• shareIcon

नोनी के चमत्कारिक स्वास्थ्य लाभ, जानिए

एक्सरसाइज और फिटनेस By Rahul Sharma , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Oct 24, 2016
नोनी के चमत्कारिक स्वास्थ्य लाभ, जानिए

आज हम आपको एक ऐसे ही फल के बारे में बताने जा रहे है जिसके बारे में शायद आप नहीं जानते होगें। लेकिन ये आम लोगों के लिए जितना गुमनाम है, सेहत के लिए उतना ही फायदेमंद।

प्रकृति से मिलने वाले फलों में कुछ न कुछ औष‍धीय गुण जरूर होते हैं। आज हम आपको एक ऐसे ही फल के बारे में बताने जा रहे है जिसके बारे में शायद आप नहीं जानते होगें। लेकिन ये आम लोगों के लिए जितना गुमनाम है, आपकी सेहत के लिए उतना ही फायदेमंद। यह फल किसी भी बीमारी में रामबाण औषधि की तरह काम करता है। जी हां इस चमत्‍कारी फल का नाम नोनी है। यह फल शरीर के इम्‍यून सिस्‍टम को बूस्‍ट करता है।


नोनी को वैज्ञानिक एक ऐसी संजीवनी मानते है, जो डायबिटीज, अस्थमा, अर्थराइटिस, दिल, पुरुष की समस्‍याओं आदि सहित कई बीमारियों के इलाज में रामबाण साबित होता है। यहां तक के यह एड्स और कैंसर के रोगियों के लिए भी बेहद फायदेमंद होता हैं। नोनी में 150 से अधिक स्वास्थ्यवर्धक विटामिन है और एंटी-ऑक्सीडेंट मौजूद होते है। अगर आप बहुत जल्‍दी-जल्‍दी बीमार पड़ जाते हैं तो यह आपके लिए रामबाण हैं। आइए इस आर्टिकल के माध्‍यम से इस चमत्‍कारी संजीवनी फल और उसके स्‍वास्‍थ्‍य लाभों की जानकारी लेते हैं।
noni fal in hindi

इसे भी पढ़ें : इम्‍यून सिस्‍टम को बूस्‍ट करता है

नोनी फल

नोनी एक उष्णकटिबंधीय फल है जो मुख्यत दक्षिणी प्रशांत क्षेत्र में पाया जाता है। यह लगभग आलू के आकार का सफेद, पीले अथवा हरे रंग का फल होता है। इस फल को कई नामों से जैसे-हॉग एपल, चीज फल, लेड, दर्द निवारक पेड़ आदि से जाना जाता है। नोनी फल में अनानास की तुलना में 40 गुना ज्यादा एंजाइम पाया जाता है। नोनी में जेरोनाइन मौजूद होता है। क्‍या आप जानते हैं कि जेरोनाइन सूक्ष्म जंतुओं, पौधों, जानवरों और इंसानों की सभी कोशिकाओं में पाया जाता है। और शरीर की सभी कोशिकायों को सही कार्य करने के लिए जेरोनाइन की पर्याप्‍त मात्रा की जरूरत होती है।  जेरोनाइन हमारे शरीर में प्रोटीनों को उनके अलग-अलग कार्य करने में समर्थ बनाता है। जेरोनाइन की कमी से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है।

इसके अलावा नोनी फल एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल, एंटी-फंगल, एंटी-ट्यूमर, एंटी-इंफ्लेमेटरी और इम्यूनिटी बढ़ाने वाले तत्‍वों से भरपूर होता है। यह पोटेशियम को बहुत अच्छा स्रोत होने के कारण इम्‍यून सिस्‍टम, संचार प्रणाली, पाचन तंत्र, चयापचय प्रक्रिया, टिश्‍यु और कोशिकाओं, बालों और त्‍वचा की मदद करता है। यह क एंटी-एजिंग भी है जो आपको लंबे समय तक जवां बनाए रखने में मदद करता है। इसे सभी आयुवर्ग के लोगों के लिए लाभदायक होता है। एक वयस्‍क व्‍यक्ति को नोनी जूस 30 एम.एल. एक गिलास पानी में मिलाकर सुबह-शाम और बच्चे को 2-2 चम्मच सुबह खाली पेट और रात्रि को खाने के 2 घंटे के बाद करना चाहिए।


अस्‍थमा (सांस संबंधी रोगों में लाभकारी)

सांस की बीमारियों से पीड़ित व्यक्तियों को इसके सेवन से अत्यधिक लाभ मिलता है। इसलिए अगर आप सांस की बीमारी यानी अस्‍थमा से परेशान हैं तो नोनी फल का सेवन करें।


जोड़ों में दर्द दूर करें

अर्थराइटिस से ग्रस्‍त लोगों को रोजाना के काम करने में भी मुश्किलें आने लगती है लेकिन नोनी फल जोड़ों के दर्द, अकड़न, जोड़ों की गतिहीनता की समस्याओ आदि में सहायता करता है।



इसे भी पढ़ें : अस्थमा से निपटने के घरेलू उपचार  

इम्‍यून सिस्‍टम को मजबूत बनायें

नोनी फल में कई तरह के आवश्‍यक विटामिन और मिनरल पाये जाते हैं जो इम्‍यून सिस्‍टम को मजबूत बनाने में मदद करते हैं।


त्‍वचा संबंधी समस्‍याओं को दूर करें

त्‍वचा संबंधी समस्‍याएं जैसे मुंहासे, एक्जिमा, सो‍रायासिस और दाद-खाज आदि में भी नोनी फल बहुत फायदेमंद होता है। अगर आप इन समस्‍याओं से बचना चाहते हैं तो आज से ही नोनी फल को अपनी दिनचर्या में शामिल करें।


नोनी फल के अन्‍य फायदे

  • ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में सहायता करता है, और डायबिटीज कंट्रोल करने में कारगार है।
  • उच्च रक्तचाप और माइग्रेन से पीड़ित लोगों के लिए लाभदायक है।
  • कब्ज, बदहजमी, दस्त आदि से पीड़ित लोगों को नोनी के सेवन से रोगों की मुक्ति मिलती है।
  • गंजेपन और बालों से सम्बंधित समस्याओं की देखभाल करता है।
  • इसके अलावा यह अनियमित पीरियड्स और पीरियड्स में होने वाले दर्द से भी बचाता है।

 
Image Source : blogspot.com & organicfacts.net

Read More Articles on Diet and Nutrition in Hindi 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK