क्या रोबोट अब सेक्स और प्यार में भी इंसान को देंगे मात?

क्या रोबोट अब सेक्स और प्यार में भी इंसान को देंगे मात?

सेक्स, प्यार और इमोशन्स, यही चीजें तो इंसान को मशीन से अलग करती हैं। लेकिन जब ये तीनों ही चीजें रोबोट से भी मिलने लगे तो? जी हां, जल्द ही ऐसे रोबोट बनने लगेंगे जोकि करेंगे इंसान के साथ सेक्स।

सेक्स जो इंसान को एक आनंद की अलग ही दुनिया में ले जाता है तो रोबोट इंसान की जिंदगी को आरामदायक बनाता है। लेकिन जरा सोचिए अगर ये दोनों ही चीजें एक साथ इंसान को मिलने लगे तो क्या होगा?


जी हां, लव डॉल, सेक्स टॉय, कॉल गर्ल और वगैरह... वगैराह के बाद अब सेक्स रोबोट ...।


ये सब तो ठीक है। लेकिन सबसे बड़ा सवाल है कि, इंसान का काम करने वाले और इंसानों के काम को आसान बनाने वाले ये रोबोट क्या इंसान को काम वासना का वैसा ही आनंद दे पाएंगे जो इंसान एक-दूसरे से अनुभव करता है? 


लव डॉल और सेक्स टॉय महज पार्टनर के ना होने पर इंसान की कामुक इच्छा को केवल एक हद तक पूरा करने वाली चीजें हैं। केवल एक हद तक पूरा... संतुष्ट नहीं। ऐसे में सवाल उठता है कि बिना प्यार और भावना वाली मशीन या रोबोट क्या इंसान की सेक्स भावना की इच्छा को पूरा कर उसे संतुष्ट कर पाएगा। अगर ऐसा होता है तो कैसे? और अगर हां तो, क्या इंसान को अब सेक्स के लिए इंसान की जरूरत नहीं रहेगी?


अब बेडरुम में भी जगह बनाएंगे रोबोट!

तकनीक और रोबोट की सफलता व इंसानी रिश्तों की असफलता के बीच वैज्ञानिक और मनवैज्ञानिक ये अनुमान लगाने से पीछे नहीं हट रहे हैं कि आनेवाले समय में इंसान के सेक्स पार्टनर रोबोट होंगे। जितनी तेजी से रोबोट को लेकर रिसर्च हो रही है उससे जल्द ही रोबोट इंसान के बेडरूम में भी दस्तक देने वाले हैं।

इसे भी पढ़ें - क्यों आपके पार्टनर का अकेले पोर्न देखना है खतरे की घंटी?


बेस्ट पार्टनर साबित होंगे रोबोट

आपको जानकार हैरानी हो सकती है लेकिन ये आने वाले समय में सच साबित होने वाला है कि भविष्य में रोबोट इंसान के साथ सेक्शुअल संबंध बनाएंगे। आने वाले कुछ वर्षों में इंसान के साथ सेक्स करने वाले सेक्सबॉट यानी कि रोबोट बनाने की दिशा में तेजी से रिसर्च चल रही है।


यूएस के किर्कवूड कॉलेज के जोएल स्नेल ने बताया कि जिस तरह से हर क्षेत्र में मशीन इंसान से बेहतर साबित हो रही है। उससे तो यही उम्मीद दिखती है कि 2050 तक इंसान के इंसान से प्रेम के स्थान पर रोबोट से सेक्स आम हो जाएगा।

इसे भी पढ़ें - स्लीप सेक्स - आदत नहीं, एक बीमारी, जो कर देती है जिंदगी बर्बाद

 

क्या रोबोट साबित होंगे बेहतर प्रेमी

लेकिन बड़ा सवाल ये है कि क्या रोबोट भी बेहतर प्रेमी साबित होंगे? जोएल स्नेल ने बताया की, 'क्योंकि वे प्रोग्रामेबल होंगे, सेक्सबॉट प्रत्येक इंडिविजुअल यूजर्स की आवश्यकताओं को पूरा करेंगे। इसलिए रोबॉटिक सेक्स इंसान से सेक्स करने में बेहतर हो सकते हैं।'


साथ में नशा बन जाने का खतरा भी

अगर ऐसा होता है तो एक नया खतरा उभर कर आ सकता है। रोबोट के बेहतर सेक्स पार्टनर बनने की उम्मीद के साथ एक्सपर्ट्स ने इसके खतरों से भी आगाह किया है। एक्सपर्ट्स खतरों के बारे में बताते हुए कहते हैं कि ये सेक्सबॉट हमेशा उपलब्ध होंगे और कभी न नहीं कहेंगे। ऐसे में रोबेट इंसान के सेक्स नशे का रूप ले सकते हैं।


सेक्स थेरपिस्ट गुरप्रीत सिंह ने कहा कि 'हम जज करने वाले कौन होते हैं कि कौन रोबोट से सेक्स करना चाहता है? रोबोट के साथ लोगों को सेक्स का मजा लेने दीजिए। जिस तरह से कपल्स के सेक्शुअल संबंध में लोग सेक्स टॉय का इस्तेमाल करते हैं। उसी तरह ये रोबोट भी काम करेंगे। अगर दोनों पार्टी राजी हो तो मेरे ख्याल से इसमें कोई बुराई नहीं है।'

इसे भी पढ़ें - जानें क्यों कुछ कपल करते हैं औरों से ज्यादा सेक्स


लेकिन इसके साथ उन्होंने यह जोड़ते हुए ये भी कहा है कि इंसान की जगह रोबॉट का इस्तेमाल हेल्दी नहीं होगा। इससे महिलाओं को बीमारी भी हो सकती है। वहीं आज कल की बात करें, तो दुनिया में आज भी लोग सेक्स के लिए मशीन जैसे सेक्स टॉयज का इस्तेमाल करते हैं।


ऐसे में आने वाला वक्त ही ये फैसला करेगा कि सेक्स रोबोट इंसान से बेहतर साबित होंगे की नहीं। लेकिन ये एक नई दुनिया की शुरुआत होगी जिससे इंसान हर चीज के लिए .... मतलब हर चीज के लिए (प्यार के लिए भी) मशीन पर निर्भर हो जाएगा।


ऐसे में सवाल ये नहीं रह जाएगा कि रोबोट अच्छे सेक्स पार्टनर साबित होंगे की नहीं।
सवाल ये रहेगा कि फिर इंसान, इंसान रहेगा कि नहीं? और फिर इंसान और रोबोट में फर्क क्या होगा?

 

Read more articles on sex and relationship in Hindi

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।