• shareIcon

Red Onion For Diabetes: ब्‍लड शुगर लेवल को तुरंत कंट्रोल करती है लाल प्‍याज, जानें सेवन का तरीका

डायबिटीज़ By अतुल मोदी , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jul 31, 2019
Red Onion For Diabetes: ब्‍लड शुगर लेवल को तुरंत कंट्रोल करती है लाल प्‍याज, जानें सेवन का तरीका

Red Onion For Diabetes: प्‍याज के द्वारा आप डायबिटीज का बेहतर तरीके से प्रबंधन कर सकते हैं। प्याज में कुछ ऐ

डायबिटीज (Diabetes) रोगियों को ब्‍लड शुगर लेवल (Blood Sugar Level) को बनाए रखना मुश्किल होता है। ऐसे में आपको इस बात का बहुत ध्यान रखना जरूरी है कि क्या खाएं और क्या नहीं। आपको अपने ब्‍लड शुगर लेवल की समय-समय पर जांच जरूर करनी चा‍हिए। क्‍योंकि इससे आपके खानपान के प्रभावों का पता चलता है। मधुमेह को स्वाभाविक रूप से नियंत्रित करने के लिए, अपने आहार में ऐसे भोजन को शामिल करने की सलाह दी जाती है जो ब्‍लड शुगर को कम कर सकते हैं। रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करना आवश्यक है क्योंकि अगर इसे अनुपचारित छोड़ दिया जाए तो गंभीर स्थिति पैदा हो सकती हैं।

यदि आप ब्‍लड शुगर लेवल को नियंत्रित करने के लिए सर्वोत्तम खाद्य पदार्थों की तलाश कर रहे हैं, तो आप इसके लिए प्‍याज की मदद ले सकते हैं। प्याज आपकी रसोई का घटक है जो आपको मधुमेह से प्रभावी रूप से लड़ने में मदद कर सकता है। प्याज हर भारतीय रसोई का एक अनिवार्य हिस्सा है जिसे लगभग हर कोई अपने भोजन में शामिल करता है। अब आपको बस इतना करना है कि अपने आहार में प्याज को शामिल करें और अपने ब्‍लड शुगर लेवल को नियंत्रण में रखें।

onion-for-diabetes 

डायबिटीज में फायदेमंद है लाल प्‍याज- Red Onion For Diabetes In Hindi 

विभिन्न अध्ययनों से पता चला है कि लाल प्याज बढ़े हुए ब्‍लड शुगर के स्‍तर को कम करने में मदद कर सकती है, जो आपको टाइप 1 और टाइप 2 डायबिटीज दोनों का प्रबंधन करने में मदद कर सकता है। जर्नल एनवायर्नमेंटल हेल्थ इनसाइट्स में प्रकाशित एक अध्ययन में पाया गया कि 100 ग्राम लाल प्याज ने ब्‍लड शुगर को केवल चार घंटों में कम कर दिया। यहां कुछ तथ्‍य दिए गए हैं जिससे आप समझ पाएंगे कि प्‍याज क्‍यों डायबिटीज और ब्‍लड शुगर में फायदेमंद है। 

लो-ग्लाइसेमिक इंडेक्‍स 

प्याज लो-ग्लाइसेमिक फूड है जिसे आप अपने आहार में शामिल कर सकते हैं। ग्लाइसेमिक इंडेक्स रक्त शर्करा के स्तर पर कंज्‍यूम किए गए भोजन के प्रभाव का वर्णन करता है। जिन खाद्य पदार्थों में 55 से कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है, उन्हें मधुमेह के लिए अच्छा माना जाता है क्योंकि वे रक्त में बहुत अधिक शर्करा नहीं छोड़ते हैं। प्याज का ग्लाइसेमिक इंडेक्स 10 से कम है जो डायबिटिक के लिए बहुत अच्छा है। 

कार्ब्स में कम

प्याज में बहुत कम कार्ब्स होते हैं। बहुत अधिक कार्ब्स का सेवन किसी के ब्लड शुगर लेवल के लिए अच्छा नहीं है। यदि आप बहुत अधिक कार्ब्स खाते हैं, तो आपको टाइप-2 डायबिटीज होने का अधिक खतरा है। आधा कप कटा हुआ प्याज में केवल 5.9 ग्राम कार्ब्स होते हैं। तो Lo-carb आपको प्रभावी ढंग से मधुमेह का प्रबंधन करने में मदद कर सकती है। 

फाइबर में अधिक 

डायबिटीज के लिए फाइबर बेहद फायदेमंद है। यह ब्‍लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करने में भी मदद करता है। प्याज भी फाइबर से भरपूर होते हैं जो उन्हें मधुमेह रोगियों के लिए एक आदर्श घटक माना जाता है। फाइबर आंत के स्वास्थ्य को बढ़ावा देगा और पेट से संबंधित आपकी सभी समस्याओं को दूर रखेगा। प्याज का नियमित सेवन आपको कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने और हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में भी मदद करेगा। 

मधुमेह के लिए प्याज का सेवन कैसे करें?

बेहतर ब्लड शुगर लेवल के लिए आपको कच्चा प्याज खाना चाहिए। इसके अलावा, सुनिश्चित करें कि आप लाल प्याज चुनते हैं। आप कच्चा प्याज अपने लंच के साथ-साथ रात के खाने में भी खा सकते हैं। यदि आपको सलाद पसंद है तो आप इसे अपने सलाद में शामिल कर सकते हैं। कच्चा प्याज आपके सैंडविच में भी मिलाया जा सकता है। 

इसे भी पढ़ें: डायबिटीज पेशेंट रोजाना करें ये 4 वर्कआउट, नहीं बढ़ेगा वजन और ब्‍लड शुगर

ब्‍लड शुगर लेवल को नियंत्रित करने के लिए अन्य भोजन

कई अन्य खाद्य पदार्थ हैं जो आपको प्राकृतिक रूप से डायबिटीज का प्रबंधन करने में मदद कर सकते हैं। आप अपने आहार में कुछ खाद्य पदार्थ शामिल करते हैं जिसके परिणामस्वरूप पूरे दिन संतुलित रक्त शर्करा हो सकता है। डायबिटीज के लिए फायदेमंद कुछ खाद्य पदार्थों में शामिल हैं- जामुन, दालचीनी, अंडे, पत्तेदार साग, नट्स, ग्रीक योगर्ट, हल्दी, चिया सीड्स, ब्रोकोली, फ्लैक्ससीड्स, एप्पल साइडर विनेगर और लहसुन। अपने भोजन की योजना इस तरह से बनाएं कि आप इन खाद्य पदार्थों को अपने दैनिक आहार में किसी न किसी तरह से शामिल कर सकें।

Read More Articles On Diabetes In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK