Low Blood Pressure: दिल की बीमारी है लो बीपी का कारण, इन 5 प्राकृतिक तरीकों से करें इसका उपचार

Updated at: Aug 29, 2019
Low Blood Pressure: दिल की बीमारी है लो बीपी का कारण, इन 5 प्राकृतिक तरीकों से करें इसका उपचार

लो ब्लड प्रेशर में शरीर में ब्लड का दबाव कम होने से आवश्यक अंगों तक पूरा ब्लड नही पहुंच पाता। पढि़ए इस लेख में निम्‍न रक्‍तचाप के कारणों और प्राकृतिक उपचार के बारे में।

Atul Modi
अन्य़ बीमारियांWritten by: Atul ModiPublished at: Apr 29, 2015

जब किसी के शरीर में रक्त-प्रवाह सामान्य से कम हो जाता है तो उसे निम्न रक्तचाप या लो ब्लड प्रेशर (Low Blood Pressure) कहते है। सामान्‍य रक्‍तचाप 120/80 होता है। थोड़ा बहुत ऊपर-नीचे होने से कोई फर्क नही पड़ता। लेकिन, यदि ब्‍लड प्रेशर 90 से कम हो जाए तो यह ब्‍लड प्रेशर लो होने के संकेत है।

अक्‍सर, लोग निम्‍न रक्‍तचाप को गंभीरता से नहीं लेते। जबकि यह शरीर में रक्‍त का दबाव कम होने से आवश्यक अंगों तक पूरा ब्लड नही पहुंच पाता जिससे उनके कार्यो में बाधा पहुंचती है। ऐसे में दिल, किडनी, फेफड़े और दिमाग आंशिक रूप से या पूरी तरह से काम करना भी बंद कर सकते हैं। आइए इस लेख के माध्‍यम से जानते हैं ब्‍लड प्रेशर लो होने की असल वजह क्‍या हैं और इसे नियंत्रित रखने के प्राकृतिक तरीके भी हम आपको बता रहे हैं।

निम्‍न रक्‍तचाप के कारण- Low Blood Pressure Causes 

हृदय रोग 

ब्लड प्रेशर कम होना दिल की गंभीर बीमारी से जुड़ा होता है, दिल की बीमारी से हार्ट की मांसपेशियां कमजोर हो जाती हैं, जिससे हार्ट पर्याप्त खून को पम्प नहीं कर पाता और हमारा बीपी लो रहने लगता है। दिल के मरीजों और एनीमिया के शिकार लो बीपी को लेकर सावधान रहें।

आर्थोस्टेटिक हाइपरटेंशन टाइप

इसमें मरीज को खड़े होने पर चक्कर आते हैं, क्योंकि उसका ब्लड प्रेशर एकदम से 20 पॉइंट नीचे आ जाता है। यह नर्वस सिस्टम पर आधारित होता है। लेकिन कई बार दवाओं के साइड इफेक्ट से या एलर्जी से भी हो सकती है। 

लो ब्‍लड प्रेशर के अन्‍य कारण

  • शरीर के अंदरूनी अंगों से खून बह जाने या खून की कमी। 
  • खाने में पौष्टिकता की कमी या अनियमितता। 
  • लंग या फेफड़ों के अटैक से। 
  • हार्ट का वॉल्व खराब हो जाने से। 
  • अचानक सदमा लगने। 
  • कोई भयावह दृश्य देखने या खबर सुनने से भी लो बीपी हो सकता है।

लो ब्‍लड प्रेशर का प्राकृतिक उपचार- Natural Remedies of Low BP

निम्न रक्तचाप वाले अधिकांश लोगों को रक्तचाप बढ़ाने के लिए दवाओं या अन्य चिकित्सा की आवश्यकता नहीं होती है। निम्न रक्तचाप को बढ़ाने के लिए बहुत सारे प्राकृतिक तरीके हैं। इसके अलावा जीवन शैली में बदलाव कर आप इसे सही कर सकते हैं। उच्‍च रक्‍तचाप को कम करने के उपाय

अधिक नमक खाएं

अक्‍सर, नमक कम खाने की सलाह दी जाती है, लेकिन यहां इसके विपरीत आपको रक्तचाप बढ़ाने में मदद करने के लिए अपने सोडियम सेवन को बढ़ाने पर विचार करना चाहिए। हाई और लो ब्‍लड प्रेशर में क्‍या खाएं और क्‍या न खाएं, जानें

मादक पेय से बचें

शराब रक्तचाप को और कम कर सकती है, इसलिए कम रक्तचाप वाले लोगों को अधिक मात्रा में शराब पीने से बचना चाहिए।

डॉक्टर से सलाह लें 

निम्न रक्तचाप विभिन्न प्रकार की दवाओं का एक साइड इफेक्ट हो सकता है। यदि दवा शुरू करने के बाद निम्न रक्तचाप के लक्षण दिखाई देते हैं, तो एक व्यक्ति को अपने डॉक्टर से लक्षणों पर चर्चा करनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें: रक्‍तचाप कम होने पर अपनाएं ये 5 नुस्‍खे, तुरंत दिखेगा असर

बैठते समय पैरों को क्रॉस करें

बैठे हुए पैरों को क्रॉस करना रक्तचाप को बढ़ाने के लिए दिखाया गया है। उच्च रक्तचाप वाले लोगों के लिए, यह एक समस्या हो सकती है। निम्न रक्तचाप के लक्षणों वाले लोगों के लिए यह प्रयास अच्‍छा हो सकता है। यह रक्तचाप बढ़ाने में मदद कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: हाइपरटेंशन का शरीर पर पड़ता है बुरा असर, हृदय के साथ आंखों को भी करता है प्रभावित

पानी पिएं

अधिक पानी पीने से रक्त की मात्रा बढ़ाने में मदद मिल सकती है, जो निम्न रक्तचाप के संभावित कारणों में से एक को दूर कर सकती है। यह निर्जलीकरण से बचने में भी मदद कर सकता है।

Read More Articles On Other Diseases In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK