• shareIcon

जोड़ों के दर्द से छुटकारे के लिए हफ्ते में 5 बार करें ये मड थेरेपी, जानें अन्य फायदे

Updated at: Dec 11, 2019
तन मन
Written by: विशाल सिंहPublished at: Dec 11, 2019
जोड़ों के दर्द से छुटकारे के लिए हफ्ते में 5 बार करें ये मड थेरेपी, जानें अन्य फायदे

अगर आप भी जोड़ों के दर्द से परेशान है तो आप भी मड थेरेपी का प्रयोग कर दर्द से छुटकारा पा सकते हैं। हफ्ते में 5 बार करने से मिलेगा आराम।

अर्थराइटिस यानी गठिया आज की बदलती जीवनशैली, मोटापा, गलत खानपान आदि वजहों से ये रोग अब केवल बुजुर्गो तक ही सीमित नहीं रह गया है। बल्कि युवा भी इसका शिकार होते जा रहे है। अर्थराइटिस का सबसे अधिक प्रभाव घुटनों में और उसके बाद कुल्हे की हड्डियों में दिखाई देता है। 

बहुत लोग समय-समय पर अपने बदन में दर्द और अकड़न महसूस करते हैं। कभी-कभी उनके हाथों, कंधों और घुटनों में भी सूजन और दर्द रहता है साथ ही उन्हें हाथ हिलाने में भी तकलीफ होती है। ऐसे लोगों को अर्थराइटिस हो सकता है। कुछ तरह के अर्थराइटिस में जोड़ों में बहुत ज्यादा दर्द होता है। अर्थराइटिस के लक्षण आमतौर पर समय के साथ दिखाई देते हैं, लेकिन अर्थराइटिस का दर्द अचानक भी हो सकता है। 

 pain

अधिकतर लोग दर्द से छुटकारा पाने के लिए कई तरह की दवाईयों का भी सेवन करते हैं, लेकिन अर्थराइटिस का दर्द एक बार में नहीं जाता। दर्द में राहत मिलने के लिए कई महीने भी लग जाते हैं। अर्थराइटिस के दर्द के लिए कई देसी इलाज भी होते हैं लेकिन कई बार वो काम नहीं करते। 

मड पैक थेरेपी 

जर्नल र्यूमेटोलॉजी में मड पैक को एक नेचुरल प्रोडक्ट है जिसमें मिनरल का मिक्चर है। मड पैक ऑर्गेनिक(organic) और इन-ऑर्गेनिक(inorganic) से तैयार होता है जो कि बायोलॉजिकल और जियोलॉजिकल तरीके से बनता है। मड बाथ लेने से शरीर में काफी आराम मिलता है। नेचुरल रूप से मिट्टी में ये 5 तत्व मौजूद होते है। ये तत्व शरीर को शांति और शीतलता के साथ निरोगी बनाते है। 

मिट्टी को आयुर्वेद में जीवन का अस्तित्व माना गया है। इसे प्राकृतिक चिकित्सा (मड थेरपी) कहा जाता है। प्राचीन समय से ही बीमारियों को दूर करने के लिए इस थेरेपी का प्रयोग किया जाता है।

मड पैक थेरेपी से दर्द में भी आराम मिलता है। लेकिन मड पैक के तापमान के हिसाब से प्रयोग किया जाता है। 42 डिग्री से 47 डिग्री तक पैक को 15 से 30 मिनट के लिए रखना होता है। शोधकर्ताओं ने पाया की मड पैक थेरेपी दर्द को कम करने में मददगार है। 

इसे भी पढ़ें: त्‍वचा के सभी रोगों का नाश करती है मड थैरेपी, जानें इसके 5 स्‍वास्‍थ्‍य लाभ

थेरेपी के फायदे

र्यूमेटोलॉजी इंटरनेशनल के मुताबिक, अध्ययन में मड पैक थेरेपी से 45 लोगों को र्यूमेटाडटड के दर्द से फर्क पड़ा है। मड पैक थेरेपी को एक हफ्ते में 5 बार करना चाहिए और ये थेरेपी करीब 3 हफ्तों तक चलनी चाहिए। 

pain

इस थेरेपी से करीब शरीर में 30 फीसदी तक सूजन कम होती है, 20 फीसदी या उससे ज्यादा बीमारियां कम होती है और 20 फीसदी तक जोड़ों के दर्द में राहत मिलती है। इससे पता चलता है की मड पैक थेरेपी अर्थराइटिस के दर्द में मददगार होती है। 

मड पैक के फायदे

अक्सर लोग सोचते हैं की मड पैक में सिर्फ मिट्टी और पानी का एक घोल होता है। लेकिन इसके अलावा मड पैक से कई तरह के फायदे भी होते हैं। मड पैक में  भारी मात्रा में मिनरल होता है जो कि हमारे शरीर के लिए काफी फायदेमंद होता है। बता दें की मड बाथ के लिए 3 तरह के मड का प्रयोग किया जाता है। पहला जो गरम झरनों से बनी हुई कीचड़, दूसरा झील के नीचे बनी हुई कीचड़ और तीसरा जो समुद्र में पाई जाती है। 

इसे भी पढ़ें: जोड़ों का दर्द के लिए आसान घरेलू उपचार है जायफल, जानें इसके 4 अन्‍य जबरदस्‍त फायदे

दर्द से मिलेगी राहत 

जो लोग अर्थराइटिस के दर्द से पीड़ित है वो कोशिश करें की मड पैक थेरेपी का प्रयोग किया जाए। जिससे उन्हें इस थेरेपी के जरिए दर्द से छुटकारा मिल सके। ये थेरेपी आपके शरीर में सूजन को भी कम करने का काम करती है। 

Read more articles on Mind Body in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK