गुनगुने दूध में शहद डालकर पीने के क्‍या फायदे हैं, जानिए दूध और शहद को एक साथ पीने का सही तरीका

Updated at: Aug 05, 2020
गुनगुने दूध में शहद डालकर पीने के क्‍या फायदे हैं, जानिए दूध और शहद को एक साथ पीने का सही तरीका

दूध हमारे शरीर के लिए पौष्टिक माना जाता है क्योंकि इसमें कई पोषक तत्वों का भंडार होता है। इसमें शहद मिलाकर पीने से ये और फायदेमंद हो जाता है। 

 

Jitendra Gupta
स्वस्थ आहारWritten by: Jitendra GuptaPublished at: Aug 05, 2020

आपने दूध के स्वास्थ्य के लाभ के बारे में तो बरसों से सुना होगा साथ ही इसमें हल्दी व अन्य चीजों को मिलाकर पीने से होने वाले फायदों से भी आप परिचित होंगे। शहद का सेवन आपने कई स्वास्थ्य समस्याओं से निजात पाने के लिए किया होगा और शायद शहद और दूध को साथ मिलाकर भी पिया हो। बता दें कि शहद और दूध दोनों ही आवश्यक पोषक तत्वों से भरे होते हैं और अपने अद्भुत स्वास्थ्य लाभों के लिए जाने जाते हैं। शहद अपने एंटीऑक्सिडेंट और एंटी-माइक्रोबायल गुणों के लिए जाना जाता है जबकि दूध प्रोटीन, कैल्शियम और लैक्टिक एसिड का एक समृद्ध स्रोत है। ये दोनों ही प्रकृति के सबसे पवित्र खजानों में से एक हैं। लेकिन क्या आपको लगता है कि इन दोनों का एक साथ सेवन करने पर ये उतने ही प्रभावी होते हैं, जितना इनका अलग-अलग सेवन आपके शरीर के लिए फायदेमंद होता है? अगर आप शहद और दूध को साथ मिलाकर पीने के बारे में जानने के  लिए गूगल करने जा रहे हैं, तो जरा रूकिए और यहां इससे जुड़ी जरूरी जानकारियां पढ़ें। 

milk

दूध में शहद मिलाकर पीने के स्वास्थ्य लाभ

आयुर्वेद के मुताबिक, शहद और दूध बरसों से एक क्लासिक संयोजन रहा है। दूध में शहद मिलाकर पीने से न केवल आपके मन में शांत प्रभाव पड़ता है, बल्कि इसके औषधीय गुणों के लिए भी शोध किया गया है। अगर आप अपनी नियमित रूप से खाई जाने वाली शुगर को एक चम्मच शहद के साथ बदलकर अपने दूध में मिलाकर पीते हैं तो आप इससे कई स्वास्थ्य लाभ प्राप्त कर सकते हैं। 

इसे भी पढ़ेंः कब्ज और बदहजमी से हैं परेशान? सोते समय गर्म दूध की जगह पिएं ये खास छाछ

हड्डी का स्वास्थ्य होता है बेहतर 

दूध, कैल्शियम के सबसे अच्छे स्रोतों में से एक होने के कारण आपके हड्डियों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करता है। यह पोटेशियम से भी समृद्ध होता है, जो एक आवश्यक पोषक तत्व है जो ब्लडप्रेशर के स्तर को विनियमित करने में मदद कर सकता है।

फेफड़ों के लिए अच्छा है दूध में शहद मिलाकर पीना

सांस संबंधी समस्याओं को रोकने के लिए दूध में एक चम्मच शहद मिलाकर पीना एक प्रभावी उपाय है। गर्म दूध में शहद मिलाकर पीने से श्वसन पथ के संक्रमण को कम करने में मदद मिलती है क्योंकि ये गर्म पेय इस पथ में आने वाले जीवाणुओं को मारता है और शरीर से बाहर निकालता है। गले की खराश से पीड़ित होने पर गर्म दूध में शहद मिलाकर पीना एक प्रभावी उपाय भी है।

milk benefits

पेट के संक्रमण से लड़ता है दूध में शहद मिलाकर पीना

इस गर्म पेय के जीवाणुरोधी और एंटीऑक्सीडेंट गुण पेट में संक्रमण पैदा करने वाले जीवाणुओं को नष्ट करते हैं। गर्म दूध में शहद मिलाकर पीने से आंतों के अच्छे बैक्टीरिया को बहाल करने और किसी भी पेट की बीमारी से आपकी तेज रिकवरी में मदद मिल सकती है। 

इसे भी पढ़ेंः गंभीर बीमारियों का कारण बन सकता है कच्चा दूध पीना, शोध में हुआ खुलासा

नींद को बेहतर बनाता शहद वाला दूध

जैसा कि पहले भी बताया गया है कि शहद और दूध हमारे मस्तिष्क पर शांत और आरामदायक प्रभाव डालता है। रात को सोने के लिए बिस्तर पर जाने से ठीक पहले इस शंख को पीने से आपकी नींद की गुणवत्ता में सुधार हो सकता है।

दूध और शहद को लेकर लोगों के बीच गलतफहमी 

ऐसा माना जाता है कि गर्म पेय में शहद मिलाने से पेय विषाक्त यानी की जहरीला हो जाता है। हालांकि, यह कथन पूरी तरह से सही नहीं है। समस्या, शहद को गर्म करने से है। यह एक आम धारणा है कि चीनी के साथ कुछ भी गर्म करने से 5-हाइड्रोक्सीमेथाइलफ्यूरफुल या एचएमएफ नामक रसायन निकल सकता है, जो प्रकृति में कार्सिनोजेनिक यानी की कैंसरकारी होता है।

नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन द्वारा किए गए अध्ययन के अनुसार, शहद को जब गर्म (> 140 ° C) और घी के साथ मिलाया जाता है, तो HMF का उत्पादन होता है, जो नियत समय में जहर का काम कर सकता है। जब हम इसे दूध में डालते हैं, तो पेय का इष्टतम तापमान 140 डिग्री से बहुत कम होता है। इसलिए बेहतर है कि शहद को गर्म न करें। दूध को उबालें और इसमें शहद मिलाने से पहले इसे 10 मिनट तक ठंडा होने दें।

Read More Article On Healthy Diet In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK