हाथों की खूबसूरती बढ़ाता है मैनीक्योर (Manicure), जानें मैनीक्योर के 5 प्रकार

Updated at: Jan 23, 2021
हाथों की खूबसूरती बढ़ाता है मैनीक्योर (Manicure), जानें मैनीक्योर के 5 प्रकार

आप में से कई लोग अपने घरों में ही रेगुलर मैनीक्योर करते होंगे, पर आइए आज जानते हैं मैनीक्योर के विभिन्न प्रकार (types of manicure)

Pallavi Kumari
फैशन और सौंदर्यWritten by: Pallavi KumariPublished at: Jan 23, 2021

लड़कियों को  मैनीक्योर (Manicure)करवाना बहुत पसंद होता है और ये जरूरी भी है। दरअसल मैनीक्योर आपके हाथों को डिटॉक्स करने का तरीका है, जिससे आपरे नाखून और हांथों की गंदगी साफ हो जाते हैं और उनके डेड सेल्स का सफाया हो जाता है। ये एक तरह का कॉस्मेटिक ट्रीटमेंट है जिसे आप घर पर खुद भी कर सकती हैं और सैलून में करवा भी सकती हैं। इस दौरान आपके हांथों की गहराई से और एक-एक कोने की सफाई हो जाती है। इस दौरान नाखून में लगे क्यूटिकल्स की भी सफाई की जाती हैं और आपके नाखूनों को एक नया रंग-रूप दिया जाता है। आमतौर पर लोग मैनीक्योर के बेसिक तरीके को ही जानते हैं, पर आप हम आपको मैनीक्योर के 5 प्रकारों को बताएंगे, जिन्हें आप ट्राई कर सकती हैं। 

insideregularmanicure

मैनीक्योर के 5 प्रकार-  Types Of Manicures

1. बेसिक मैनीक्योर

बेसिक मैनीक्योर आमतौर पर सभी करवाते या करते हैं हैं क्योंकि ये बहुत आसान है और आप इसे घर पर खुद ही कर सकते हैं। ये एक तरह से हाथों की सफाई और मसाज करने जैसा है। इसमें आपको गुनगुने पानी में हाथों की सफाई होती है। फिर क्यूटिकल्स को निकाला जाता है,  नाखूनों की ट्रिमिंग और फाइलिंग होती है। इसके बाद नाखूनों पर लोशन मसाज किया जाता गै औप फिर नाखूनों पर नेल पेंट किया जाता है।

2.पैराफिन मैनीक्योर

पैराफिन मैनीक्योर में मोम का इस्तेमाल होता है। ये हाथों की गहराई से सफाई करने के लिए बहुत फायदेमंद है। अगर आप घर के काम काज करते हैं और हाथ मैलें हैं, तो आपको यही करवाना चाहिए। ये सफाई के बाद आपकी हाथों में नमी लाता है और उसे खूबसूरत बनाता है। इसमें हाथों को गुनगुने वैक्स में डाला जाता है और उसके बाद नाखूनों की फाइलिंग होती है।

insidemanicuresteps

इसे भी पढ़ें : सर्दियों में फट रही हैं आपकी उंगलियां? इन 4 आसान तरीकों से अपनी उंगलियों को बनाएं खूबसूरत

3.जेल मैनीक्योर

जेल मैनीक्योर लंबे समय तक रहता है। साथ ही ये थोड़ा स्टाइलिश विकल्प भी होता है। जेल मैनीक्योर मैनीक्योर करवाने के लिए आपको सैलून जाना पड़ सकता है। इसमें बेसिक मैनीक्योर चरणों जैसे कि नेल ट्रिमिंग, सफाई, बफरिंग, क्यूटिकल्स को सही करना और बेस कोट बनान आदि शामिल है। फिर इसमें जेल पॉलिश के दो कोट आपके नाखूनों पर लगाए जाते हैं। प्रत्येक कोट दूसरे के साथ टॉप करने से पहले पूरी तरह से सूख जाता है। नेल पॉलिश को सुखाने के लिए प्रत्येक चरण के दौरान आपकी उंगलियों को यूवी प्रकाश के संपर्क में लाया जाएगा, एक प्रक्रिया जो बस कुछ ही मिनट लगती है। किसी अन्य की तुलना में जेल पॉलिश की बनावट टिकाऊ होती है। इसी कारण से आपके नाखून लंबे समय तक खूबसूरत दिखते हैं।

4.ऐक्रेलिक मैनीक्योर

ऐक्रेलिक मैनीक्योर में नाखून पर एक तरल मोनोमर का उपयोग किया जाता है। ये एक तरह से नेल एक्सटेंशन है, जो उन लोगों के फायदेमंद है जिनके नाखून छोटे हैं। मैनीक्योरिस्ट नाखून की सतह को मोट करता है। यह खुरदरी सतह ऐक्रेलिक नाखून को आपके मूल नाखून की सतह पर आसानी से चिपका देती है। गोंद जैसा ऐक्रेलिक मिश्रण आपके नाखूनों पर ब्रश से सावधानीपूर्वक लगाया जाता है। इसके बाद ब्रश का उपयोग करके इसे उकेरा जाता है और नाखूनों का आकार दिया जाता है। ब्रश का उपयोग करके मोटे सिरे को चिकना किया जाता है। एक बार जब यह ठीक से सूख जाता है, तो नेल पॉलिश को नाखून की सतह पर लगाया जाता है।

insidetypesofmanicure

इसे भी पढ़ें : छोटी आंखों वाली लड़कियां चाहती हैं बिग आई लुक, तो मेकअप करते समय जरूर फॉलो करें ये सिंपल टिप्स

5.3 डी मैनीक्योर

3 डी मैनीक्योर आपके नाखून को अलग लुक देता है। इसे ऐक्रेलिक से बने नकली नाखूनों पर रखकर शुरू करते हैं और फिर उन्हें आपकी पसंद के रंगों से रंगा जाता है। इसके बाद आप उन्हें अपने प्राकृतिक नाखूनों पर चिपकाते हैं और एक सुंदर डिज़ाइन बनाने के लिए कुछ चीजों को लगवाते हैं। इसमें आपके नाखूनों पर मोती या पंखुड़ियों या फूल बनाए जाते हैं।

तो, अगर आपने कभी मैनीक्यीर नहीं करवाया तो आपको इसे करके देखना चाहिए, ये आपके हाथों की खबसूरती बढ़ा देगा। साथ ही ये आपके नाखूनों को एक परफेक्ट लुक देगा।

Read more articles on Fashion-Beauty in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK