• shareIcon

Herbal supplement Kratom: दर्द और नशे की लत छुड़ाने में काम आने वाला ये सप्लीमेंट स्वास्थ्य के लिए खतराः शोध

लेटेस्ट By जितेंद्र गुप्ता , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jul 10, 2019
Herbal supplement Kratom: दर्द और नशे की लत छुड़ाने में काम आने वाला ये सप्लीमेंट स्वास्थ्य के लिए खतराः शोध

बिंगहैमटन यूनिवर्सिटी द्वारा हाल ही में किए गए एक अध्ययन से सामने आया है कि नशे की लत और दर्द के उपचार में बड़ी मात्रा में प्रयोग की जाने वाली लोकप्रिय जड़ी बूटी क्रेटॉम सुरक्षित नहीं है।

बिंगहैमटन यूनिवर्सिटी द्वारा हाल ही में किए गए एक अध्ययन के मुताबिक, क्रेटॉम (kratom) यानी कि मित्राग्यना हर्बल सप्लीमेंट के रूप में अपनी उपलब्धता के कारण सुरक्षित नहीं है और सार्वजनिक स्वास्थ्य के लिए एक खतरा पैदा कर रहा है।

अध्ययन से सामने आया है कि नशे की लत और दर्द के उपचार में बड़ी मात्रा में प्रयोग की जाने वाली लोकप्रिय जड़ी बूटी क्रेटॉम सुरक्षित नहीं है। क्रेटॉम एक हर्बल सप्लीमेंट है, जो दक्षिण पूर्व एशिया में पौधों से प्राप्त होती है। अध्ययन में पाया गया है कि इन पौधे में पाए जाने वाले सक्रिय रसायन शरीर में नशे के रिसेप्टर्स के रूप में कार्य करते हैं।

अध्ययन में उन मरीजों को शामिल किया गया,जो अपने नशे की लत छोड़ने या फिर दर्द के उपचार में इस हर्बल सप्लीमेंट का प्रयोग कर रहे थे। बिंगहैमटन यूनिवर्सिटी  में फार्मेसी की प्रैक्टिस कर रहे सहायक प्रोफेसर विलियम एगलेस्टन और उनकी टीम ने क्रेटॉम उपयोग से जुड़ी विषाक्तता का पता लगाने के लिए नेशनल पॉइजन डेटा सिस्टम (National Poison Data System) में दर्ज  क्रेटॉम सप्लीमेंट का प्रयोग करने वाले मरीजों से प्राप्त आंकड़ों की समीक्षा की।

इसे भी पढ़ेंः महिलाएं इस 1 काम को छोड़कर सुधार सकती हैं अपना मानसिक स्वास्थ्य, करना है बेहद आसान

टीम ने न्यूयार्क राज्य के एक काउंटी मेडिकल एक्जामिनर के कार्यालय से प्राप्त रिकॉर्ड की भी समीक्षा की ताकि क्रेटॉम से जुड़ी घातक घटनाओं की पहचान की जा सके। एगलेस्टन ने कहा, '' "हालांकि क्रेटॉम कुछ अन्य नशे के लत छुड़वाने वाले सप्लीमेंट के रूप में उतना शक्तिशाली नहीं है लेकिन यह फिर भी शरीर में एक मादक पदार्थ के रूप में ही कार्य करता है।''

उन्होंने कहा, ''क्रेटॉम की दर्द और नशे की लत छुड़वाने में एक अहम भूमिका हो सकती है लेकिन इसकी सुरक्षा और दक्षता पर और अधिक शोध किए जाने की जरूरत है। हमारे निष्कर्ष बताते हैं कि इसे हर्बल सप्लीमेंट के रूप में बाजार में उपलब्ध नहीं होना चाहिए।''

इसे भी पढ़ेंः सुरक्षा की कमी के कारण अस्पतालों में जाने से डरते हैं बच्चेः शोध

क्रेटॉम (kratom)की संपर्क में आने वाले कुल 2312 मामले दर्ज किए, जिसमें से 935 में केवल क्रेटॉम का ही प्रयोग किया गया था। क्रेटॉम के कारण घबराहट (18.6 फीसदी),   हृदय की धड़कन में असामान्य तेजी (16.9 फीसदी), सुस्ती (13.6 फीसदी), उल्टी होना (11.2 फीसदी) और भ्र्म की स्थिति पैदा होना (8.1 फीसदी) दर्ज किया गया।

क्रेटॉम के कारण गंभीर प्रभावों में दौरा पड़ना (6.1 फीसदी), नशीले पदार्थों का प्रतिकार (6.1 फीसदी), याददाश्त खोना (4.8 फीसदी), श्वसन अवसाद (2.8 फीसदी), कोमा (2.3 फीसदी) और दिल का दौरा पड़ना (0.6 फीसदी) शामिल है। काउंटी मेडिकल एक्जामिनर कार्यालय ने चार व्यक्तियों की मौत में क्रेटॉम को एक कारण के रूप में सूचीबद्ध किया है।

अध्ययन के निष्कर्षों में सामने आया है कि क्रेटॉम (kratom) यानी कि मित्राग्यना हर्बल सप्लीमेंट के रूप में अपनी उपलब्धता के कारण सुरक्षित नहीं है और सार्वजनिक स्वास्थ्य के लिए एक खतरा पैदा कर रहा है।

Read more articles on Health News in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK