• shareIcon

डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद है सत्तू

लेटेस्ट By एजेंसी , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / May 30, 2013
डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद है सत्तू

गर्मी के मौसम में चने के सत्तू का सेवन मधुमेह रोगियों के लिए रामबाण है, जानिए कैसे।

diabetes rogio ke liye fayademand hai sattu

चने का सत्तू पेट की बीमारियों तथा डायबिटीज रोगियों के लिए रामबाण है, यह बात चिकित्‍सा विज्ञान की खोज द्वारा साबित हुई है।

 

सेवानिवृत्त उपचिकित्सा अधिकारी वी किशोर का कहना है कि बहुब्राण्ड शीतल पेय पीने से शरीर में वसा की मात्रा बढ़ जाती है, जिसके कारण कई बीमारियां हो सकती हैं, लेकिन चने के सत्तू का सेवन खासकर गर्मी के मौसम में पेट की बीमारियों तथा शरीर के तापमान को नियंत्रित करने में मदद करता है। खासकर यह मधुमेह रोगियों के लिए रामबाण है।


आयुर्वेद के जानकारों के अनुसार चने का सत्तू गर्मी के मौसम में तापमान को नियंत्रित करने के साथ साथ स्वास्थ्यवर्धक भी है। जानकारों का कहना है कि सत्तू के सेवन से खासकर गर्मी के मौसम में पेट की समस्याओं से निजात पाया जा सकता है। चने से बनने वाले सत्तू के गुणकारी परिणाम से आज यह आम वर्ग के साथ साथ सुविधा सम्पन्न लोगों की पहली पसन्द बनता जा रहा है।


डॉ. अनुराग राय कहते हैं कि चने के सत्तू का सेवन हर आयु वर्ग के लोग कर सकते हैं, लेकिन जोड़ों के दर्द के रोगी को इसके सेवन से बचना चाहिए। जहां एक तरफ बहुब्राण्ड शीतल पेय कम्पनियां भीषण गर्मी में अपने ग्राहकों को रिझाने तथा अपनी ब्राण्ड का प्रचार करने के लिए समाचार पत्रों, टीवी के माध्यम से प्रचार करके लोगों को आकर्षित करने का प्रयास कर रही हैं उसी के बीच अपनी गुणवत्ता तथा स्वास्थ्यवर्धक होने के कारण सत्तू बिना किसी प्रचार के पूर्वी उत्तर प्रदेश के देवरिया, गोरखपुर, बस्ती, कुशीनगर, बलिया, गाजीपुर और बनारस सहित पूरे बिहार में लोगों की खास पसन्द बन गया है।

 

बाजार में बिकने वाले शीतल पेय पदार्थ लोगों को आकर्षित तो कर सकते हैं, लेकिन गर्मी के मौसम में संतुष्ट नहीं कर सकते, जबकि चने से बना सत्तू गर्मी से निजात दिलाने के साथ साथ शरीर के लिए काफी लाभदायक है और इसी का परिणाम है कि आज सत्तू पीने वालों में सभी वर्गों के लोग आते हैं और सत्तू का सेवन करते हैं।

 

चने के सत्तू का बाजार कितना बड़ा है इसका कोई अधिकृत आंकड़ा नहीं है, लेकिन इसकी खपत से माना जा रहा है कि यह रोजाना करोड़ों रुपए में है।

 

 

Read More Articles on Health News in hindi.

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK