• shareIcon

30 की उम्र के बाद पुरुष न खाएं इस तरह की सब्जी, बढ़ेगा कोलेस्ट्रॉल और ब्लड प्रेशर

स्वस्थ आहार By Rashmi Upadhyay , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jan 12, 2019
30 की उम्र के बाद पुरुष न खाएं इस तरह की सब्जी, बढ़ेगा कोलेस्ट्रॉल और ब्लड प्रेशर

आज हम आपको 30 की उम्र पार कर चुके पुरुषों के लिए खानपान की टिप्स इसलिए दे रहे हैं क्योंकि यह पड़ाव लाइफ का सबसे महत्वपूर्ण और टर्निंग प्वॉइंट होता है। इस उम्र में हॉर्मोन्स में परिवर्तन होने के साथ ही कई अन्य तरह के बदलाव भी होते हैं। इसलि इस उम्र

आज हम आपको 30 की उम्र पार कर चुके पुरुषों के लिए खानपान की टिप्स इसलिए दे रहे हैं क्योंकि यह पड़ाव लाइफ का सबसे महत्वपूर्ण और टर्निंग प्वॉइंट होता है। इस उम्र में हॉर्मोन्स में परिवर्तन होने के साथ ही कई अन्य तरह के बदलाव भी होते हैं। इसलि इस उम्र में शरीर को अधिक देखभाल की जरूरत होती है। इसलिए 30 वर्ष के बाद अपने भोजन के प्रति गंभीर हो जाना नियमित योगा और व्यायाम करने में ही भलाई है। इस उम्र में पुरुषों को फॉलिक एसिड की बहुत जरूरत होती है। फॉलिक एसिड न्यूरल ट्यूब को कई परेशानियों से बचाने का काम करता है। यही नहीं, इस उम्र में पुरुषों में शरीर में कई पोषक तत्वों की भी कमी होने लगती है। 

बैंगन और अरबी से रहें दूर

बैंगन और अरबी ऐसी सब्जी हैं जो हर तरह के व्यक्ति को सूट नहीं होती है। अगर आपका शरीर इन सब्जियों को स्वीकार नहीं कर रहा है और फिर भी खा रहे हैं तो आपको कई तरह की समस्याएं हो सकती है। 30 की उम्र के बाद यूरिक एसिड बहुत तेजी से बढ़ता है। अगर आपको कब्ज की समस्या है तो आपको बैंगन और अरबी का सेवन नहीं करना चाहिए। सर्दियों में ये सब्जियां जोड़ों की सूजन की वजह बनती है। इसके अलावा पैर के अंगूठों, एड़ी, टखने, घुटने या फिर हाथ के अंगूठे को भी यह प्रभावित करते हैं। आमतौर पर तनाव, शराब का अत्यधिक सेवन, लम्बे समय तक भोजन न करना, कसरत का अभाव, डीहाइड्रेशन तथा कुछ विशेष खाद्य जैसे रैड मीट, सी फूड इत्यादि व जीवनशैली तथा कुछ दवाओं का सेवन गाऊट को बढ़ा सकता है। इसलिये इस उम्र में जो भी खाएं उसके बारे में एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर ले लें

खानपान पर रखें ध्यान

डॉक्टर 30 की उम्र को सावधानी का दशक भी कहते हैं। अगर आपने अभी तक गंभीर बीमारियों के बारे में विचार नहीं किया है, तो वक्त आ गया है कि आप स्वयं को इनसे बचाने की तैयारी कर लें। आपको ऐसे आहार का सेवन करना चाहिए जिनमें ओमेगा-3 फैटी एसिड और मोनोअनसेचुरेटेड फैट हो। इसके लिए आपको नट्स, ऑलिव, कैनोला और अवोकैडो आदि का सेवन करें। मोनोसेचुरेटेड फैट युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन न करें, इससे रक्त में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाती है, जो हृदय रोग का अहम कारण होता है। साथ ही ब्लड प्रेशर में उतार चढ़ाव भी इसी उम्र के बार शुरू होता है।

तनाव से रहें दूर

तनाव व्‍यक्ति के स्‍वास्‍थ्‍य का सबसे बड़ा दुश्‍मन है। लेकिन न चाहते हुए भी हम अक्‍सर तनाव से घिरे रहते हैं। और उम्र बढने के साथ-साथ जीवन में आती परेशानियों में तनाव होना तो बहुत आम हो जाता है। तनाव अन्‍य प्रकार की समस्‍याओं जैसे उच्‍च रक्‍तचाप, निराशा व उदासी को जन्‍म देता है। इसलिए 30 के बाद अपने शरीर को स्‍वस्‍थ रखने के लिए तनावरहित रहने की कोशिश करें। इसके लिए तनावों के बारे में न सोचें, अपने मन को शांत रखने के लिए ऐसे रचनात्‍मक कार्य करें जो आपको पसन्‍द हो।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Healthy Diet In Hindi

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।