• shareIcon

आसानी से सीखने और नए तथ्‍य याद करने को प्रेरित करता है संगीत

लेटेस्ट By एजेंसी , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Sep 12, 2013
आसानी से सीखने और नए तथ्‍य याद करने को प्रेरित करता है संगीत

प्रति सेकेंड 50 से 80 स्‍पंदन वाले पॉप गाने मस्तिष्‍क को अधिक आसानी से सीखने और नए तथ्‍यों को याद करने के प्रति प्रेरित करते हैं, जानने के लिए पढ़ें यह शोध।

music makes one brainy संगीत हमारे दिल-दिमाग को प्रभावित करता है। यह बात तो हम सभी जानते हैं। लेकिन शायद आपको यह पता नहीं होगा कि संगीत हमें ज्‍यादा बुद्धिमान भी बनाता है। ब्रिटिश वैज्ञानिक के दावे से यह बात सामने आई है कि संगीत सुनने से आप बुद्धिमान बनते हैं।

 

क्‍लीनिकल साइकोलॉजिस्‍ट डॉक्‍टर एम्‍मा ग्रे के अनुसार कुछ पॉप संगीत लोगों को अधिक बुद्धिमान और चतुर बना सकते हैं। ग्रे लंदन स्थित 'ब्रिटिश कॉग्निटिव बिहैवियरल थैरेपी एंड काउंसिलिंग सविर्स' में विशेषज्ञ के रूप में कार्यरत हैं। उनके मुताबिक लोग स्‍वाभाविक तौर पर सकून देने वाला गीत-संगीत पसंद करते हैं। लेकिन प्रति सेकेंड 50 से 80 स्‍पंदन वाले पॉप गाने मस्तिष्‍क को अधिक आसानी से सीखने और नए तथ्‍यों को याद करने के प्रति प्रेरित करते हैं।

 

पश्श्चिमी गीत-संगीत आधारित अपने अध्‍ययन के आधार पर ग्रे ने कहा कि पढ़ाई के दौरान पॉप संगीत सुनने से मस्तिष्‍क को तार्किक तरीके से विचार करने में मदद मिलती है।

 

उन्‍होंने कहा कि पॉप और रॉक गाने जोश या उत्‍तेजना को बढ़ा सकते हैं। यह जोश भाषा, कला और नाटक समेत कई विषयों में रचनात्‍मक प्रदर्शन को उन्‍नत बनाने में सहायक होता है। वह मानती हैं कि पढ़ाई के दौरान शास्‍त्रीय संगीत सुनने वाले विद्यार्थी गणित में बेहतर प्रदर्शन करते हैं।

 

बहुत सारे ऐसे पॉप गाने हैं जो मस्तिष्‍क को अधिक आसानी से सीखने और नए त‍थ्‍यों को याद करने के लिए प्रेरित करते हैं। साथ ही भारतीय शास्‍त्रीय संगीत में ध्‍वनि या नाद से शांति और एकाग्रता मिलती है। मन-मस्तिष्‍क पर विभिन्‍न राग-रागनियों का सकारात्‍मक प्रभाव पड़ता है।




Read More Health News In Hindi

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।