शोध में हुआ खुलासा, बिना मास्क लगाए फेस शील्ड पहनना भी बना सकता है आपको कोरोना का शिकार

Updated at: Sep 26, 2020
शोध में हुआ खुलासा, बिना मास्क लगाए फेस शील्ड पहनना भी बना सकता है आपको कोरोना का शिकार

 मास्‍क की तुलना में फेस शील्‍ड ज्‍यादा आरामदायक होते हैं, लेकिन इस शोध की मानें, तो बिना मास्क से फेस शील्ड लगाना ज्यादा सुरक्षा प्रदान नहीं करता है।

Pallavi Kumari
लेटेस्टWritten by: Pallavi KumariPublished at: Sep 26, 2020

कोरोनावायरस महामारी का कहर पूरी दुनिया में लगातार जारी है। वहीं भारत में कोरोनावायरस (Coronavirus in India) के मामले 59 लाख पार हो गए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा शनिवार सुबह जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 59,03,932 हो गई है और  पिछले 24 घंटों में कोरोना के 85,362 नए मामले सामने आए हैं। अच्छी बात ये है कि पिछले कुछ दिनों से कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या लगातार बढ़ोतरी हुई है और पिछले 24 घंटों में 93,420 मरीज ठीक हुए हैं। इस दौरान देश में 1089 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है। सरकार लगातार इस बात पर जोर देती आई है कि लोग सख्ती से सोशल डिस्टेंसिंग, साफ-सफाई का पालन करते हुए बिना मास्क लगाएं घर के बाहर न निकलें। पर पिछले कुछ दिनों में ऐसा देखा गया कि लोग  मास्क से ज्यादा फेस शील्ड का इस्तेमाल कर रहे हैं और इसे ज्यादा सुरक्षित समझ रहे हैं। पर हाल ही में आए शोध की मानें, तो बिना मास्क लगाए फेस शील्ड पहनना भी आपको कोरोना का शिकार बना सकता है।

insidecovid19

क्या कहता है शोध?

जापान के रिकेन सेंटर में किए गए एक शोध के अनुसार जो चीज चेहरे को जितने करीब से ढक सकती है और बाहरी एयर ड्रोपलेट्स को मुंह व नाक से दूर रख सकती है, वो आपको कोरोना संक्रमण से उतना सुरक्षा प्रदान (face shield not helpful in preventing corona)कर सकती है।  जी हां, इस शोध के अनुसार वो लोग जो मास्क की तुलना में फेस शील्ड को ज्यादा सुरक्षात्मक समझते हैं उनके साथ ये धोखा कर सकता है। इस शोध की मानें, तो चेहरे को ढक कर रखना कोविड-19 संक्रमण से जयादा बचाए रख सकता है।

इसे भी पढ़ें : False Negatives in Corona: कोरोना की रिपोर्ट नेगेटिव आने पर न हों खुश, लक्षण दिखे तो खुद को रखें दूसरों से अलग

फेस शील्ड उतने प्रभावी नहीं हैं जितना कि आप सोचते हैं

जापानी शोधकर्ताओं ने इस शोध में फेस शील्ड और फेस मास्क   (Plastic Face Shields Without Masks) दोनों की तुलना की है। उनके इस शोध के निष्कर्ष बताते हैं कि फेस मास्क 100% हवाई बूंदों को आकार में पांच माइक्रोमीटर से कम होने देती है, बच जाती है। यह प्लास्टिक शील्ड, बस इन्हें 50% प्रतिशत तक ही रोक पाता है और हवा मुंह और नाक तक पहुंच जाती है। वहीं कोरोना से बचाव में फेस मास्क की तुलना में लोगों को शील्ड पहनना ज्यादा आरामदायक लगता है क्योंकि ये चेहरे को टाइट करके बांधता नहीं है। लेकिन इस शोध के अनुसार यही कोरोना वायरस ड्रोपलेट्स के लिए अंदर घुसने का बड़ा मौका हो सकता है।

insidefaceshiedandfacemask

फेस शील्ड पहनने से आपके आसपास के लोग खतरे में पड़ सकते हैं

कोरोनावायरस बीमारी से जुड़ी सबसे खतरनाक चीज ये है कि कई व्यक्तियों को कोरोनावायरस (covid-19 Virus) हुआ है पर उसके लक्षण अभी तक सामने नहीं आए हैं। यानी कि ऐसा व्यक्ति अगर मास्क पहन कर घुमता है, तब तो वो संक्रमण नहीं फैलाएगा पर अगर वो फेस शील्ड पहनता है तो उसका नाक व मुंह खुला रहेगा, जिससे आसानी से संक्रमण फैल सकता है।

इसे भी पढ़ें : स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोनावायरस से सावधान रहने की दी सलाह, इम्‍यूनिटी बूस्‍ट करने के लिए दिए 10 टिप्‍स

इस तरह बिना मास्क के फेस शील्ड पहनना भी संक्रमण को पकड़ने की आपकी संभावनाओं को बढ़ा सकता है। खासकर अगर संक्रामक बूंदें आकार में छोटी हों। यह देखते हुए कि इस बीमारी को अब कोरोनावारयस हवा के माध्यम से भी फैल सकता है, तो प्लास्टिक शील्ड पहनना उतना सुरक्षित नहीं है। तो अगली बार जब आप फेस शील्ड पहनें, तो सुनिश्चित करें कि आप उसके नीचे फेस मास्क जरूर पहनें।

Read more articles on Health-News in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK