• shareIcon

मधुमेह से बचाये सुबह का नाश्‍ता

डायबिटीज़ By Nachiketa Sharma , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / May 30, 2012
मधुमेह से बचाये सुबह का नाश्‍ता

मधुमेह के खतरे को कम करने के लिए बच्चों को भी सुबह के नाश्ते की आदत डालिए।

Rehna hai madhumeh se door to subah ka nashta zaroor kare

 

रहना है मधुमेह से दूर, तो सुबह का नाश्ता जरूर करें

व्यास्त जीवनशैली में मधुमेह से दूर रहना है तो, सुबह का नाश्ता जरूर करें। सुबह का नाश्ता करने से मधुमेह होने की संभावना कम होती है। अगर आपकी दिनचर्या में सुबह का नाश्ता शामिल है तो आपको मधुमेह जैसी खतरनाक बीमारी होने की गुंजाइश कम होगी। इसके अलावा सुबह का नाश्ता करने से दिमाग तेज होता है और तनाव समाप्त होता है। हेल्दी ब्रेकफास्ट  करने से हम दिनभर शारीरिक और मानसिक रूप से ज्यादा सक्रिय रहते हैं। आइए हम आपको बताते हैं कि कैसे सुबह का नाश्ता आपको मधुमेह से दूर रखता है। 


क्या कहता है शोध - 
तस्मानिया में हुए शोध के मुताबिक यह पता चला है कि जो लोग खाली पेट घर से बाहर निकल जाते हैं वे मोटापा, पेट पर चर्बी बढने और कोलेस्ट्रॉल बढने के शिकार हो सकते हैं। ये तीनों कारक डायबिटीज बढाने के जोखिम कारक हैं। इतना ही नहीं खाली पेट से खून में इंसुलिन का स्तर भी बढ जाता है जो आदमी को डायबिटीज की चपेट में आने की चेतावनी देता है। जिन लोगों में बचपन में नाश्ता करके घर से बाहर निकलने की आदत बडे होने पर बनी रहती है, उनमें डायबिटीज का खतरा कम होता है। 

डायबिटीज के खतरे को कम करता है सुबह का नाश्ता – 
सुबह हेल्दी ब्रेकफास्ट करके घर से निकलने से शरीर तो स्वस्थ  होता ही है साथ ही मधुमेह का खतरा भी कम होता है। क्योंकि सुबह-सुबह खाली पेट घर से निकलने से शरीर में कोलेस्ट्राल की मात्रा बढती है, जिससे वसा की मात्रा प्रभावित होती है आदमी का वजन बढता है। मोटापा मधुमेह का सबसे बडा कारण है। खाली पेट होने से ब्लड में इंसुलिन की मात्रा बढती है जिससे डायबिटीज होता है। इसके अलावा सुबह-सुबह नाश्ता कर लेने से आप बाहर का खाद्य-पदार्थ खाने से बच जाते हैं। 

सुबह के नाश्ते के फायदे – 

सुबह का नाश्ता करने से तनाव का स्तर कम होता है और आदमी दिन भर मानसिक और शारीरिक रूप से ज्यादा सक्रिय रहता है। 

हेल्दी ब्रेकफास्ट करने से मोटापा नहीं बढता है। जिसके कारण शरीर स्वस्था रहता है। 

सुबह नाश्ता करने का असर आदमी के दिमाग पर पडता है और व्यक्ति की याद्दाश्त बढती है।

सुबह नाश्ता करने से खून का संचार अच्छे से होता है जिससे दिल की बीमारियां नहीं होती हैं। 

ब्रेकफास्ट करने से मेटाबॉलिक स्तर में सुधार आता है। 

सुबह नाश्ते में क्या खाएं – 

सुबह का नाश्ता हेल्दी होना चाहिए इस बात का ध्यान रखें। नाश्ते में फल और आटे के ब्रेड खाया जा सकता है। 

ब्रेकफास्ट में ओट मिल्क लेना भी आपके स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है। 

उबला अंडा सुबह के नाश्ते के लिए बहुत अच्छा होता है। 

ताजे और मौसमी फलों को सुबह के नाश्ते में शामिल कीजिए। इसके अलावा जूस भी नाश्ते में ले सकते हैं। 


टाइप-1 डायबिटीज युवाओं और बुजुर्गों को ही नहीं बल्कि छोटे से बच्चे को भी हो सकता है। इसलिए मधुमेह के खतरे को कम करने के लिए बच्चों को भी सुबह के नाश्ते की आदत डालिए। सुबह-सुबह ब्रेकफास्ट करने से दिनचर्या नियमित होती है जिसके कारण कई बीमारियों से बचाव होता है। अपने डाइट-प्लान के लिए आप अपने चिकित्सक से संपर्क कर सकते हैं। 
व्यस्त जीवनशैली में मधुमेह से दूर रहना है तो, सुबह का नाश्ता जरूर करें। सुबह का नाश्ता करने से मधुमेह होने की संभावना कम होती है। अगर आपकी दिनचर्या में सुबह का नाश्ता शामिल है तो आपको मधुमेह जैसी खतरनाक बीमारी होने की गुंजाइश कम होगी। इसके अलावा सुबह का नाश्ता करने से दिमाग तेज होता है और तनाव समाप्त होता है। हेल्दी ब्रेकफास्ट करने से हम दिनभर शारीरिक और मानसिक रूप से ज्यादा सक्रिय रहते हैं। आइए हम आपको बताते हैं कि कैसे सुबह का नाश्ता आपको मधुमेह से दूर रखता है। 

 

 

क्या कहता है शोध - 

तस्मानिया में हुए शोध के मुताबिक यह पता चला है कि जो लोग खाली पेट घर से बाहर निकल जाते हैं वे मोटापा, पेट पर चर्बी बढने और कोलेस्ट्रॉल बढने के शिकार हो सकते हैं। ये तीनों कारक डायबिटीज बढाने के जोखिम कारक हैं। इतना ही नहीं खाली पेट से खून में इंसुलिन का स्तर भी बढ जाता है जो आदमी को डायबिटीज की चपेट में आने की चेतावनी देता है। जिन लोगों में बचपन में नाश्ता करके घर से बाहर निकलने की आदत बडे होने पर बनी रहती है, उनमें डायबिटीज का खतरा कम होता है। 

 

डायबिटीज के खतरे को कम करता है सुबह का नाश्ता – सुबह हेल्दी ब्रेकफास्ट करके घर से निकलने से शरीर तो स्वस्थ  होता ही है साथ ही मधुमेह का खतरा भी कम होता है। क्योंकि सुबह-सुबह खाली पेट घर से निकलने से शरीर में कोलेस्ट्राल की मात्रा बढती है, जिससे वसा की मात्रा प्रभावित होती है आदमी का वजन बढता है। मोटापा मधुमेह का सबसे बडा कारण है। खाली पेट होने से ब्लड में इंसुलिन की मात्रा बढती है जिससे डायबिटीज होता है। इसके अलावा सुबह-सुबह नाश्ता कर लेने से आप बाहर का खाद्य-पदार्थ खाने से बच जाते हैं। 

 

 

सुबह के नाश्ते के फायदे – 

 

  • सुबह का नाश्ता करने से तनाव का स्तर कम होता है और आदमी दिन भर मानसिक और शारीरिक रूप से ज्यादा सक्रिय रहता है। 
  • हेल्दी ब्रेकफास्ट करने से मोटापा नहीं बढता है। जिसके कारण शरीर स्वस्था रहता है। 
  • सुबह नाश्ता करने का असर आदमी के दिमाग पर पडता है और व्यक्ति की याद्दाश्त बढती है।
  • सुबह नाश्ता करने से खून का संचार अच्छे से होता है जिससे दिल की बीमारियां नहीं होती हैं। 
  • ब्रेकफास्ट करने से मेटाबॉलिक स्तर में सुधार आता है। 

 

 

 

सुबह नाश्ते में क्या खाएं – 

 

  • सुबह का नाश्ता हेल्दी होना चाहिए इस बात का ध्यान रखें। नाश्ते में फल और आटे के ब्रेड खाया जा सकता है। 
  • ब्रेकफास्ट में ओट मिल्क लेना भी आपके स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है। 
  • उबला अंडा सुबह के नाश्ते के लिए बहुत अच्छा होता है। 
  • ताजे और मौसमी फलों को सुबह के नाश्ते में शामिल कीजिए। इसके अलावा जूस भी नाश्ते में ले सकते हैं। 

 

 

टाइप-1 डायबिटीज युवाओं और बुजुर्गों को ही नहीं बल्कि छोटे से बच्चे को भी हो सकता है। इसलिए मधुमेह के खतरे को कम करने के लिए बच्चों को भी सुबह के नाश्ते की आदत डालिए। सुबह-सुबह ब्रेकफास्ट करने से दिनचर्या नियमित होती है जिसके कारण कई बीमारियों से बचाव होता है। अपने डाइट-प्लान के लिए आप अपने चिकित्सक से संपर्क कर सकते हैं। 

 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK