नई स्टडी में कोविड-19 के 80% मरीजों में पाई गई विटामिन D की कमी, तो क्या कोरोना वायरस से बचा सकती है धूप?

Updated at: Oct 31, 2020
नई स्टडी में कोविड-19 के 80% मरीजों में पाई गई विटामिन D की कमी, तो क्या कोरोना वायरस से बचा सकती है धूप?

डॉक्टर से जानें कि क्या धूप सेंकने से कोविड-19 के खतरे से बचा जा सकता है। विटामिन D की कमी और कोविड-19 के खतरे के बीच कैसा संबंध है।

Anurag Anubhav
अन्य़ बीमारियांWritten by: Anurag AnubhavPublished at: Oct 31, 2020

शरीर में विटामिन डी (Vitamin D) की कमी से कोविड-19 इंफेक्शन (COVID-19 Infection) का खतरा बढ़ता है- इस संदर्भ में पहले ही कई स्टडीज और रिसर्च सामने आ चुकी हैं। लेकिन एक नए अध्ययन में चौंकाने वाला खुलासा किया गया है कि कोविड-19 के लगभग 80% मरीजों के खून में विटामिन डी का स्तर कम पाया गया। ये बात तो आपने भी सुनी होगी कि विटामिन डी हमें सूरज की किरणों (Vitamin D From Sunlight) से मिलता है। विटामिन डी दरअसल सूरज की किरणों में नहीं होता, बल्कि आपका शरीर त्वचा के नीचे मौजूद कोलेस्ट्रॉल को धूप की मदद से विटामिन D में बदलता है। इसलिए जिन लोगों में विटामिन डी की कमी (Deficiency of Vitamin D) होती है, उन्हें धूप में बैठने की सलाह दी जाती है। नई रिसर्च के जिस दावे में कोविड-19 के 80% मरीजों में विटामिन D की कमी की बात कही गई है, उसे पढ़कर आपके मन में एक सवाल जरूर उठ सकता है कि क्या धूप  में बैठकर या धूप सेंक कर कोरोना वायरस से होने वाले संक्रमण (Coronavirus Infection) से बचा जा सकता है? आइए आपको बताते हैं ये स्टडी क्या है, किसने की है और इस पर एक्सपर्ट की क्या राय है

vitamin d and covid-19 risk

कोविड-19 और विटामिन डी की कमी के बारे में क्या कहती है रिसर्च? (Deficiency of Vitamin D and COVID-19)

इस नई रिसर्च को Journal of Clinical Endocrinology & Metabolism में छापा गया है। रिसर्च के अनुसार स्पेन के एक हॉस्पिटल में भर्ती 216 कोविड-19 के मरीजों की जांच की गई, तो वैज्ञानिक ये देखकर हैरान थे कि इनमें से 82.2% लोगों के खून में विटामिन डी की कमी थी। इसके साथ ही इन मरीजों में इंफ्लेमेशन (अंदरूनी सूजन) बढ़ाने वाले कुछ कारक भी ज्यादा पाए गए, जो कि कोविड-19 के मरीज की गंभीरता को बढ़ाते हैं। विटामिन D की कमी के शिकार इन सभी लोगों में ज्यादातर हाई ब्लड प्रेशर और कार्डियोवस्कुलर बीमारियों के भी रोगी थे।

इसे भी पढ़ें: क्यों कहा जा रहा है कि सर्दियों में बढ़ जाएगा कोरोना वायरस का खतरा? ठंडे मौसम में कोविड-19 से बचाव के उपाय

रिसर्च के बारे में क्या है एक्सपर्ट की राय (Expert's View on Latest Research About COVID-19)

कोविड-19 के मरीजों में विटामिन डी की कमी से जुड़ी ये पहली रिसर्च नहीं है। ऐसा ही दावा मशहूर हेल्थ रिसर्च जर्नल JAMA Open Network में छपे एक अध्ययन में भी किया गया था। इसलिए इन रिसर्च के हवाले से हमने कुछ सवाल सिद्धार्थनगर, उत्तरप्रदेश में कार्यरत सीनियर मेडिकल ऑफिसर डॉ. राम आशीष यादव से बातचीत से किए और उनसे विटामिन डी, कोविड-19 और धूप के बीच संबंध को समझने की कोशिश की है। डॉ. आशीष अगस्त महीने में मरीजों का इलाज करते हुए खुद भी कोविड-19 का शिकार हुए थे, लेकिन अब पूरी तरह ठीक हैं। उन्होंने हमारे सवालों के जवाब इस प्रकार दिए-

कोविड-19 और विटामिन D के बारे में सामने आई नई रिसर्च को आप किस तरह देखते हैं? (Coronavirus Infection and Vitamin D)

डॉ. आशीष कहते हैं, "कोविड-19 एक बिल्कुल नई बीमारी है, जिसके बारे में अभी बहुत कुछ पता लगाया जा रहा है। ये रिसर्च बहुत छोटे स्तर पर की गई है, जिसमें सिर्फ 216 लोग शामिल थे। इसलिए रिसर्च से किसी निष्कर्ष पर पहुंचना तो कठिन है। लेकिन पूर्व में प्रकाशित कुछ रिसर्च को भी ध्यान में रखें, तो इस कनेक्शन को समझना आसान हो सकता है। शरीर में विटामिन डी की कमी को कई समस्याओं से जोड़कर देखा जाता है जैसे- हाइपरटेंशन (हाई ब्लड प्रेशर), डायबिटीज, मोटापा आदिऔर ये सभी कोविड-19 के रिस्क फैक्टर को बढ़ाने वाली बीमारियां हैं। यह तो लगातार देखा ही जा रहा है कि कोविड-19 का शिकार होने के बाद उन मरीजों की स्थिति ज्यादा गंभीर हो जाती है, जो इन बीमारियों का शिकार पहले से होते हैं।"

vitamin d and sunlight to prevent covid-19

विटामिन D को बढ़ाने में धूप मददगार है, तो क्या धूप कोविड-19 से भी बचा सकती है? (Can Sunlight Prevent Risk of COVID-19 or Coronavirus Infection)

इस सवाल पर डॉ. आशीष ने बताया, "शरीर में विटामिन डी बढ़ाने के लिए धूप अच्छी मानी जाती है, ये बात सही है। कई रिसर्च विटामिन डी को इम्यूनिटी से भी जोड़ती हैं। इसलिए धूप सेंकने में कोई बुराई नहीं है। अब तो सर्दियों का मौसम आ गया है, इसलिए गुनगुनी धूप में बैठना अच्छा ही है। लेकिन ये कहना ठीक नहीं होगा कि धूप आपको कोविड-19 या कोरोना वायरस से बचा सकती है। दरअसल इस वायरस को फैलने से रोकने में धूप का कोई महत्व नहीं है, वर्ना ये वायरस गर्मियों में ही खत्म हो गया होता। इसको फैलने से रोकना है तो वही 3-4 बातें फॉलो करनी पड़ेंगी कि मास्क पहनें, हाथ धोते रहें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और इम्यूनिटी मजबूत रखें आदि। लेकिन धूप सेंकने की आदत आपके लिए ऐसे फायदेमंद हो सकती है कि अगर आप कोविड-19 का शिकार होते हैं, तो आपकी हालत ज्यादा गंभीर न हो और आपको सीरियस कॉम्प्लिकेशन्स न झेलने पड़ें। अगर शरीर में विटामिन डी का स्तर अच्छा रहेगा, तो वायरस से रिकवरी में आसानी हो सकती है।"

इसे भी पढ़ें: क्या धूप आपको फेफड़ों के रोगों से बचाती है? जानें लंग्स की बीमारियों और विटामिन डी का संबंध

क्या रोजाना धूप में बैठना और किसी तरह से भी फायदेमंद है? (Benefits of Sitting in Sunlight and Vitamin D for Health)

डॉ. आशीष ने इस पर बताया, "सुबह की गुनगुनी धूप में बैठना फायदेमंद को है ही, इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता है। धूप की अल्ट्रावॉयलेट किरणें जब त्वचा से टकराती हैं, तो स्किन सेल्स में मौजूद कोलेस्ट्रॉल को विटामिन डी में बदलती हैं। ये विटामिन D शरीर के लिए कई तरह से महत्वपूर्ण है। हड्डियों और मांसपेशियों के लिए विटामिन डी अच्छा होता है। इसलिए ऑस्टियोपोरोसिस (हड्डियों की कमजोरी), गठिया और नर्व्स की समस्याओं से परेशान लोगों के लिए धूप में बैठना अच्छा है। इसके अलावा कुछ स्टडीज यह भी बताती हैं कि धूप डिप्रेशन से बचाती है और मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी अच्छी है। इसलिए रोज सुबह गुनगुनी धूप में थोड़ी देर बैठने से मूड भी सही रहता है।"

ये आर्टिकल सीनियर मेडिकल ऑफिसर डॉ. राम आशीष यादव से बातचीत पर आधारित है।

Read More Articles on Other Diseases in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK