• shareIcon

स्‍वास्‍थ्‍य के लिए हानिकारक है मोमोज और उसकी लाल चटनी, खाने से पहले जान लें इसकी ये 7 सच्‍चाई

Updated at: Sep 12, 2019
स्वस्थ आहार
Written by: अतुल मोदीPublished at: Jul 05, 2019
स्‍वास्‍थ्‍य के लिए हानिकारक है मोमोज और उसकी लाल चटनी, खाने से पहले जान लें इसकी ये 7 सच्‍चाई

एक अध्ययन से पता चला है कि दिल्ली के स्ट्रीट फूड्स- विशेष रूप से समोसे, गोलगप्पे, बर्गर और मोमोज में कोलीफॉर्म लेवल बहुत ज्‍यादा होता है।

मोमोज (Momos) नाम का ये गोल नरम आटे के गोले, जो कुछ वेजिटेबल और मांस से भरे होते हैं और लाल चटनी के साथ परोसे जाते हैं, सभी स्ट्रीट फूड प्रेमियों के लिए खुशी का सबब होते हैं। लेकिन ये आपके स्वास्थ्य के लिए कितने खतरनाक होते हैं। ये शायद आप नहीं जानते होंगे। दरअसल, मोमोज दीर्घकालिक प्रभाव के साथ बीमारियों का कारण बनते हैं।

इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट, कैटरिंग एंड न्यूट्रिशन, पूसा के एक अध्ययन से पता चला है कि दिल्ली के स्ट्रीट फूड्स- विशेष रूप से समोसे, गोलगप्पे, बर्गर और मोमोज में कोलीफॉर्म लेवल बहुत ज्‍यादा होता है। यहां हम आपको 7 ऐसी वजहें बता रहे हैं, जिन्‍हें जानने के बाद आप मोमोज नहीं खाएंगे, जब तक कि आप उनकी गुणवत्ता के बारे में पूरी तरह सुनिश्चित न हो जाएं। 

 

रसायन युक्‍त होते हैं रिफाइंड आटे 

मोमोज को रिफाइंड आटे से बनाया जाता है, जिसे एज़ोडिककार्बामाइड, क्लोरिनगैस, बेंज़ोयल पेरोक्साइड और अन्य ब्लीच जैसे रसायनों के जरिए ट्रीट किया जाता है। ये रसायन अग्न्याशय को नुकसान पहुंचा सकते हैं और मधुमेह का कारण बन सकते हैं।

मृत चिकन के मांस का प्रयोग 

कई शोध और रिपोर्टों में यह पाया गया है कि मोमोज के अंदर जो चिकन भरे होते हैं, विशेष रूप से जो आपको सस्ते रोड साइड दुकानों में मिलती है, वे रोगग्रस्त और पहले से ही मृत चिकन के मांस से बने होते हैं, जो इन विक्रेताओं द्वारा बहुत सस्ते दर पर खरीदे और बेचे जाते हैं। यह आपकी सेहत के लिए हानिकारक हो सकते हैं। 

अधपके और बिना धुली सब्जियों का प्रयोग

मोमोज के अंदर की सब्जियां खराब गुणवत्ता वाली और अनहेल्दी होती हैं और इसमें ई-कोलाई जैसे बैक्टीरिया होते हैं जो गंभीर संक्रमण का कारण बन सकती हैं।

मोमोज की तीखी लाल चटनी

लाल मिर्च आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा हो सकता है, यदि वे मिर्च पाउडर प्रॉसेस्‍ड नहीं हैं। हालांकि, किसी स्थानीय मोमो-विक्रेताओं द्वारा उपयोग की जाने वाली मिर्च की गुणवत्ता के बारे में सुनिश्चित नहीं किया जा सकता है। इसके अलावा, मसालेदार खाद्य पदार्थों के अधिक सेवन से बवासीर होने का संदेह होता है। 

खतरनाक है मोनो-सोडियम ग्‍लूटामेट

मोमोज में मोनो-सोडियम ग्लूटामेट (MSG) होता है, जो न केवल मोटापे का कारण बनता है, बल्कि अन्य स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं जैसे कि तंत्रिका विकार, पसीना, सीने में दर्द और मतली जैसी समस्याओं का कारण बनता है।

इसे भी पढ़ें: हाई ब्‍लड प्रेशर वालों के लिए बेस्‍ट है ये डाइट प्‍लान, हमेशा कंट्रोल में रहेगा बीपी

टेपवर्म का स्‍त्रोत 

मोमोज गोभी से भरे होते हैं जो अगर ठीक से नहीं पकते हैं तो उनमें टेपवर्म के बीजाणु के छिद्र हो सकते हैं जो मस्तिष्क तक पहुंच सकते हैं और वहां पर बढ़ सकते हैं और अंततः जीवन के लिए खतरा पैदा कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: सुबह नाश्‍ते में अंकुरित अनाज का सेवन करने से नहीं बढ़ता मोटापा, कम होता है हार्टअटैक का खतरा

कुत्‍ते का मांस 

यदि आप डॉग लवर हैं तो ये बात आपको थोड़ी अचरज लगेगी। मगर कई बार ऐसी खबरें आई हैं कि मोमोज विक्रेता नॉनवेज मोमो में कुत्‍ते का मांस प्रयोग करते हैं। ऐसे में आप मोमोज खाने से पहले यह सुनिश्चित करें कि मोमोज कितना सही है। 

Read More Articles On Diet & Nutrition In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK