• shareIcon

Clogged Arteries Signs: धमनियों में प्‍लाक जमा होने के संकेत हैं पीठ में दर्द और स्‍तंभन दोष, जानें इससे बचने के उपाय

अन्य़ बीमारियां By अतुल मोदी , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Sep 13, 2019
Clogged Arteries Signs: धमनियों में प्‍लाक जमा होने के संकेत हैं पीठ में दर्द और स्‍तंभन दोष, जानें इससे बचने के उपाय

Clogged Arteries Signs: हमारी नसें और धमनियाँ पूरे शरीर में फैली होती हैं। यदि इनमें रूकावट पैदा होती है, तो यह गंभीर स्वास्थ्य समस्‍याओं को जन्म दे सकता है। हालांकि, कुछ संकेत हैं जो स्पष्ट रूप से दिखाते हैं कि धम

धमनियां (Arteries) वे रक्त वाहिकाएं (Blood Vessels) होती हैं जो शरीर के सभी हिस्सों में रक्त पहुंचाने की प्रक्रिया में मदद करती हैं। ये धमनियां शरीर के सभी हिस्सों में रक्त और ऑक्सीजन को पहुंचाने का काम करती हैं। यह शरीर को उचित पोषण प्राप्त करने में भी मदद करता है। इस प्रकार, सभी रक्त वाहिकाओं का स्वस्थ रहना आवश्यक है। कोलेस्ट्रॉल, वसा और अन्य कुछ चीजें हैं जो धमनियों में प्‍लाक बनाती हैं और इसके कार्यों में बाधा उत्‍पन्‍न करती हैं। जोकि, शरीर को ठीक से काम करने के लिए रोकता है। इस प्रकार, धमनियों की अच्छी देखभाल करने के लिए हमें उन संकेतों को समझना होगा जो धमनियों के कार्यों में बाधा डालती हैं। 

धमनियों में प्‍लाक जमा होने के संकेत- Clogged Arteries Signs:

पीठ दर्द- Back pain

यदि आपकी पीठ दर्द कर रही है, तो यह बुढ़ापे की निशानी हो सकती है। लेकिन अगर ऐसा नहीं है, तो इसका मतलब यह है कि आपकी धमनियां कहीं अवरुद्ध हो रही हैं यानी रूकावट पैदा हो रही है। शरीर के कई हिस्से रक्त प्राप्त करने में असमर्थ होते हैं, परिणामस्वरूप पीठ की डिस्क कमजोर हो जाती है और बुरी तरह से दर्द होता है। क्यों होता है पीठ और कमर में दर्द? ऐसे रखें अपना रखरखाव

स्तंभन दोष- Erectile dysfunction

अगर आप यौन संबंध बनाते समय इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या के शिकार हो रहे हैं इसका मतलब है कि आपके पेल्विस के पास की धमनियों को उचित रक्त नहीं मिल रहा है। यह दिल का दौरा पड़ने का शुरुआती लक्षण हो सकता है। शीघ्रपतन में हकीम नहीं डॉक्टर से लें सही सलाह, जानें क्या है इसका कारण और इलाज

arteries

आघात- Stroke

जब मस्तिष्क की ओर जाने वाली धमनियों में प्‍लाक जमा होने लगती है, तो रक्त दिमाग तक नहीं पहुंच पाता है, जिसके कारण मस्तिष्क की धमनियां मृत होने लगती है। जो आगे चलकर स्‍ट्रोक का कारण बन सकती हैं। 

हार्ट अटैक- Heart Attack 

कई अध्ययनों से पता चलता है कि दिल के दौरे की समस्या के पीछे मुख्य कारण धमनियों का दब जाना है। जब धमनियों में रूकावट पैदा होती है और रक्‍त का प्रवाह ठीक तरह से नहीं होता है तो ऐसी स्थिति में हृदय रोगों की संभावना बढ़ जाती है। यह स्थिति इस ओर इशारा करती है कि आपके धमनियों में रूकावट पैदा हो रही है।

इसे भी पढ़ें:  हार्ट अटैक और कार्डियक अरेस्‍ट में क्‍या है अंतर? एक्‍सपर्ट से जानें इन स्थितियों में बचाव के टिप्‍स

मांसपेशियों में दर्द- Pain in calf muscles

यदि आपके कॉफ की मांसपेशियों में चलने या खड़े होने के दौरान दर्द हो रहा है, तो यह धमनियों में जमाव का कारण हो सकता है। ऐसा तब होता है जब पैरों में धमनियों और वाहिकाओं को पर्याप्त मात्रा में रक्त प्रवाह नहीं हो पाता है।

ये कुछ स्पष्ट संकेत हैं, जो बताते हैं कि आपके शरीर की धमनियों में प्‍लाक जमा होने लगे हैं। इन संकेतों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए और तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें: हृदय में ज्‍यादा रक्‍त पहुंचने से भी हो सकता है हार्ट फेल, एक्‍सपर्ट से जानें इससे बचने के उपाय

धमनियों में पैदा हो रही रूकावट को कैसे रोकें

रक्त परिसंचरण (Blood circulation) उन कारकों में से एक है जो हमें फिट रहने और कई स्वास्थ्य समस्‍याओं से दूर रखने में मदद करता है। यदि आपके शरीर को एक सही आहार नहीं मिल रहा है, तो यह सीधे आपके रक्त परिसंचरण को प्रभावित कर सकता है यानी धमनियों में जमाव उत्‍पन्‍न होने लगता है। कुछ खाद्य पदार्थ हैं जो आपके शरीर में रक्‍त परिसंचरण या ब्‍लड सर्कुलेशन बनाए रखने में मदद कर सकते हैं: 

  • आयरन युक्‍त आहार का सेवन करें
  • सेचुरेटेड फैट का सेवन कम करें
  • विटामिन बी युक्‍त आहार का सेवन करें 
  • ग्रीन टी और ब्‍लैक टी का करें सेवन 
  • रोजाना एक्‍सरसाइज करें
  • मॉर्निंग वॉक पर जरूर जाएं
  • जंक फूड का सेवन न करें
  • शुद्ध तेल और देसी घी का सेवन करें 

Read More Articles On Other Diseases In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK