12 अगस्त को रजिस्टर होने जा रही दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन ! जानें रूस के अलावा कौन सा देश वैक्सीन के करीब

Updated at: Aug 10, 2020
12 अगस्त को रजिस्टर होने जा रही दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन ! जानें रूस के अलावा कौन सा देश वैक्सीन के करीब

कोरोना की वैक्सीन बनाने का दावा करने वाला रूस 12 अगस्त को वैक्सीन रजिस्टर कराने जा रहा है, जानें और कौन से देश वैक्सीन के करीब। 

 

Jitendra Gupta
अन्य़ बीमारियांWritten by: Jitendra GuptaPublished at: Aug 10, 2020

दुनिया भर में कोरोनावायरस मामलों की बेतहाशा वृद्धि के बीच इस घातक वायरस की वैक्सीन तैयार करने का दावा करने वाला देश रूस 12 अगस्त यानी की बुधवार को दुनिया की पहली COVID-19 वैक्सीन रजिस्टर्ड कराने के लिए बिल्कुल तैयार है। गेमालेया रिसर्च इंस्टीट्यूट और रूसी रक्षा मंत्रालय द्वारा संयुक्त रूप से विकसित इस वैक्सीन के तीसरे चरण का परीक्षण अभी चल रहा है और 12 अगस्त को इसे रजिस्टर्ड कराया जाएगा। इस वैक्सीन के रजिस्टर्ज होते ही दुनिया के सामने कोरोना से जंग जीतने के लिए पहली किरण दिखाई देने लगी है। हालांकि ये वैक्सीन उम्मीदों पर कितनी खरी उतरती है इसका पता बाद में ही चल पाएगा लेकिन फिलहाल उम्मीद पर दुनिया कायम है। 

vaccin

रूस के डिप्टी हेल्थ मिनिस्टर ओलेग ग्रिडनेव ने वैक्सीन को रजिस्टर्ड कराए जाने की शुक्रवार को इस खबर की पुष्टि की और कहा कि "यह परीक्षण का एक हिस्सा है और बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण है। हमें यह समझना होगा कि वैक्सीन खुद भी सुरक्षित होनी चाहिए।" उन्होंने कहा कि इस वैक्सीन को चिकित्सा पेशेवरों द्वारा लॉन्च किया जाएगा और वरिष्ठ नागरिक टीकाकरण कराने वाले पहले व्यक्ति होंगे।

पंजीकरण प्रक्रिया के बाद, वैक्सीन की सुरक्षा और प्रभावशीलता सुनिश्चित करने के लिए लगभग 1,600 लोगों पर इसका परीक्षण किया जाएगा।

कितनी कारगर रूसी वैक्सीन

रूस के स्वास्थ्य मंत्री मिखाइल मुराशको ने पिछले हफ्ते बताया था कि देश में बड़े पैमाने पर टीकाकरण अक्टूबर में शुरू किया जाएगा और सभी खर्च राज्य कोष से कवर किए जाएंगे। इस रूसी वैक्सीन का ट्रायल फिलहाल दो केंद्रों पर चल रहा है पहला बर्डेनको मेन मिलिट्री क्लीनिकल हॉस्पिटल और दूसरा सेचेनोव फर्स्ट मॉस्को मेडिकल मेडिकल यूनिवर्सिटी।

इसे भी पढ़ेंः मास्क का सही इस्तेमाल न करना पड़ सकता है भारी, WHO ने बताया कपड़े का मास्क पहनते समय क्या करें-क्या न करें

एक रिपोर्ट के अनुसार, ट्रायल में शामिल होने वाले सभी कोरोना पॉजिटिव लोगों में इस संक्रामक वायरस के खिलाफ इम्यूनिटी को विकसित होते हुए देखा गया है। गामालेया रिसर्च इंस्टीट्यूट द्वारा तैयार की गई वैक्सीन के अलावा, रूस का वेकोटर स्टेट रिसर्च सेंटर ऑफ वायरोलॉजी एंड बायोटेक्नोलॉजी भी कोरोनोवायरस के लिए संभावित वैक्सीन विकसित करने की दौड़ में शामिल है।

vaccinetrial

रूसी वैक्सीन पर क्या है डब्ल्यूएचओ का बयान

मौजूदा हालात की गंभीरता की ओर इशारा करते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने जोर देकर कहा है कि वैक्सीन बनाने वाली सभी कंपनियों को किसी भी COVID-19 वैक्सीन को लॉन्च करने से पहले ट्रायल के सभी चरणों से गुजरना होगा। डब्ल्यूएचओ के प्रवक्ता क्रिश्चियन लिंडमियर का कहना है कि इस उद्देश्य के लिए किसी भी वैक्सीन को लॉन्च करने से पहले लाइसेंस की जरूरत होगी और उसके लिए सभी वैक्सीन को विभिन्न परीक्षणों और चरणों से गुजरना होगा। 

इसे भी पढ़ेंः एम्स ने माना होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना मरीजों के पास हमेशा रहनी चाहिए ये 1 चीज, नहीं तो हो सकती है मौत

दुनियाभर में क्या है अन्य टीकों की स्थिति

मौजूदा हालात में कुल 3 संभावित कोरोनावायरस वैक्सीन के उम्मीदवार अब तक के सबसे महत्वपूर्ण ट्रायल के फेज III में पहुंच चुके हैं। इनके द्वारा 2020 से पहले प्रोटोटाइप लॉन्च किए जाने की उम्मीद है। ये 3 उम्मीदवार हैंः 

फाइजर-बायोएनटेक की तैयार की गई एमआरएनए वैक्सीन (mRNA vaccine) अब अपनी वैक्सीन के महत्वपूर्ण फेज के ट्रायल में प्रवेश कर गई है। प्री-क्लिनिकल ट्रायल में वैक्सीन के परिणाम काफी प्रभावशाली थे।

ब्रिटेन की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी भी दुनिया को एक प्रभावी और सुरक्षित COVID वैक्सीन देने की दौड़ में शामिल है। एक रिपोर्ट के अनुसार, फार्मा निर्माता एस्ट्राजेनेका के साथ साझेदारी में ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा विकसित वैक्सीन का ट्रायल अच्छा चल रहा है और शोधकर्ताओं को जैसे परिणाम प्राप्त हो रहे हैं उससे उम्मीद है कि जल्द ही दुनिया को एक और वैक्सीन मिल सकती है। 

वैक्सीन के फेज 3 ट्रायल में प्रवेश करने वाली तीसरा उम्मीदवार है नोवैक्स इंक। कंपनी ने भी जल्द ही वैक्सीन लॉन्च करने की उम्मीद जताई है। 

Read more articles on Other Diseases in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK