Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

मोटापे से हो सकता है समय पूर्व प्रसव

लेटेस्ट
By एजेंसी , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jun 13, 2013
मोटापे से हो सकता है समय पूर्व प्रसव

मोटापे से ग्रस्‍त महिलाओं को समयपूर्व प्रसव और बच्‍चे के गंभीर रूप से बीमार होने का खतरा ज्‍यादा होता है।

समुद्र तट पर गर्भवती महिला

मोटापे से ग्रस्त महिलाओं को समयपूर्व प्रसव का खतरा ज्यादा होता है। इसके अलावा उनके बच्चे के गंभीर रूप से बीमार होने और मौत का भी खतरा होता है। ब्रिटेन के विशेषज्ञों ने यह चेतावनी दी है।

 

विशेषज्ञों का कहता है कि महिलाओं में बढ़ते मोटापे के साथ उनके बच्चों पर खतरा भी बढ़ता जा रहा है। स्वीडन में वर्ष 1992 से 2010 के बीच हुए लगभग 15 लाख प्रसवों पर आधांरित एक अध्ययन में पाया गया कि मोटापे से ग्रस्त महिलाओं का असामयिक प्रसव का खतरा रहता है।

 

इसके मुताबिक मां का वजन जितना अधिक होगा बच्चे  के समय पूर्व जन्म का खतरा उतना ही अधिक होगा। इसके साथ ही उन बच्चों बीमार पड़ने, यहां तक कि मरने का खतरा भी अधिक होता है। अध्ययन से पता चला कि सामान्य वजन वाली महिलाओं की तुलना में अधिक वजन वाली महिलाओं में समय पूर्व प्रसव का खतरा 25 फीसदी अधिक था। जबकि मोटापे से ग्रस्‍त महिलाओं में यह खतरा काफी अधिक यानी 60 फीसदी था। गंभीर रूप से मोटी (बॉडी मास इंडेक्‍स 35-39.9) या बेहद मोटी महिलाओं (बॉडी मास इंडेक्‍स 40) में यह खतरा क्रमश: दोगुना और तीगुना था।

 

दरअसल शोधकर्ताओं को बॉडी मास इंडेक्‍स बढ़ने और समयपूर्व प्रसव के बीच रिश्‍ते का भी पता चला। बॉडी मास इंडेक्‍स, वजन (किलोग्राम) को ऊंचाई (वर्ग मीटर) से‍ विभाजित करने पर प्राइज़ होता है। 18.5 से 24.9 तक बीएमआई को सामान्‍य, 25 से 29.9 को अधिक वजन वाला और 30 या इससे अधिक को मोटापे का प्रमाण माना जाता है। जर्नल ऑफ अमेरिकन मेडिकल एससेसिएशन में प्रकाशित अध्‍ययन के नतीजों में मोटापे की बढ़ती समस्‍या को लेकर आगाह किया गया है। ब्रिटेन में भी मोटापे की समस्‍या बढ़ रही है।


हरेक पांच में से तीन वयस्‍क अधिक वजन वाले या मोटे हैं, जो पूरे यूरोप में सबसे ऊंची दर है। वहां हर साल 40 हजार बच्‍चे समयपूर्व पैदा हो रहे हैं। स्‍टॉकहोम स्थित कारोलिंस्‍का इंस्‍टीट्यूट के प्रोफेसर स्‍वेन क्‍नाटिंगिउस ने कहा, हालांकि किसी अधिक वजन वाली या मोटी एक महिला के लिए समय पूर्व प्रसव का चरम खतरा अब भी काफी है।



Read More Articles on Health News In Hindi  

Written by
एजेंसी
Source: ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभागJun 13, 2013

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK