फैट न खाने से ज्यादा बीमार और बूढ़े दिख सकते हैं आप, ल्यूक कॉउटिन्हो से जानें फैट फ्री डाइट के बड़े नुकसान

Updated at: Oct 20, 2020
फैट न खाने से ज्यादा बीमार और बूढ़े दिख सकते हैं आप, ल्यूक कॉउटिन्हो से जानें फैट फ्री डाइट के बड़े नुकसान

 ल्यूक कॉउटिन्हो का कहना है कि आज के लोगों की सबसे बड़ी ना समझी यही कि उन्हें लगता है कि फैट उन्हें फैट (मोटा) बना रहा है।

Pallavi Kumari
अन्य़ बीमारियांWritten by: Pallavi KumariPublished at: Oct 20, 2020

आज कल लोग फिटनेस को लेकर काफी जागरूक हो गए हैं और इसके लिए अपने वो अपनी डाइट और कैलोरी इनटेक का खास ख्याल रखते हैं। वहीं फैट को लेकर भी लोगों के अंदर काफी नाराजगी है और हर किसी को लगता है कि फैट बस शरीर के लिए नुकसानदेह ही है। मोटापे से लेकर डायबिटीज तक, किसी को भी कोई भी बीमारी होती है तो उन्हें लगता है कि इसके पीछ फैट का ही बड़ा हाथ है। जबकि ऐसा बिलकुल भी नहीं है। फैट शरीर के लिए उतना ही जरूरी है, जितना कि प्रोटीन और कार्ब्स। यही बात वेलनेस कोच ल्यूक कॉउटिन्हो (Luke Coutinho)का भी कहना है। हाल ही में उन्होंने अपने इंस्टाग्राम पोस्ट्स लो फैट डाइट या फैट फ्री डाइट लेने के नुकसान के बारे में बताया।

insidelowcaloriediet

फैट फ्री डाइट (Low-Fat Diet)

ल्यूक कॉउटिन्हो  (Luke Coutinho tips for fitness) ने अपने इस पोस्ट में बताया कि कैसे आज कल के युवा अपनी डाइट से फैट को पूरी तरह से निकाल रहे हैं। वो हमेशा ट्रिम और फिट रहने के लिए फैट युक्त चीजों को पूरी तरह से खाने-पीने से बचते हैं। जबकि असल में ये बहुत नुकसानदेह है। असल में खराब फैट और खूब सारा फैट खाना ही आपको फैट बनाता है। ल्यूक कॉउटिन्हो कहना है कि ऐसे समझा जाए, तो अधिक प्रोटीन लेने भी, अधिक फैट लेने जैसा ही नुकसानदेह है। वो कैसे आइए हम आपको बताते हैं।

इसे भी पढ़ें : आपकी सेहत के लिए कौन से फूड्स हैं ज्यादा बेहतर? जानें गुड फैट और बैड फैट में अंतर और इनका असर

फैट फ्री डाइट के बड़े नुकसान (Disadvantages of low-fat diet)

1.स्किन से जुड़ी परेशानियां

ल्यूक कॉउटिन्हो की मानें, तो आज कल लोग कम तेल वाले खाने पर जोर दे रहे हैं और बिलकुल ही फैट फ्री हो रहे हैं। कुल मिलाकर देखा जाए, तो ये शरीर के लिए काफी नुकसानदेह है। जैसे कि बात स्किन की करें, तो फैट फ्री चीजों को खाना आपकी स्किन को खराब कर सकता है। इसके कारण आपकी स्किन में सूजन आ सकता है और चिशूज को नुकसान पहुंच सकता है। वहीं बहुत से लोगों में फैट की कमी के कारण हाइपर पिग्मेंटेशन की भी परेशानी होती है। साथ ही लोगों के चेहरे पर झुर्रियां भी इसके कारण तेजी से बढ़ने लगती है। इस तरह ये आपके चेहरे की रौनक छिन लेती है और आपको डल चेहरा वाला इंसान बना देती है। 

2.होर्मोन असंतुलन

फैट न खाने का एक बड़ा नुकसान ये भी है कि इससे शरीर में होर्मोन असंतुलन की परेशानी पैदा होती है। ये होर्मोनल असंतुलन महिलाओं में पीसीओडी की परेशानी, अनियमित पीरियड्स और मेनोपॉज से जुड़ी परेशानियां  पैदा कर सकती है, तो पुरुषों में ये चिढचिढ़ापन और मूड स्विंग्स को बढ़ावा देता है। 

insidefatfreediet

इसे भी पढ़ें : Belly Fat: इन 5 बड़ी गलतियों के कारण बढ़ता जा रहा है आपका बैली फैट, जानें किन आदतों में करें बदलाव

3.बैली फैट बढ़ाता है फैट फ्री डाइट

ल्यूक कॉउटिन्हो कहते हैं कि आपको लगता हो कि आपका बैली फैट, फैट खाने से बढ़ रहा है तो ये गलत भी हो सकता है। दरअसल फैट फ्री डाइट के इस्तेमाल के कारण भी बैली फैट तेजी से बढ़ सकता है। ये आपके वेट-लॉस के प्रोसेस को धीमा करता है और मांसपेशियों के दर्द को बढा देता है। वहीं फैट की कमी के कारण आपके दिमाग को भी काम में परेशानी हो सकती है।

तो अगर आप एक स्वस्थ दिमाग और एक्टिव रिफेक्स चाहते हैं, तो आपको  फैट फ्री डाइट फॉलो करने से बचना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि फैट आपके शरीर को चलाने वाली कुछ तत्वों का बेसिक सोर्स है। वहीं फैट का शरीर में कम होना रिप्रोजक्टिव हेल्थ को भी नुकसान पहुंचाता है और होर्मोन्स के रिलीज को बुरी तरह से प्रभावित कर देता है। तो फैट से दूरी न बनाएं, बस कुछ हेल्दी फैटस लेने की कोशिश करें। जैसे कि नारियल तेल लें, एवोकाडो लों, बादाम, काजू, ओमेगा-3 फैट और चिया सिड्स आदि को अपनी डाइट में शामिल करें।

Read more articles on Other-Disease in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK