• shareIcon

डायबिटीज से बचाएंगी ये गुणकारी पत्तियां

डायबिटीज़ By Anubha Tripathi , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Sep 18, 2014
डायबिटीज से बचाएंगी ये गुणकारी पत्तियां

फलों का सेवन आपकी सेहत बनाए रखने में फायदेमंद होता है लेकिन इसकी पत्तियां भी कुछ कम गुणकारी नहीं है। डायबिटीज से लड़ने के लिए आम, जामुन जैसे फलों की पत्तियों काफी फायदेमंद होती हैं।

डायबिटीज का नाम सुनते ही लोग इसे लाइलाज समझकर जीवन भर दवाईयों के भरोसे रहने की सोचते हैं। लेकिन आयुर्वेद में कुछ फलों और सब्जियों के पत्तियों को डायबिटीज से लड़ने में कारगर माना जाता है। इनका सेवन ब्लड शुगर का स्तर नियंत्रित रखने और इनसुलिन के इस्तेमाल की शरीर की क्षमता बढ़ाने में फायदेमंद साबित होता है।


जामुन की पत्ती

भारत, ब्रिटेन और अमेरिका में हुए कई अध्ययनों में जामुन की पत्ती में मौजूद ‘माइरिलिन’ नामक तत्व खून में शुगर का स्तर घटाने में कारगर पाया गया है। विशेषज्ञ ब्लड शुगर बढ़ने पर सुबह जामुन की चार से पांच पत्तियां पीसकर पीने की सलाह देते हैं। और जब शुगर काबू में आ जाए तो इसका सेवन बंद कर दें।

leaves in diabetes in hindi


करी पत्ता

करी पत्ते में मौजूद आयरन, जिंक और कॉपर जैसे मिनरल न सिर्फ अग्नाशय की बीटा-कोशिकाओं को सक्रिय करते हैं, बल्कि उन्हें नष्ट होने से भी बचाते हैं। इससे ये कोशिकाएं इंसुलिन का उत्पादन तेज कर देती हैं। डायबिटीज पीडितों के लिए रोज सुबह खाली पेट 8-10 करी पत्ते चबाना फायदेमंद है।

 इसे भी पढ़ें : स्‍वाद बढ़ाये हाजमे को दुरुस्‍त बनाये कढ़ी पत्‍ता

नीम की पत्ती

आंत को ग्लूकोज सोखने से रोकने के अलावा नीम की पत्ती इंसुलिन के इस्तेमाल की शरीर की क्षमता भी बढ़ाती है। इसके सेवन को डायबिटीज की दवाओं पर निर्भरता घटाने में कारगर माना गया है। विशेषज्ञ रोज सुबह खाली पेट नीम की ताजी पत्तियां पीसकर उनसे एक चम्मच रस निकालकर पीने की सलाह  देते हैं।

 

आम की पत्तियां

डायबिटीज के मरीजों को आम के सेवन से बचने की सलाह देते हैं, लेकिन इसकी पत्तियां बीमारी की रोकथाम में अहम भूमिका निभा सकती हैं। दरअसल, आम की पत्तियां ग्लूकोज सोखने की आंत की क्षमता घटाती हैं। इससे खून में शुगर का स्तर नियंत्रित रहता है। आम की पत्तियां सुखाकर पाउडर बना लें। खाने से एक घंटे पहले पानी में आधा चम्मच घोलकर पीएं।

leaves in diabetes in hindi

तुलसी की पत्तियां

पाचन तंत्र को दुरुस्त रखने वाली तुलसी की पत्तियां अग्नाशय की बीटा-कोशिकाओं की गतिविधियों को सुचारु बनाए रखती हैं। इससे ये कोशिकाएं सही मात्रा में इनसुलिन का उत्पादन करती हैं और ब्लड शुगर का स्तर काबू में रहता है। डायबिटीज पीडितों के लिए रोज सुबह खाली पेट 2 से 4 तुलसी पत्तियां चबाना फायदेमंद है।


इसे भी पढ़ें : स्‍वास्‍थ्‍यवर्द्धक गुणों से भरपूर है तुलसी


पपीते के पत्ते

एएलटी और एएसटी एंजाइम का स्तर घटाने में पपीते की पत्तियां कारगर हैं। इससे इनसुलिन के इस्तेमाल की शरीर की क्षमता बढ़ती है और ग्लूकोज तेजी से ऊर्जा में तब्दील होने लगता है। लिवर बढ़ने, किडनी खराब होने का खतरा कम करने में भी पपीते की पत्तियां असरदार हैं। रोज सुबह पपीते की 8 से 10 पत्तियां पानी में उबालकर पीएं।

डायबिटीज की समस्या से निजात पाने के लिए आप इन पत्तियों का सेवन कर सकते हैं। इन पत्तियों के सेवन से निश्चित ही आपको डायबिटीज को काबू करने में मदद मिलेगी।


ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Image Source : Getty

Read More Articles On Diabetes In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK