Back Pain Treatment: कमर दर्द हमेशा के लिए दूर कर देंगे ये 6 प्राकृतिक उपाय, जानिए एक्‍सपर्ट से

Updated at: Jun 23, 2020
Back Pain Treatment: कमर दर्द हमेशा के लिए दूर कर देंगे ये 6 प्राकृतिक उपाय, जानिए एक्‍सपर्ट से

आज हर दूसरा व्यक्ति फिर चाहे वो महिला हो या पुरुष कमर के दर्द से परेशान रहता है। आइये जानते हैं ऐसा क्यों होता है साथ ही बचाव के उपाय।

Atul Modi
घरेलू नुस्‍खWritten by: Atul ModiPublished at: Jun 23, 2020

आजकल के दौर में कमर-दर्द (Back Pain) एक बड़ी परेशानी के रूप में सामने आ रहा है। कई बार तो लोग इसे अनदेखा करते रहते हैं, जिसके कारण बाद में यह परेशानी बड़ा रुप ले लेती है। कमर दर्द के कई कारण हो सकते हैं। जैसे- कई बार अचानक से झुकने के कारण कमर में झटका लग जाता है जिसके कारण आपको कमर में दर्द की समस्या हो सकती है। ज्यादा भारी वजन उठाने के कारण। उम्र बढ़ने के साथ साथ मांसपेशियां और हड्डियां कमजोर होने लग जाती है। इसके अलावा, लम्बे समय तक एक ही स्थान पर बैठे रहने या लेटे रहने के कारण भी कमर में दर्द रहने लगता है। तो आइए एक्‍सपर्ट से जानते हैं कमर दर्द दूर करने के प्राकृतिक उपाय (Natural Remedies For Back Pain) क्‍या हैं?

backpain

1. लहसुन है लाभकारी 

अदरक की तरह लहसुन भी दर्द को दूर करने में रामबाण की तरह काम करता है। जिन लोगों को अक्सर कमर में दर्द की शिकायत रहती है, उन्हें हर रोज सुबह खाली पेट दो-तीन कलियां लहसुन की चबानी चाहिए। वहीं अगर आपको शरीर के किसी भी भाग में तेज दर्द है तो आप लहसुन का तेल लगाकर उस हिस्से की मालिश करें। इससे आपको काफी आराम मिलेगा। आप चाहें तो नारियल तेल में लहसुन और लौंग को मिलाकर पकाएं। जब यह हल्का गुनगुना रह जाए तो इसका इस्तेमाल करें। 

2. अदरक का प्रयोग 

अदरक में औषधीय गुण होते हैं ये बहुत ही लाभकारी होते हैं। अदरक में एंटी-इंफलेमेटरी गुण पाए जाते हैं। इतना ही नहीं, यह एक प्राकृतिक दर्द निवारक के रूप में काम करता है। इसके इस्तेमाल के लिए आप अदरक के टुकड़ों को एक गिलास पानी में डालकर उबालें और फिर उसे हल्का ठंडा करके उसमें शहद मिलाएं। इस पानी का सेवन सिर्फ कमर दर्द ही नहीं बल्कि शरीर के हर भाग में होने वाले दर्द से राहत दिलाता है।

3. बर्फ का इस्तेमाल करें 

बर्फ का इस्तेमाल करने से आपको कमर दर्द से राहत पाने में मदद मिलती है, इसके लिए आप आइस बैग या फिर बर्फ के टुकड़ो को कॉटन के कपड़ों में डालकर अच्छे से अपनी कमर और पेडू की सिकाई करें।

4. मालिश करें

मालिश करने से आपके शरीर के अंगो में रक्त का प्रवाह अच्छे से होने के साथ आपकी मांसपेशियों को भी मजबूत होने में मदद मिलती है, जिसके कारण आपको दर्द से राहत मिलती है, इसके लिए आप सरसों, तिल, या बादाम के तेल का इस्तेमाल कर सकते है।

5. सिकाई करें

कमर दर्द को दूर करने के लिए आप सब से पहले गरम पानी लेकर उसमें थोड़ा नमक मिलाएं। अब इस पानी में तौलिया भिगोकर निचोड़ें। इसके बाद पेट के बललेट जाएं और इस तौलिए से कमर की सिकाई करें। आपको तुरंत लाभ नजर आएगा।  इसके अलावा आप गरम पानी की सिकाई से पेडू और कमर दोनों के दर्द से ही आसानी से राहत पा सकते है। 

6. अपने आहार का भरपूर सेवन करें

कमर दर्द का एक कारण आपके शरीर में होने वाली पोषक तत्वों की कमी भी हो सकती है, इसके लिए आपको अपने आहार में ऐसे पोषक तत्वों को शामिल करें जिससे आपकी हड्डियों और आपके शरीर को अच्छे से पोषण मिल सकें।

इसे भी पढ़ें: लगातार होने वाले कमर दर्द से पाना चाहते हैं छुटकारा, तो इन घरेलूू तरीकों से पाएं जल्द राहत

बरतें सावधानी

इन तरीकों से आपको भले ही लाभ मिलता है, लेकिन आप सर्व प्रथम यही कोशिश करें कि आपको कमर दर्द की शिकायत ही न हो। वैसे भी कहा जाता है कि उपचार से बेहतर बचाव है।

कमर दर्द से बचने के लिए आप लंबे समय तक एक ही पोजिशन में न बैठें। अगर आपका काम बैठे रहने का है तो आप बीच-बीच में उठकर थोड़ा चलते रहें। साथ ही बैठने या सोने के लिए नर्म गद्देदार सीटों व गद्दों का प्रयोग न करें। यह भी आपकी परेशानी को बढ़ा सकते हैं।

 इसे भी पढ़ें: कमर दर्द से छुटकारा पाने के लिए इन तरीकों को आज ही अपनाएं, जानें इस्तेमाल करने के आसान तरीके

इन बातों का रखें खास ध्यान

आराम दायक बिस्तर का इस्तेमाल करें, क्यों कि अधिक टाइट बिस्तर पर सोने से भी आपको कमर में दर्द की परेशानी का अनुभव करना पड ़सकता है।  धूम्रपान करने से आपको कमर व शरीर के अन्य भागो में दर्द की समस्या होती है, क्यों कि यह आपकी हड्डियों पर बहुत बुरा प्रभाव डालती है।

हाई हील्स की सैंडल्स पहनने से भी आपको कमर दर्द की समस्या होती है। अपने वनज को नियंत्रित रखना चाहिए। भरपूर मात्रा में नींद ले।- अपने बैठने व चलने के तरीके में भी सुधार करें।

नोट: डॉ अरविंद जी कुलकर्णी, हेड ऑफ मुंबई स्पाइन स्कोलियोसिस एंड डिस्क रिप्लेसमेंट सेंटर, बॉम्बे हॉस्पिटल मुंबई से बातचीत पर आधारित।

लेखक: मोनिका अग्रवाल

Read More Articles On Home Remedies In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK