क्या भूख न हो तो भी सुबह का नाश्ता है जरूरी? Luke Coutinho से जानें ब्रेकफास्ट से जुड़े 6 मिथकों का सच

कई लोगों को नाश्ता करना पसंद नहीं होता और नाश्ता करने से उन्हें एसिडिटी होती है। ये सब नाश्ते से जुड़े इन मिथकों पर भरोसा करने की वजह से हो सकता है।

Pallavi Kumari
स्वस्थ आहारWritten by: Pallavi KumariPublished at: Jun 21, 2021
Updated at: Jun 21, 2021
क्या भूख न हो तो भी सुबह का नाश्ता है जरूरी? Luke Coutinho से जानें ब्रेकफास्ट से जुड़े 6 मिथकों का सच

नाश्ते (Breakfast) को हमारी डाइट का सबसे जरूरी हिस्सा बताया जाता है। कहा जाता है कि लोगों को बिना नाश्ता किए अपने दिन की शुरुआत नहीं करनी चाहिए। ऐसा इसलिए कि नाश्ता आपके शरीर और ब्रेन को एनर्जेटिक स्टार्ट देता है और ब्लड शुगर और बीपी को कंट्रोल करता है।  पर क्या सभी के लिए ये बातें सही हैं? लाइफस्टाइल कोच ल्यूक कॉटिन्हो (Luke Coutinho) की मानें, तो ये बातें सब पर लागू नहीं होतीं। इसलिए कि सबका शरीर अलग है और सबके शरीर का मेटाबोलिज्म साइकिल भी अलग तरीके से काम करता है। इसी तरह ल्यूक कॉटिन्हो ने नाश्ते और इसकी जरूरत को लेकर कई ऐसे भ्रामक बातों का तथ्य (breakfast related myths and facts) बताया, जो कि हर किसी के लिए सही नहीं है। तो, आइए जानते हैं नाश्ते जुड़े कुछ आम मिथक।

Inside2breakfast

नाश्ते से जुड़े मिथक-Breakfast related myths and facts

मिथक 1:  भूख न हो तो भी सुबह का नाश्ता है जरूरी

बिना भूख के खाना आपको एसिडिटी और पेट से जुड़ी कई बीमारियों का शिकार बना सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि हर किसी के शरीर का नेचुरल साइकिल अलग होता है और जरूरी नहीं कि हर किसी को सुबह उठते ही भूख लगे और वो नाश्ता करना चाहे। बिना भूख लगे नाश्ता करने से ये ओवरफिडिंग कहलाती है, जो कि शरीर के लिए कई तरह से नुकसानदेह हो सकती है। ऐसे में जबरन खाना-पीना आपकी मेटाबोलिज्म पर दबाव डालता है और इससे आपको दिन भर गैस, बदहजमी और भरा-भरा सा महसूस हो सकता है। इसलिए अगर आपको भूख उठने के बाद भूख नहीं लगती तो जबरदस्ती नाश्ता न करें। क्योंकि इस दौरान शरीर क्लीनजिंग प्रोसेस में होता है, शरीर को डिटॉक्स कर रहा होता है और इसलिए आपको भूख नहीं लगती। पर अगर इस दौरान आप नाश्ता करते हैं, तो ये इस प्रोसेस को खराब करने लगता है। 

मिथक 2: ब्रेकफास्ट छोड़ना नुकसानदेह है

ब्रेकफास्ट छोड़ना (skipping breakfast) हर किसी के लिए नुकसानदेह नहीं होता है। ऐसा इसलिए क्यों सुबह भूख लगना या ना लगना शरीर का अपना प्रोसेस है। जैसे कि रात को आपने खाना खाया और सुबह भूख नहीं लगी है, तो ये आपके बॉडी का कॉल हो सकता है कि वो इंटरमिटेंट फास्टिंग पर हो। इस प्रकार की जीवनशैली में वजन घटाने से लेकर चयापचय में वृद्धि और शरीर में सूजन को कम करने के कई फायदे मिल सकता है। हालांकि, ये करना सभी के लिए फायदेमंद नहीं है पर कुछ लोगों को ब्रेकफास्ट छोड़ कर सीधे लंच करने से फायदा मिलता है। जबकि कुछ लोगों को शुगर लो हो जाता है, एसिडिटी हो जाती है और सिरदर्द हो सकता है। इसलिए नाश्ता करना या ना करना अपने शरीर के अनुसार फॉलो करें, लोगों के अनुसार नहीं।

इसे भी पढ़ें : प्रोटीन या कार्ब्स: हेल्दी डाइट के लिए क्या खाएं ज़्यादा और क्यों? जानें डॉक्टर से

मिथक 3: नाश्ता दिन का सबसे जरूरी भोजन है

ल्यूक कॉटिन्हो की मानें, तो नाश्ता दिन का सबसे जरूरी भोजन नहीं है। ऐसा इसलिए क्योंकि नाश्ते की तरह अगर आप लंच छोड़ देते हैं या डिनर नहीं करते तो, ये भी आपके लिए नुकसानदेह ही है। ल्यूक कॉटिन्हो की मानें तो डिनर बेहद जरूरी है पर इसे जल्दी लें और डिनर में लाइट चीजें लें। साथ ही ल्यूक कॉटिन्हो का ये भी कहना है कि स्वस्थ भोजन चुनना, मन लगाकर खाना और जब आप खाते हैं तो स्मार्ट भोजन की योजना बनाना ही स्वस्थ रहने के लिए जरूरी है। भले ही आप नाश्ता करें या ना करें। 

मिथक 4: नाश्ता करने से आप दिन में ज्यादा खाने से बच जाते हैं

नाश्ता करने से आप दिन में ज्यादा खाने से बच जाते हैं ये गलत है। ऐसा इसलिए कि अगर आप बिना भूख लेग नाश्ता करते हैं, यो ये आपको मेटाबोलिज्म को प्रभावित करती है और आपके दिन भर की भूख के साइकिल को  डिस्टर्ब कर देती है। इसके चलते आपको भूख लग भी सकती है या नहीं भी लग सकती है। नाश्ता दिन का एक अभिन्न अंग है क्योंकि जैसे ही आप सोते हैं, आपका शरीर फास्टिंग मोड में चला जाता है और महत्वपूर्ण अंगों को चालू रखने के लिए सेवड एनर्जी का उपयोग करता है। जब आप उठते हैं तो खाने से आपका मेटाबॉलिक सिस्टम शुरू हो जाता है, लेकिन दिन में बाद में खाना भी उतना ही महत्वपूर्ण है।

चाहे आप अपने भोजन को तीन या दो में विभाजित करें, बस ध्यान रखें कि ज्यादा कैलोरी न लें। फलों, सब्जियों और साबुत अनाज के साथ-साथ ऐसे खाद्य पदार्थ शामिल करें जो आपकी भूख को नियंत्रित करने में मदद करें, जैसे अंडे, एवोकाडो, नट्स, बीज और दही। पर इनकी जगह अनहेल्दी फूड्स लेंगे तो आपको दिन भर भूख लग सकती है।

मिथक 5: नाश्ता करने से वजन घटता है

नाश्ते को लंबे समय से वजन कम करने से जोड़ कर देखा जाता रहा है। पर ये पूरी तरह से सच नहीं है। अगर आप नाश्ते में, लंच में और डिनर को मिलाकर कैलोरी को बैलेंस नहीं करते तो ये आपका वजन बढ़ सकता है। इसके अलवा अगर आप नाश्ते में बहुत भारी-भरकम कुछ खाते हैं, तो भी आपका वजन बढ़ सकता है क्योंकि ये कार्ब्स और कैलोरी से भरपूर होता है, जो कि आपके कैलोरी इंटेक को बढ़ाता है। इसलिए वजन घटाने के लिए प्रोटीन से भरपूर नाश्ता लें, जो कि आपके मेटाबोलिज्म को किक स्टार्ट दे और लंबे समय तक आपको भरा हुआ महसूस करवाए। इस तरह प्रोटीन आपके वेट लॉस को तेज करेगा और आर आसानी से वजन घटा पाएंगे।

Inside1coffee

इसे भी पढ़ें : हेल्दी और एक्टिव ब्रेन के लिए डाइट में शामिल करें ये 7 फूड्स

मिथक 6: नाश्ते में कॉफी पीने से आप डिहाइड्रेट हो जाएंगे

नाश्ते में कॉफी पीना बहुत से लोग पंसद करते हैं। पर कुछ लोगों को लगता है ऐसा करने से वो डिहाइड्रेट हो जाएंगे। कॉफी और अन्य कैफीन युक्त पेय पीने से शरीर के तरल पदार्थों का नुकसान नहीं होता है। इसका हल्का प्रभाव ये होगा कि आपको ज्यादा पेशाब लगे पर ये तब होता है जब ज्यादा कॉफी पीते हैं। 1 कप कॉफी आपको कभी भी नुकसान नहीं करेगा। साथ ही कोशिश करें कि कॉफी के साथ आप कुछ न कुछ खा लें और खाली पेट कॉफी पीने से बचें। 

इन तमाम बातों से एक ही बात निकल कर आती है कि आपको अपना नाश्ता तभी करना चाहिए जब आपका पेट साफ हो और आपको भूख लगी हो। आपको बिना के कुछ भी खाने से बचना चाहिए क्योंकि ये स्ट्रेस ईटिंग कहलाती है। इससे आपके शरीर को नुकसान हो सकता है और आपको इमोशनल ईटिंग की आदत हो सकती है।  इसलिए सबसे पहले तो रात में हेल्दी और लाइट डिनर करें और एक अच्छी नींद लें। फिर सुबह फ्रेश हो जाएं और जब आपको लगे कि आपका पेट साफ है और आपका अच्छा महसूस कर रहे हैं, तो एक हेल्दी नाश्ता लें। 

Read more articles on Healthy-Diet in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK