Relaxing Stretches: पूरा दिन व्यस्त रहने वाले लोगों को करनी चाहिए ये 4 स्ट्रेचिंग, थकावट और तनाव होगा दूर

Updated at: Aug 26, 2020
Relaxing Stretches: पूरा दिन व्यस्त रहने वाले लोगों को करनी चाहिए ये 4 स्ट्रेचिंग, थकावट और तनाव होगा दूर

स्ट्रेचिंग के फायदे, stretching exercise to reduce body pain, relaxing stretching workout, तनाव कैसे दूर करें, streching for stress relief, relaxing f

Vishal Singh
एक्सरसाइज और फिटनेसWritten by: Vishal SinghPublished at: Aug 26, 2020

हम सभी के जीवन में कई बार ऐसा होता है जब हमारे पास कामकाज के अलावा और किसी भी चीज के लिए समय नहीं होता है। जैसे समय सीमा, परीक्षा, नियत तारीखें आदि, जो हमारे तनाव के स्तर को प्रभावित कर सकते हैं और हमारे स्वास्थ्य को खतरे में डाल सकते हैं। ऐसे समय में जरूरी होता है कि आप खुद को रिलेक्स करने के साथ अपने शरीर को कुछ आराम दें। इसके लिए आपको रोजाना कुछ देर अपने लिए निकाल कर अपने शरीर को स्ट्रेच करने और रिलेक्स करना चाहिए। पूरे शरीर को आराम करने का एक शानदार तरीका है स्ट्रेच करना। अपने शरीर को महसूस करने की कोशिश करें और अपनी श्वास पर ध्यान दें।

एक साधारण खिंचाव मांसपेशियों के तनाव से राहत देता है और काम पर अपना ध्यान केंद्रित करने में सुधार के लिए चमत्कार कर सकता है। इसलिए आज हम उन लोगों के लिए रिलेक्स करने वाली स्ट्रेचिंग लेकर आए हैं जिन लोगों के पास दिन में बहुत सारा कामकाज और तनाव होता है। आइए जानते हैं क्या है वो स्ट्रेचिंग और क्या है इसे करने का तरीका। 

streching

कैट-कॉओ

कैट-कॉओ स्ट्रेचिंग आपके पूरे शरीर के लिए एक जोरदार एक्सरसाइज के रूप में है जो आपको आराम देने के साथ ही तनावमुक्त करने का काम करती है। इससे रोजाना करने से आप मांसपेशियों में दर्द और तनाव को दूर करने में कामयाब होंगे साथ ही इससे करने के बाद आप खुद को तरोताजा महसूस कर सकते हैं। इसे करने के लिए आप कंधों के नीचे, कूल्हों के नीचे घुटने के साथ, चौतरफा स्थिति में शुरुआत करें। अब आप सांस अंदर लें, पीछे की ओर झुकें, छाती को आगे की ओर धकेलें और छत की ओर सिर को उठाएं। फिर धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए, नाभि को रीढ़ की हड्डी तक खींचते हुए, दूसरी दिशा में रीढ़ की हड्डी को फैलाएं और कंधों के बीच सिर को छोड़ दें।

इसे भी पढ़ें: वर्कआउट के बाद मांसपेशियों में होने वाले दर्द से हैं परेशान? जानें क्यों होता है दर्द और क्या है राहत पाने का तरीका

हिप ओपनर

हिप ओपनर स्ट्रेचिंग को सुनने के बाद आपको ये थोड़ा अटपटा सा जरूर लग सकता है, लेकिन ये एक्सरसाइज आपके लोअर बॉडी के साथ आपकी छाती को मजबूत करने का काम करती है साथ ही ये आपको तनावमुक्त रखती है। इसे करने के लिए आफ कंधे के नीचे अपने मुख्य लगे हुए कलाई के साथ एक उच्च तख्त स्थिति में शुरू करें, और पैर सीधे आपके पीछे बढ़ा लें। अब आप अपने दाहिने हाथ को पूरा करने के लिए अपने दाहिने पैर को आगे बढ़ाएं, क्योंकि आप अपने दाहिने हाथ को छत की ओर उठाते हैं और अपने शरीर को घुमाने की कोशिश करें। इसके बाद दूसरी तरफ से इस प्रक्रिया को करें। इस प्रक्रिया को आप करीब रोजाना 10 मिनट के लिए दोहराएं। 

इसे भी पढ़ें: ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने के लिए महिलाएं जरूर करें ये एक्सरसाइज, जानें कैसे करें फिटनेस रूटीन में शामिल

हैपी बेबी 

हैपी बेबी एक्सरसाइज आपको बहुत मजेदार और आसान लग सकती है, इस एक्सरसाइज या स्ट्रेचिंग में आपको ज्यादा मेहनत करने की जरूरत नहीं होती है। इसके साथ ही ये आपकी पूरी बॉडी को आराम देने के लिए एक अच्छे विकल्प के तौर पर हमारे सामने हैं। इसे करने के लिए आप छत की ओर मुंह करके लेट जाएं। फिर अपने दोनों कूल्हों को खोलने के लिए पैरों को उठाएं और दोनों हाथों में एक पैर पकड़ें, घुटनों को बगल की ओर खींचे। यह आपके टखनों के लिए या घुटनों के पीछे ले जाने के लिए ज्यादा आरामदायक महसूस कर सकता है, क्योंकि लचीलापन अनुमति देता है।

फुल-बॉडी स्ट्रेच

रोजाना सुबह सो कर उठने के बाद आपको बिना मेहनत के इस स्ट्रेचिंग को करना चाहिए। फुल-बॉडी स्ट्रेचिंग में आपको अपनी पूरी बॉडी पर खिंचाव डालना है, इसके लिए आप अपने दोनों हाथ की उंगलियों को एक साथ पकड़ें, अपनी हथेलियों को अपने सिर के पीछे की दीवार की ओर फ्लिप करें और अपनी हथेलियों को आप से दूर धकेलें। इसी समय, अपने घुटनों को सीधा रखते हुए अपने पैर की उंगलियों को अपनी बाहों से दूर पहुंचाएं। कुछ देर तक इसी स्थिति में रहें और फिर वापस पहले वाली स्थिति में आ जाएं। 

Read more articles on Exercise and Fitness in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK