मास्क पहनने से हो रही है आपको स्किन से जुड़ी ये परेशानियां? इन 4 प्राकृतिक तरीकों से पाएं छुटकारा

मास्क पहनना न छोड़ें

मास्क पहनने से लार की मात्रा प्रभावी रूप से कम हो जाती है खासकर जब कोई व्यक्ति किसी कमरे में खांसता है, इसलिए इसका मतलब यह है कि यदि बीमार लोग मास्क पहनते हैं, तो बाकी सभी को बेहतर रूप से सुरक्षा मिलेगी।

COVID-19 से बचने के लिए सबसे अच्छा फेस मास्क कौन सा है?

बाजार में कई अलग-अलग प्रकार के मास्क उपलब्ध हैं।  N95 मास्क उच्चतम स्तर की सुरक्षा प्रदान करते हैं, जबकि दोबारा प्रयोग में आने वाले कपड़े के मास्क और सर्जिकल मास्क भी अच्छी तरह से काम करते हैं। केवल एक चीज जिसे आपको सुनिश्चित करना चाहिए, वह है उनका उचित निपटान और देखभाल। ऐसे समय में यह भी महत्वपूर्ण है कि आप इसे सही तरीके से पहनें। इसपर पर्याप्त जोर नहीं दिया जाना चाहिए। यह थोड़ा असहज हो सकता है लेकिन वे एकमात्र ऐसी चीज हैं जो आपको अभी सुरक्षित रख सकती हैं। मास्क में किसी भी तरह के ढीले छोर न हों, मास्क को छूने से बचें या बात करने के लिए इसे हटाएं नहीं। वायरस से बचने के लिए कुछ गलतियां हैं। सुनिश्चित करें कि आप एक मास्क का उपयोग करते हैं जो आपके आकार के अनुरूप फिट बैठता हो। 

Read More Articles on Coronavirus in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK