• shareIcon

साइंस भी मानता है गर्ल-फ्रैंड बनाना है जरूरी, जानें लड़कियों को दोस्त बनाने के 5 फायदे

डेटिंग टिप्स By पल्‍लवी कुमारी , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Oct 03, 2019
साइंस भी मानता है गर्ल-फ्रैंड बनाना है जरूरी, जानें लड़कियों को दोस्त बनाने के 5 फायदे

हम सब की जिंदगी में एक न एक लड़की दोस्त जरूर होती हैं। उनका होना हमारे जीवन में काफी कुछ बदलाव ला सकता है। दरअसल साइंस की मानें तो लड़कियों में पाया जाने वाला हॉर्मोन ऑक्सीटोसिन सिर्फ उन्हें ही नहीं बल्कि उनके साथ रहने वाले वालों लोगों को भी खुश र

फ्रेंडशिप दुनिया की सबसे अच्छी फीलिंग है। अगर आप अकेले हैं, आपका कोई दोस्त या साथी नहीं तो आप अपने जीवन से जल्द ही उब सकते हैं। हम सब अपने दोस्तों के साथ सब कुछ बेझिझक बांट लेते हैं। चाहे खुशी हो या गम, आपका साथी आपका सबसे अच्छा सीक्रेट्स पार्टनर होता है। ऐसे में जरूरी यह है कि आपके पास दोस्त हो और अगर यह दोस्त कोई लड़की हो तो आपकी खुशी दोगुनी हो जाएगी। ऐसा इसलिए क्योंकि एक स्टडी के मताबिक लड़कियों को अपना दोस्त बनाने से आप ज्यादा खुश रह सकते हैं। दरअसल लड़कियों में ऑक्सीटोसिन नामक एक हॉर्मोन रिलीज होता है, जिससे कि वह अपने आसपास रहने वाले लोगों को हमेशा खुश रखने में कामियाब हो जाती हैं।

क्या है ऑक्सीटोसिन हॉर्मोन

ऑक्सीटोसिन हॉर्मोन को 'लव होर्मोन भी कहा जाता है। माना जाता है कि इसी हॉर्मोन के कारण हम ज्यादा संवेदनशील कहलाते हैं। इस हॉर्मोन के कारण लड़कियों में ज्यादा सहनशक्ति होती है। इसके अलावा लड़कियों में पाए जाने वाले ज्यादातर गुण इसी के प्रभाव से होते हैं। बात चाहे मातृत्व की भावना की हो या प्रेम या स्नेह की। लड़ियों में यह भावना प्राकृतिक होती है। लड़ियों में लड़ने, लंबे समय तक प्रेम करने और याद रखने की जबरदस्त भावना होती है। वहूीं इसी हॉर्मोन में गड़बड़ी के कारण वो ज्यादा चिड़चिड़ी नजर आती हैं। इस हॉर्मोन को एक जटिल न्यूरोकेमिकल प्रणाली का एक महत्वपूर्ण कारण के रूप में बताया गया है, जो शरीर को अत्यधिक भावनात्मक स्थितियों के अनुकूल होने की अनुमति देता है। ऑक्सीटोसिन पर की गई एक शोध यह बताती है कि यह हॉर्मोन का "सामाजिक व्यवहार" और "भावनात्मक प्रतिक्रियाओं'' पर प्रभाव डालते हुए विश्वास और मनोवैज्ञानिक स्थिरता प्रदान करता है। इससे अगर कोई लड़की आपकी दोस्त होगी तो आप सामाजिक व्यवहार में भी बेहतर होंगे।

लड़कियों को दोस्त बनाने के क्या हैं फायदे

अक्सर कुछ मां-बाप तब ज्यादा ही परेशान होते हैं, जब कोई लड़की उनके बटे की अच्छी दोस्त होती है। जबकि यह उनके लिए एक अच्छी बात है। यहां समझने वाली बात यह भी है कि सिर्फ लड़कों को ही लड़कियों को दोस्त नहीं बनाना चाहिए, बल्कि लड़कियों को भी अपने लिए कोई अच्छी लड़की दोस्त बनानी चाहिए। क्योंकि एक लड़की को दोस्त बनाने के बहुत से फायदे हैं।

लड़कियां भावनाओं को अच्छे से समझती हैं 

लड़कियां कैसी भी हों पर उन्हें आपकी हर भावना बिना कहे ही समझ आ जाती है। अगर वह आपको अच्छे से जानती हैं, तो आप किसी भी फीलिंग को लेकर अकेले नहीं होंगे। इस वजह से आप कभी अकेला महसूस नहीं करेंगे।

इसे भी पढ़ें: अपने पार्टनर के साथ रहने में नहीं आ रहा मजा तो अपनाएं ये 4 टिप्स, रिश्ता फिर से होगा मजबूत

प्रोटेक्टिव होती हैं लड़कियां

लड़कियों के ब्लड में लगातार ऑक्सीटोसिन का बहाव होता है, जिसके कारण यह उनके गर्भाशय और स्तनपान को प्रभावित करता है। इस वजह से माना जाता है कि वह ज्यादा प्रोटेक्टिव होती हैं। वो अपने लोगों के लिए हमेशा लड़ लेती हैं।

भावनात्मक, संज्ञानात्मक और सामाजिक व्यवहार में होती हैं कुशल 

ऑक्सीटोसिन जब यह मस्तिष्क के कुछ हिस्सों में पहुंचता है तो, यह भावनात्मक, संज्ञानात्मक और सामाजिक व्यवहार को प्रभावित कर सकता है। इस वजह से लड़ियों का इमोशनल क्वीश्चन लेवल लड़कों से ज्यादा होता है। इसी वजह से लड़को की तुलना में लड़कियों में बातचीत करने की कुशलता और लोगों के इंमोश्नस को टारगेट करने की क्षमता ज्यादा होती है।

इसे भी पढ़ें: Dating Tips: ऑफिस में अफेयर होना है खतरनाक, हो सकते हैं ये 4 नुकसान

नहीं होंगे आप अवसाद या डिप्रेशन के शिकार

मस्तिष्क ऑक्सीटोसिन चिंता सहित तनाव प्रतिक्रियाओं को कम करने के लिए काम आता है। इन प्रभावों को कई तरीकों से देखा गया है। लड़कियों को दोस्त बनाने से आप कभी अवसाद या तनाव के शिकार नहीं होंगे। उनकी खिलखिलाती हुई हंसी से आप कभी भी अकेला महसूस नहीं करेंगे। इसके आलावा उनकी कुछ मूडियल आदतें आपको खुश भी कर देंगी।

अन्य फायदे

वैज्ञानिकों ने प्रस्तावित किया है कि लड़कियों में यह होर्मोन पारस्परिक और व्यक्तिगत भलाई को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है। इसके अलावा यह कुछ न्यूरोपैसाइट्रिक विकारों को भी दूर करता है। उल्टा लड़कियों को दोस्त बनाना ऐसे लोगों के लिए मददगार साबित होता है, जो सामाजिक संपर्क से बचते हैं या जो लगातार डरते रहते हैं या दूसरों पर भरोसा करने में असमर्थता का अनुभव करते हैं।

Read more articles on Dating In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK