Monsoon Herbs: 10-15 रुपये में मिलनी वाली ये हर्ब इस मानसून रखेंगी आपकी इम्यूनिटी को दुरुस्त, जानें इनके गुण

Updated at: Jul 16, 2020
Monsoon Herbs: 10-15 रुपये में मिलनी वाली ये हर्ब इस मानसून रखेंगी आपकी इम्यूनिटी को दुरुस्त, जानें इनके गुण

मानसून आ चुका है और वक्त है खुद को मजबूत बनाने का। बाजार में मिलने वाली ये चीजों आपको अंदर से स्ट्रॉन्ग बनाने का काम करेंगी। 

Jitendra Gupta
स्वस्थ आहारWritten by: Jitendra GuptaPublished at: Jul 16, 2020

देश भर में मानसून की बौछार आखिरकार शुरू हो गई है या कुछ जगहों पर होने वाली है, जिससे बढ़ते तापमान से राहत मिली है। लेकिन हमें इस मानसून के लिए विशेष रूप से तैयार रहना होगा, विशेष रूप से कोरोना महामारी के डर के बीच, जिसमें मौसम के बदलाव की यह अवधि अपने साथ मौसमी संक्रमण, फ्लू और अन्य मौसमी बीमारियों का खतरा लेकर आती है। इसलिए इम्यूनिटी को मजबूत करने की आवश्यकता और भी अधिक आवश्यक हो जाती है। अपनी इम्यूनिटी को मजबूत बनाने की दिशा में छोटे-छोटे कदम उठाते हुए  हमारा सुझाव है कि आप अपनी रसोई में मौजूद चीजों से इन सरल घरेलू उपचारों का उपयोग करें ताकि आपको उन बीमारी फैलाने वाले कीटाणुओं से लड़ने में मदद मिले और आपके शरीर की सुरक्षा भी बनी रहे। इस लेख में हम आपको रसोई में मौजूद कुछ सामग्री के बारे में बता रहे हैं, जो आपकी इम्यूनिटी बूस्ट करने में मदद करेंगी। 

ginger

अदरक 

मानसून में अदरक वाली चाय पीने से बेहतर कुछ भी नहीं हो सकता है। खैर, यह न केवल आपको शांति का अहसास कराती है बल्कि अदरक गले के संक्रमण को कम करने में भी मदद करता है। इसके एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-वायरल, एंटी-बैक्टीरियल गुण शरीर की खांसी, बुखार, ठंड लगने और जमाव से बचाते हैं। एक चम्मच शहद को अदरक के अर्क के साथ मिश्रित करने से आपके बच्चे को अपने श्वसन तंत्र में जलन और भीड़ से छुटकारा पाने में मदद मिल सकती है। अदरक शरीर के दर्द और ऐंठन को कम करने में भी मदद कर सकता है।

लहसुन 

लहसुन के ढेरों स्वास्थ्य लाभ के कारण इसे एक सुपरफूड कहा जाता है। अपने पेट को स्वस्थ रखने के अलावा इसके सेवन से आप अपना ब्लड प्रेशर भी नियंत्रित बनाए रख सकते हैं। यह रोगाणुरोधी और एंटी-फंगल गुण प्रतिरक्षा प्रणाली को उत्तेजित करता है और बीमारियों को दूर रखता है। अपने रोज़मर्रा की सब्जियों में लहसुन का इस्तेमाल जरूर करें या फिर चटनी के साथ मिलाकर खाएं। लहसुन स्वाद और स्वास्थ्य दोनों की ही बनाए रखने में मदद करता है। लहसुन में मौजूद  एलिसिन नाम का तत्व एलर्जी और श्वसन संक्रमण से लड़ने में मदद करता है। लहसुन को एक अच्छा प्राकृतिक रक्त पतला करने वाला फूड भी कहा जाता है।

इसे भी पढ़ेंः Healthy Breakfast: नाश्ते को दें एक हेल्दी ट्विस्ट, खाएं हाई फाइबर और विटामिन से भरपूर शकरकंद 

हल्दी 

इम्यूनिटी की बात आते ही, मम्मी की किचन में रखे बरसों पुराना घटक अद्भुत काम कर सकते हैं। यह आपके भोजन में हो या दूध में या यहां तक कि आपकी चाय में हल्दी घावों को भरने में मदद करती है, त्वचा को साफ करती है, पाचन में सहायता करती है और आपकी हड्डियों को लाभ पहुंचाती है। हल्दी में मौजूद एक यौगिक करक्यूमिन, एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों को रखने के लिए जाना जाता है जो प्रतिरक्षा को बढ़ाने में मदद करता है। यह एक महान एंटी-ऑक्सीडेंट भी है जो शरीर में ऑक्सीडेटिव प्रक्रियाओं को धीमा करने और आपको युवा बनाए रखने में मदद करता है!

hing

हींग 

हींग में ऐसे गुण होते हैं जो आपके एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीबायोटिक और एंटी-वायरल गुणों के साथ आपकी प्रतिरक्षा को बढ़ाने में मदद करते हैं। यह पाचन तंत्र को दुरुस्त बनाए रखने में मदद करता है और नुकसानदायक रेडिकल को निशाना बनाता, जो विभिन्न रोगों के पैदा होने में योगदान देते हैं। आप इसे अपनी दाल और अन्य भोजन में स्वाद और तंदुरुस्ती बढ़ाने के लिए शामिल कर सकते हैं।

काली मिर्च

काली मिर्च में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। इसमें मौजूद carminative गुण पाचन स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है, लेकिन महत्वपूर्ण रूप से, इसके expectorant गुण श्वसन पथ में बलगम और कफ जमा को तोड़ने में मदद करते हैं जिससे बंद नाक और साइनस से राहत मिलती है। आप अंडे, अपने सलाद, सूप और यहां तक कि अपने चाय में  इस  मसाले को डालकर अपने आहार में इस प्रभावी घटक को जोड़ सकते हैं!

इसे भी पढ़ेंः डायबिटीज रोगी डेली रूटीन में खाएंगे ये 5 फूड तो स्टेबल रहेगा ब्लड शुगर और मजबूत होगी इम्यूनिटी, मिलेंगे फायदे

लौंग

लौंग में मौजूद सक्रिय यौगिक ईयूग्नल शरीर में बीमारी का कारण बनने वाले बैक्टीरिया से लड़ता है और संक्रमण के खतरे की संभावना को कम करता है। लौंग में एंटी-एक्सीडेंट गुण भी होते हैं, जो इम्यून सिस्टम को ऑक्सीडेटिव नुकसान से लड़ने में मदद करते हैं और कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाने वाले मुक्त कणों को शरीर से बाहर निकालते हैं। लौंग का उपयोग बरसों से तेज दर्द और एक अच्छे श्वसन जड़ी-बूटी के रूप में होता आ रहा है।   

दालचीनी

दालचीनी में मैंग्नीज, आयरन, कैल्शियम और फाइबर की पर्याप्त मात्रा होती है। इसमें सिन्नामाइल एक्टेट सहित कई एशेंशियल ऑयल होते हैं, जो इम्यूनिटी को बढ़ाने का काम करते हैं। दालचीनी का उपयोग कार्डियो प्रोक्टेटिव जड़ी-बूटी के रूप में भी होता आ रहा है, जो ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में मदद करती है और एक अच्छी एंटी-ऑक्सीडेंट भी है। 

Read more articles on Healthy-Diet in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK