• shareIcon

इन 5 कारणों से आती है तलाक की नौबत, वक्त रहते व्यवहार में लाएं ये बदलाव

Updated at: Feb 03, 2019
डेटिंग टिप्स
Written by: Rashmi UpadhyayPublished at: Feb 03, 2019
इन 5 कारणों से आती है तलाक की नौबत, वक्त रहते व्यवहार में लाएं ये बदलाव

शादी के बाद हर कपल चाहता है कि वह हंसी खुशी साथ में जीवन बिताए। लेकिन कभी कभी कुछ ऐसी चीजें बड़ा रूप ले लेती हैं जिससे एक कपल को लगता है कि अब वह वक्त आ गया है जब उन्हें अपने रिश्ते को यही पर खत्म कर देना चाहिए। इसी को तलाक कहते हैं। कई बार तलाव आ

शादी के बाद हर कपल चाहता है कि वह हंसी खुशी साथ में जीवन बिताए। लेकिन कभी कभी कुछ ऐसी चीजें बड़ा रूप ले लेती हैं जिससे एक कपल को लगता है कि अब वह वक्त आ गया है जब उन्हें अपने रिश्ते को यही पर खत्म कर देना चाहिए। इसी को तलाक कहते हैं। कई बार तलाव आपसी सहमती से होते हैं तो कई बार जबरन किए जाते हैं। अगर तलाक होने के पीछे के कारणों के बारे में देखा जाए तो वह बहुत सामान्य होते हैं। कई बार विचारों और सोच का न मिलना तलाक की वजह बनता है तो कई बार एक-दूसरे के कल्चर में एडजस्ट न होना रिश्ता खत्म करने की वजह बनता है। यही नहीं कई बार फैमिली मुद्दे भी तलाक के कारण हैं। तलाक के समय आपके पास कारणों का स्पष्टीकरण होना जरूरी है जिससे आप उन कारणों का सोल्यूशन ढूंढ सको और कुछ कारबार कदम उठा सकों। आइए जानें तलाक के मुख्य कारण कौन से है जिनसे शादी जैसा पवित्र बंधन टूटने की नौबत तक आ जाती है।

ये हैं तलाक होने के मुख्य कारण

  • कई बार पति-पत्नी आपस में एक-दूसरे का समझ नहीं पाते और स्थितियों से पूरी तरह से वाकिफ नहीं होते और पूरी बात समझें बिना आपस में झगड़ने लगते है। इससे नौबत तलाक तक आ जाती है।
  • पति-पत्नी के रिश्तों में परिवार वालों की बहुत अधिक दखलअंदाजी भी तलाक का एक मुख्य कारण है।
  • विवाहेत्तर संबंध यानी शादी के बाद पति या पत्नी में से किसी एक का अफेयर होने से भी तलाक हो सकता है।
  • शादी से पहले किसी से प्रेम करना और शादी किसी और से होना या फिर जबरन शादी करवाना भी तलाक का कारण है।
  • पति या पत्नी का दोनों में से किसी एक का अच्छे घर से ताल्लुकात होना। यानी एक का बहुत अमीर होना और दूसरे का गरीब होना भी कई बार तलाक का कारण बन जाता है। दरअसल, बात-बात पर झगड़े होने पर दोनों का एक-दूसरे की कमजोरी को गिनाने से भी तलाक हो जाता है।
  • आज के समय में रिश्तों में प्यार ना होना भी तलाक का कारण है। यानी पति या पत्नी का अपने काम में बहुत व्यस्त होने से अपने साथी को पूरा समय ना देने के कारण दोनों के बीच प्यार कम होने लगता है।
  • एक-दूसरे का सम्मान ना करना, एक-दूसरे के काम में हाथ ना बंटाना, या फिर किसी एक का बहुत ज्यादा बीमार रहना भी तलाक का एक कारण बन सकता है।
  • पति द्वारा पत्नी को और पत्नी द्वारा पति को सेक्सुअली खुश ना रख पाना भी तलाक के कारण बन सकते हैं। पति या पत्नी में से किसी को यौन संबंधी भयंकर बीमारी होना या फिर पति का नपुंसक होना। यौन संबंधों का सही सलामत ना चलना।
  • दोनों का एक दूसरे के प्रति अविश्वास होना। यानी दोनों के रिश्ते में अविश्वास हो और दोनों बात-बात पर एक-दूसरे पर भरोसा करने के बजाय शक करते हो तो भी तलाक की नौबत आ सकती है।
  • पति या पत्नी में से किसी एक का लंबे समय तक गंभीर बीमारी का शिकार होना।
  • पत्नी को दहेज के लिए परेशान करना, पत्नी के बच्चे ना हो पाना भी तलाक का कारण बनने की आशंका रहती है।
  • किसी छोटी बात को लेकर झगड़ा होना उसको बढ़ा-चढ़ाकर तूल देना या फिर मार-पीट जैसी नौबत आने पर भी तलाक हो जाते हैं।

पति-पत्नी और फोन

किसी भी कपल के बीच 'वो' की एंट्री होने लगे तो रिश्ते के तार कमजोर पड़ने लगते हैं और इन दिनों स्मार्ट फोन रिलेशंस में तीसरा कोण बना हुआ है। लोगों पर इसका नशा इतना चढ़ चुका है कि पार्टनर की मौजूदगी में भी वे उससे बात करने की बजाय अपने फोन पर व्यस्त रहते हैं। एक स्टडी में बताया गया है कि जो कपल साथ वक्त बिताने के दौरान भी स्मार्टफोन यूज करते हैं उनके बीच विश्वास और गलतफहमियों पर हमेशा लड़ाई रहती है। ऐसे में कपल के बीच आई कॉन्टैक्ट भी कम होता है। जिससे भरोसा कमजोर पड़ता है। किसी भी रिलेशन की सफलता के लिए रिश्तों में एहसास का होना जरूरी होता है। इसके लिए स्पर्श, एक दूसरे से आई कॉन्टैक्ट बनाना जरूरी है और स्मार्टफोन यही चीजें हम से छीन लेता है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Cheating In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK