नवरात्रि उपवास के फायदे: डायटीशियन रुजुता दिवेकर से जानें व्रत में खाई जाने वाली 9 चीजें कैसे सुधारती हैं सेहत

Updated at: Oct 19, 2020
नवरात्रि उपवास के फायदे: डायटीशियन रुजुता दिवेकर से जानें व्रत में खाई जाने वाली 9 चीजें कैसे सुधारती हैं सेहत

नवरात्रि के 9 दिनों के उपवास में अगर ये खास चीजें खाते हैं, तो व्रत से आपके शरीर को ढेर सारे फायदे मिलेंगे और हार्मोन्स बैलेंस होंगे। जानें फायदे।

Anurag Anubhav
स्वस्थ आहारWritten by: Anurag AnubhavPublished at: Oct 19, 2020

नवरात्रि के दौरान बहुत सारे लोग पूरे 9 दिनों तक उपवास रखते हैं। धार्मिक कारणों से तो ये 9 दिनों का उपवास फायदेमंद है ही, लेकिन वैज्ञानिक कारणों से भी इस उपवास से आपके शरीर को ढेर सारे लाभ मिलते हैं। नवरात्रि के व्रत के दौरान 9 दिनों तक लोग सात्विक और हल्का भोजन करते हैं, जिससे उनके शरीर के सिस्टम को एक ब्रेक मिल जाता है और शरीर में मौजूद गंदगी और हानिकारक तत्व (टॉक्सिन्स) बाहर निकल जाते हैं। सेलिब्रिटी न्यूट्रीशनिस्ट और डायटीशियन रुजुता दिवेकर की मानें तो नवरात्रि के 9 दिनों का व्रत महिलाओं के लिए विशेष फायदेमंद है। इस व्रत से उनमें हार्मोन्स असंतुलन की समस्या खत्म होती है और कई तरह के स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं, जिनसे उनका शरीर मजबूत होता है। इसका कारण यह है कि नवरात्रि के 9 दिनों में आमतौर पर जो चीजें खाई जाती हैं, वो विशेष स्वास्थ्य गुणों से भरपूर होती हैं। रुजुता दिवेकर ने इस सभी चीजों के फायदे भी बताए हैं। अगर आप भी नवरात्रि व्रत रख रहे हैं, तो इन चीजों को खाएं ताकि इन 9 दिनों में आपको आध्यात्मिक और धार्मिक के साथ-साथ स्वास्थ्य लाभ भी मिल सके।

navratri special foods for health

ड्राई फ्रूट्स, दूध और पनीर

नवरात्रि के दौरान लोग दूध और दूध से बनी चीजों का खूब सेवन करते हैं। इसके साथ ही ड्राई फ्रूट्स और नट्स का सेवन भी डाइट में बढ़ा दिया जाता है। दूध, पनीर, खोया, नट्स आदि प्रोटीन का बहुत अच्छा स्रोत माने जाते हैं। इसके अलावा इनमें एंटीऑक्सीडेंट्स और मिनरल्स भी होते हैं, जो शरीर को स्वस्थ रखते हैं। प्रोटीन मांसपेशियों को निर्माण के लिए और डैमेज को रिपेयर करने के लिए जरूरी है।

इसे भी पढ़ें: Navratri Special : डाइटीशियन स्वाती बाथवाल से जानें नवरात्रि के 9 दिनों का पूरा डाइट प्लान, जो रखेगा हेल्दी

मखाना

मखाने को भी लोग व्रत में कई तरह से प्रयोग करते हैं। स्नैक्स के रूप में रोस्टेड मखाने हों या दूध में भिगोकर मखाने की खीर बनानी हो, मखाना बहुत फायदेमंद होता है। मखाने में फैट कम होता है और सोडियम और कोलेस्ट्रॉल भी बहुत कम होता है। इसलिए ये डायबिटीज को कंट्रोल करने, ब्लड प्रेशर कम करने आदि में फायदेमंद होता है। आयुर्वेद के अनुसार मखाना खाने से किडनी स्वस्थ रहती है।

खीर और खिचड़ी

नवरात्रि के दौरान बहुत सारे लोग आलू की खीर, शकरकंदी का चाट, साबूदाना की खिचड़ी आदि खाते हैं। ये सभी चीजें हेल्दी कार्ब्स से भरी होती हैं इसलिए आपके शरीर को एनर्जी देती हैं और शरीर का पाचन बेहतर करती हैं। इससे आपके पाचनतंत्र को लाभ होता है।

 
 
 
View this post on Instagram

Most common ingredients in a #Navratri thali: The diverse Navratri meals empower the women with nutrients that make them not just physically stronger but helps bring about a balance at the hormonal level too. Dry Fruits, Milk, Paneer: Consumed in abundance during the festival of Navratri, these protein-rich sources help prevent wear and tear in the body. Alu-ki-kheer (potato pudding)/ Shakarkhandi-ki-chaat (sweet potato salad)/ Sabudana khichdi (tapioca stew): Tuber vegetables like potato and sweet potato provide energy to the body and aid in easy digestion. Rajgira ki roti: The flour of rajgira contains a good amount of lysine that aids in the absorption of calcium. It is rich in fibre, and the phytosterols and oils in it help in reducing hypertension, cholesterol and inflammation. Singhare atte (water chestnut flour) ki roti: Singhara flour is rich in vitamins B and E, potassium, zinc, etc., which are excellent coolants and detoxify the system. Usually this flour is used to make puris (fried flatbread) or pakoras (fritters). Kuttu-ki-kadhi (gravy-based buckwheat flour dish): A delicious as well as a nutritious ingredient, buckwheat flour contains detoxifying properties and improves fertility too. Mordhan (barnyard millet) pulao: Round, white grains of barnyard millet are used in several preparations during the festival. Banana-ka-atta: Raw banana or green banana is a part of many Navratri dishes. It can be stir-fried, boiled, steamed, deep-fried, curried or mashed. This ingredient is rich in fibre and an excellent food choice for those with digestive or bowel problems. The flour made of raw banana is a delicacy too. Makhana (fox nuts or lotus seeds): An ideal snack during Navratri, makhana is low in fat, sodium and cholesterol. Its low sodium content helps lower blood pressure and its low glycemic index is beneficial for diabetics. As per Ayurveda, makhana has astringent properties that keep the kidneys healthy. Shikanji (lemonade), Lassi (buttermilk): These beverages contain antioxidants that aid in detoxification and boosting immunity. A full day eating plan in the video in stories.

A post shared by Rujuta Diwekar (@rujuta.diwekar) onOct 17, 2020 at 4:42am PDT

शिकंजी, लस्सी, छाछ

व्रत के दौरान सादे पानी के अलावा बहुत सारे लोग नींबू से बनी शिकंजी या दही से बनी लस्सी और छाछ का सेवन भी करते हैं। इन सभी में बहुत सारे एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं और शरीर को डिटॉक्स करने के गुण होते हैं। इनके सेवन से वजन भी घटता है और शरीर की इम्यूनिटी बढ़ती है।

केला

नवरात्रि के व्रत के दौरान पका केला, कच्चा केला आदि का सेवन तो किया ही जाता है, साथ ही केले के आटे की भी कई डिशेज बनाई जाती हैं। केला स्वादिष्ट और सेहतमंद होता है। कच्चे केले की भी कई प्रकार से सब्जी, करी आदि बनाई जा सकती है। केले में पोटैशियम होता है और अच्छी मात्रा में फाइबर होता है, जो आपके ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखता है। इसके अलावा ये पेट के लिए बहुत फायदेमंद होता है और केले के सेवन से पेट की समस्याएं दूर रहती हैं।

राजगिरा या रामदाना

रुजुता के अनुसार राजगिरा की रोटी में खास तत्व होता है, जिसे लाइसिन (Lysine) कहते हैं। ये आपके शरीर में कैल्शियम के अवशोषण को बढ़ाता है। इसके अलावा ये राजगिरा फाइबर और दूसरे कई पोषक तत्वों से भी भरपूर होता है, जिसके कारण इसके सेवन से हाई ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल और शरीर में अंदरूनी सूजन (Inflammation) से भी छुटकारा मिलता है।

सिंघाड़े का आटा

सिंघाड़े का आटा भी व्रत में खूब खाया जाता है। इस आटे से हलवा, रोटी और दूसरी कई डिशेज बनाई जाती हैं। सिंघाड़े का आटे में कई खास विटामिन्स और मिनरल्स होते हैं, जो शरीर को स्वस्थ रखते हैं, जैसे- विटामिन E, विटामिन B, पोटैशियम, जिंक आदि। ये सभी चीजें आपके शरीर को डिटॉक्सिफाई करती हैं, यानी शरीर में जमा गंदगी को बाहर करती हैं।

इसे भी पढ़ें: Navratri 2020: इस नवरात्रि व्रत में खाएं इम्यूनिटी बढ़ाने वाली चीजें, जानें दिन भर का डाइट प्लान

healthy navratri diet in Hindi

कुट्टू

कुट्टू भी व्रत में खाया जाने वाला मुख्य आहार है। कई लोग कुट्टू के आटे की कढ़ी बनाते हैं। ये कढ़ी स्वादिष्ट भी होती है और सेहतमंद भी होती है। कुट्टू में भी शरीर की गंदगी और अपशिष्ट पदार्थों को निकालने वाले (डिटॉक्सिफिकेशन) गुण होते हैं और दूसरी महत्वपूर्ण बात ये है कि इससे महिलाओं की फर्टिलिटी भी बढ़ती है।

समा या सवां के चावल (मोरधन)

व्रत में लोग मोरधन का सेवन भी करते हैं, जिसे समा/समो/सवां के चावल भी कहा जाता है। ये चावल खासतौर पर इम्यूनिटी बढ़ाने का काम करता है। इसके अलावा इस चावल के सेवन से ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल और डायबिटीज जैसी बीमारियों का खतरा कम होता है तथा मोटापा कम होने लगता है। इस चावल में अच्छी मात्रा में कैल्शियम होता है।

इस तरह 9 चीजों को अपनी डाइट में शामिल करके आप पूरे नवरात्र के दौरान अपनी सेहत को काफी हद तक सुधार सकते हैं और पाचन को बेहतर बना सकते हैं।

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK