सिर्फ खूबसूरती ही नहीं बढ़ाता गुलाब जल, स्वास्थ्य से जुड़ी इन 5 परेशानियों को ठीक करने में भी है मददगार

Updated at: Jan 22, 2021
सिर्फ खूबसूरती ही नहीं बढ़ाता गुलाब जल, स्वास्थ्य से जुड़ी इन 5 परेशानियों को ठीक करने में भी है मददगार

गुलाब जल का डी-स्ट्रेसिंग (de-stressing) प्रभाव सिर दर्द और माइग्रेन के इलाज में भी मदद कर सकता है। तो आइए जानते हैं इनके अन्य स्वास्थ्य लाभ।

Pallavi Kumari
अन्य़ बीमारियांWritten by: Pallavi KumariPublished at: May 25, 2020

गुलाब जल के फायदे (rose water benefits) की बात करें, तो इसका ज्यादातर इस्तेमाल ब्यूटी बेनिफिट्स के लिए किया जाता है। माना जाता है कि ईरान में पहली बार इसे बनाया गया था और वहां इसका इस्तेमाल सौंदर्य और खाद्य उत्पादों दोनों में एक घटक के रूप में किया जाता रहा था। फिर पूरी दुनिया में इसके इस्तेमाल का प्रचलन फैल गया है और अब सारी दुनिया इसका इस्तेमाल कर रही है। वहीं गुलाब जल के स्वास्थ्य लाभ (rose water health benefits) की बात करें, तो ये आंखों के स्वास्थ्य के लिए गुलाब जल का इस्तेमाल (Rose Water Uses) किया जाता है। पर इसके कई और संभावित स्वास्थ्य लाभ भी हैं।

insiderosewater

दरअसल वर्षों से, गुलाब जल का उपयोग ईरान और मध्य पूर्व के अन्य भागों में विभिन्न बीमारियों के इलाज के लिए एक दवा के रूप में किया जाता है। गुलाब जल में कई, शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट गुण होते हैं, जो आपकी कोशिकाओं को मुक्त कणों से बचाते हैं और हृदय रोग, त्वचा और मस्तिष्क से जुड़ी बीमारियों को कम करने में मददगार होते हैं। तो आइए गुलाब जल के कुछ स्वास्थ्य लाभों , (rose water health benefits पर) पर एक नजर डाल लेते हैं:

एक्जिमा और रोजेशिया (eczema and rosacea) में

गुलाब जल में मजबूत एंटी-इंफ्लेमेटरी(anti-inflammatory) गुण होते हैं, जो कि एक्जिमा और रोजेशिया जैसी त्वचा से जुड़ी बीमारियों में जलन को शांत करने में मददगार हो सकता है। साथ ही इसमें मौजूद एंटीऑक्सिडेंट त्वचा की कोशिकाओं को नुकसान से बचा सकते हैं। जिन लोगों में एक्जिमा से जुड़ी परेशानी होती है, उन्हें अपने दवाइयों के साथ रोज प्रभावित क्षेत्र पर गुलाब जल को लगाना चाहिए। ये खुजली और जलन को कम कर देता है।

insideeczema

इसे भी पढ़ें : सर्दी- जुकाम से बचाएगा आपको गुलाब की पंखुड़ियों और तुलसी से बना फालूदा, जानें बनाने की विधि

गले में खराश 

गले में खराश के इलाज के लिए एंटीबायोटिक लेने के बजाय आपको एक बार गुलाब जल का इस्तेमाल करने की कोशिश करनी चाहिए। हालांकि इसकी प्रभावशीलता को साबित करने के लिए बहुत अधिक विज्ञान समर्थित सबूत नहीं हैं, लेकिन गुलाब जल का उपयोग पारंपरिक रूप से गले में खराश को शांत करने के लिए किया गया है। हालांकि, इसे आजमाने का कोई और नुकसान भी नहीं है। इसके सुखदायक और एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रभाव के अलावा, शोध बताते हैं कि यह गले में मांसपेशियों को आराम पहुंचा सकता है।

insidethroatinfection

संक्रमण के प्रारंभिक रोकथाम में

चूंकि गुलाब जल में शक्तिशाली एंटीसेप्टिक गुण होते हैं, इसलिए गुलाब जल का उपयोग अक्सर संक्रमण को ठीक करने के लिए प्राकृतिक और औषधीय उपचारों में किया जाता है। जैसे आंखों के संक्रमण यानी कि कंजंक्टिवाइटिस के इलाज में गुलाब जल मददगार होता है, उसी तरह किसी कीड़े के काटने या किसी भी तरह के संक्रमण को रोकने के लिए आपका प्रारंभिक दवा बन सकता है ।

डिमेंशिया और अल्जाइमर रोग 

डिमेंशिया  और अल्जाइमर रोग जैसी मानसिक चिकित्सा स्थितियों के उपचार में गुलाब जल फायदेमंद हो सकता है। इसमें पायाजाने वाला अमाइलॉइड (Amyloid) शरीर द्वारा बनाया गया एक विशिष्ट प्रोटीन का प्रकार है, जो मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ा हुआ है। दरअसल यह प्रोटीन मस्तिष्क के कार्य को प्रभावित करने, कोशिकाओं को मारने और स्मृति में बाधा डालता है। गुलाब जल इस अमाइलॉइड के अवरोधक के रूप में कार्य कर सकता है। साथ गुलाब जल पीने से आपके मूड को बेहतर बनाने में मदद मिल सकती है, यह एक पुरानी पारंपरिक विधि है। गुलाब जल को मजबूत एंटीडिप्रेसेंट और एंटीऑक्सीडेंट गुणों के लिए जाना जाता है। शोध में पाया गया है कि गुलाब की पंखुड़ियों का अर्क केंद्रीय तंत्रिका तंत्र (central nervous system) को आराम दे सकता है, जिसके परिणामस्वरूप अवसादरोधी और एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव होता है। यह भी माना जाता है कि नींद को प्रेरित करता। यही कारण है कि गुलाब जल का उपयोग कई मानसिक स्वास्थ्य स्थितियों का इलाज करने के लिए किया गया है, जिनमें अवसाद, दुख और तनाव आदि शामिल है।

इसे भी पढ़ें : परियों जैसी खूबसूरती चाहिए तो ऐसे प्रयोग में लाएं गुलाब का फूल

पाचन समस्याओं में सुधार

गुलाब जल को पीने से पेट फूलने और पेट खराब होने के लक्षणों को कम करने में मदद मिल सकती है। यह पित्त प्रवाह (increasing bile flow) को बढ़ाकर पाचन में सुधार करने के लिए जाना जाता है। यह मल को ढीला करने और मल त्याग को बढ़ाने के लिए एक लेक्सटेसिव (laxative) के रूप में भी काम कर सकता है। इस प्रकार, यह कब्ज के लिए एक अच्छा इलाज हो सकता है।

insidedigestive

Read more articles on Other-Diseases in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK