• shareIcon

शरीर में इन 3 चीजों की कमी के कारण पुरुष नहीं बन पाते पिता, जानें कैसे दूर करें ये समस्या

पुरुष स्वास्थ्य By जितेंद्र गुप्ता , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jul 19, 2019
शरीर में इन 3 चीजों की कमी के कारण पुरुष नहीं बन पाते पिता, जानें कैसे दूर करें ये समस्या

बदलती जीवनशैली, खराब खान-पान और तनाव के कारण पुरुष कई समस्याओं का शिकार हो जाते हैं और उनका पिता बनने का सपना भी टूट जाता है। पुरुषों के शरीर में इन तीन चीजों की कमी उन्हें पिता बनने से रोकती है। 

शादी के बाद अक्सर हर पुरुष पिता बनने का सपना देखता है और अपने जीवन में इस सुख की प्राप्ति करना चाहता है लेकिन बदलती जीवनशैली, खराब खान-पान और तनाव के कारण पुरुष कई समस्याओं का शिकार हो जाते हैं और उनका पिता बनने का सपना भी टूट जाता है। दरअसल पुरुषों के शरीर में इन कारणों से कुछ ऐसी चीजों की कमी हो जाती हैं, जिसके कारण उन्हें पिता बनने में कई प्रकार कि दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

अगर आप भी ऐसी किसी समस्या से जूझ रहे हैं और आपको इसके पीछे के कारण ज्ञात नहीं हैं तो हम आपको पुरुषों के शरीर में होने वाली कुछ ऐसे चीजों की कमी के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसके कारण पुरुष पिता बनने में महरूम रह जाते हैं। आपको बता दें कि शरीर में इन तीन चीजों की कमी पुरुषों को पिता बनने से रोकती है।

टेस्टोस्टेरोन की कमी

टेस्टोस्टेटरॉन एक प्रकार का हार्मोन है, जो पुरुषों के टेस्टिकल्स में मौजूद होता है। इस हार्मोन के कारण ही पुरुषों में यौन इच्छा जागती है। इस हार्मोन का संबंध यौन क्रियाओं, रक्त संचार, मांसपेशियों की मजबूती, एकाग्रता और स्मृ्ति से भी जुड़ा होता है। पुरुषों में चिड़चिड़ापन  या फिर जरा-जरा सी बातों पर गुस्सा आना टेस्टोस्टेरॉन की कमी के कारण होता है। पुरुषों के पिता बनने में इन टेस्टोस्टेरोन हार्मोन्स की बेहद अहम भूमिका होती है। लेकिन इन हार्मोन्स की कमी के कारण पुरुष चाह कर भी पिता नहीं बन पाता। हालांकि डॉक्टर से सलाह और अपने सेहत व खान-पान पर ध्यान देने से इन हार्मोन को बढ़ाया जा सकता है।

टेस्टोस्टेरॉन की कमी के संकेत

  • चिड़चिड़ापन
  • वजन बढ़ना
  • दिल की समस्‍या
  • कामेच्‍छा में कमी
  • थकान की समस्‍या
  • मांसपेशियों पर असर

टेस्टोस्टेरॉन के स्तर का पता लगाने के लिए खून की जांच कराई जा सकती है ।अगर शरीर में टेस्टोस्टेरॉन का स्तर कम होता है, तो चिकित्सक की सलाह से इस हार्मोन के लेवल को बढ़ाया जा सकता है।

इसे भी पढ़ेंः खाली पेट लहसुन खाने से पुरुषों में दूर होती है नामर्दी की समस्या, जानें इसके 5 फायदे

एस्ट्रोजन की कमी

एस्ट्रोजन, स्टेरोएड हार्मोन का एक समूह है, जो महिला व पुरुष दोनों में पाया जाता है लेकिन यह अधिकतर महिलाओं में पाया जाता है, इसके कारण उनकी प्रजनन क्षमता भी प्रभावित होती है। एस्ट्रजेन हार्मोन के कारण ही महिलाओं और पुरुषों में भिन्नताएं पाई जाती है। शरीर में एस्ट्रोजन की कमी के कारण पुरुषों के शुक्राणु कमजोर हो जाते हैं, जिसके कारण वह महिलाओं के एग को फर्टलाइज नहीं कर पाते। इस कारण से भी पुरुषों को पिता बनने में दिक्कत का सामना करना पड़ता है। इतना ही नहीं इन हार्मोन की कमी से पुरुषों की सेहत पर भी खराब असर पड़ता है। एस्ट्रोजन हार्मोन्स को सामान्य रखने के लिए पौष्टिक आहार लेना बेहद जरूरी है।

एस्ट्रोजन हार्मोन को बढ़ाने का उपाय

  • सीमित एक्सरसाइज करें और योग को अपने वर्कआउट रूटीन में शामिल करें।
  • संतुलित, कम फैट वाला और अधिक रेशेदार भोजन खाएं। 
  • अलसी, अंडे, सूखे मेवों और चिकन जैसे ओमेगा-3 युक्त आहार को अपनी डाइट में शामिल करें। 
  • रोजाना 7 से 8 घंटे की नींद लें। दरअसल कभी-कभी अनिद्रा के कारण हार्मोन असंतुलन हो जाता है।
  • पर्याप्त रूप से पानी पीएं और शरीर में पानी की कमी न होने दें। 
  • चाय, कॉफी, शराब के सेवन से बचें।
  • ग्रीन टी या नरियल पानी को अपनी डाइट में शामिल करें।

इसे भी पढ़ेंः पुरुषों के लिए शर्मिंदगी का कारण बनती हैं उनकी ये 5 समस्याएं, कहीं आपको तो नहीं ये

कैल्शियम की कमी

पुरुषों के लिए शरीर में कैल्शियम की कमी होना ठीक नहीं है। अमेरिकन हेल्थ ऑफ मेडिसिन के एक अध्ययव के मुताबिक, कैल्शियम की कमी होने से पुरुषों के शुक्राणुओं की गुणवत्ता खराब हो जाती हैं, जिसके कारण उन्हें पिता बनने में परेशानी होती हैं। इसलिए अगर किसी पुरुष को पिता बनने में परेशानी हो रही हैं तो उसे कैल्शियम युक्त आहार का सेवन करना चाहिए और डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। ऐसा करने से उनकी ये समस्या धीरे-धीरे समाप्त हो जाएगी।

कैल्शियम की कमी दूर करने के उपाय

  • गेहूँ, बाजरा व रागी का अधिक सेवन करें 
  • हो सके तो नारियल का गुड़, शकरकंद (रतालू) खाने की आदत डालेंय़ 
  • डेयरी उत्पादों का सेवन बढ़ाएं। 
  • मूंग दाल, राजमा, सोयाबीन, चना, मोठ को सेवन करें क्योंकि इन्हें कैल्शियम का अच्छा स्त्रोत कहा जाता है। 
  • कढ़ी पत्ता, पत्ता गोभी, अरबी के पत्ते, सुरजने के पत्ते, मैथी, मूली के पत्ते, पुदीना हरा, धनिया, ककड़ी, सेम ग्वारफली, गाजर, भिंडी, टमाटर को अपने आहार का हिस्सा बनाएं। 
  • मुनक्का, बादाम, पिस्ता, अखरोट व तरबूज भी आपको कैल्शियम देने में फायदेमंद है।

ये सभी प्राकृतिक रूप से कैल्शियम प्रदान करने वाले तत्व हैं। बता दें कि शरीर को प्रतिदिन 0.8 से 1.3 ग्राम कैल्शियम की आवश्यकता होती है।

Read More Articles On Men's Health In Hindi

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।