• shareIcon

बाल भी खोलते हैं आपकी सेहत से जुड़े कई राज, जानें क्या कहते हैं आपके बाल

बालों की देखभाल By जितेंद्र गुप्ता , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Aug 15, 2019
 बाल भी खोलते हैं आपकी सेहत से जुड़े कई राज, जानें क्या कहते हैं आपके बाल

शरीर को सेहत का आईना माना जाता है। जब सेहत गड़बड़ होती है तो उसका सबसे पहला असर शरीर पर दिखाई देता है। अगर आपके बालों व स्कैल्प में भी पिछले कुछ समय से बदलाव हो रहा है तो इसका अर्थ है कि आपको अब अपनी सेहत पर थोड़ा ध्यान देने की जरूरत है।

बालों को यूं तो हमेशा व्यक्ति की खूबसूरती से जोड़कर देखा जाता है और जब व्यक्ति को असमय बालों के सफेद होने, पतले होने, बालों के झड़ने व अन्य तरह की बालों की समस्याओं का सामना करना पड़ता है तो इसके लिए तनाव, प्रदूषण, गलत लाइफस्टाइल व खानपान की आदतों को जिम्मेदार ठहराया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि बालों में आने वाले बदलाव सिर्फ गलत लाइफस्टाइल के कारण ही नहीं होता। आपकी हेल्थ में गड़बड़ होने पर भी ऐसा होता है। अगर आप समय रहते इन बदलावों को समझते हैं और उसके लिए कदम उठाते हैं तो आप यकीनन एक स्वस्थ जीवन जी सकते हैं। तो चलिए जानते हैं बालों में होने वाले बदलाव किस बीमारी का संकेत देते हैं-

डैंड्रफ 

डैंड्रफ यूं तो किसी गंभीर समस्या का संकेत नहीं देते, लेकिन इसके पीछे का एक कारण फंगस हो सकता है। वैसे सोरायसिस होने पर भी सिर की त्वचा पर चकते या व्हाइट फलैक्स की समस्या हो सकती है। इसलिए इसे इग्नोर न करें। अगर घरेलू उपायों से आपको डैंड्रफ से निजात न मिले तो एक बार चिकित्सक से संपर्क अवश्य करें।

इसे भी पढ़ेंः  बालों का झड़ना रोक देगा नीम के पत्‍तों से तैयार शैम्‍पू, तेल और हेयरपैक, जानें बनाने और इस्‍तेमाल का तरीका

येलो डैंड्रफ 

कई बार सिर में इस तरह के डैंड्रफ फ्लेक्स नजर आते हैं, जो देखने में चिकने व पीले होते हैं। यह सेबोरहाइक डर्मेटाइटिस का एक संकेत है। सेबोरहाइक डर्मेटाइटिस हार्मोन, फंगस और यहां तक कि कुछ न्यूरोलॉजिकल स्थितियों जैसे पार्किंसंस रोग या एचआईवी से संबंधित है, इसलिए इसे हल्के में बिल्कुल भी नहीं लिया जाना चाहिए।

बालों का झड़ना

बालों का झड़ना आज के समय में एक आम समस्या है। कुछ हद तक बालों का झड़ना सामान्य है, लेकिन अगर आपके बाल बहुत अधिक मात्रा में टूटते हैं तो इसके पीछे का एक कारण शरीर में आयरन व प्रोटीन की कमी हो सकती है। इसके अतिरिक्त अत्यधिक तनाव होने पर भी बालों के झड़ने की समस्या शुरू होती है। वहीं थायराइड की समस्या होने पर भी बालों का झड़ना काफी बढ़ जाता है। वहीं महिलाओं में प्रसव के बाद भी बालों के झड़ने की समस्या शुरू होती है, इसलिए अगर आपके बाल असामान्य रूप से झड़ रहे हैं तो वक्त आ गया है कि आप एक हेल्थ चेक लें।

इसे भी पढ़ेंः  इन 5 स्वास्थ्य स्थितियों में महिलाओं के झड़ते हैं बाल, जानें कौन सी हैं ये समस्याएं

पतले बाल 

पतले बालों के पीछे कई कारण जिम्मेदार हो सकते हैं। इनमें हेयर ट्रीटमेंट्स के अतिरिक्त आनुवशिंक कारण भी जिम्मेदार हो सकते हैं। इसके अतिरिक्त पोषण की कमी और पीसीओएस जैसी हार्मोनल समस्याएं भी पतले बालों का कारण बनती हैं।

बालों का सफेद होना

उम्र बढ़ने के साथ-साथ बालों का सफेद होना सामान्य है, लेकिन अगर आपके बाल असमय ही सफेद हो रहे हैं तो यह शरीर में पोषक तत्वों की कमी की ओर इशारा करते हैं। खासतौर से शरीर में विटामिन बी की कमी और थॉयराइड की समस्या होने पर लोगों के बाल असमय सफेद होने लगते हैं।

बालों में रूखापन

बालों की सही तरह से केयर न करने के कारण उनमें रूखापन आने लगता है, लेकिन कई बार यह आपके हेल्थ के बारे में भी बताता है। खाने में पौष्टिक तत्वों की कमी और हाइपोथाइरोडिज्म के कारण भी बालों में रूखापन बढ़ने लगता है।

Read More Articles On Hair Care in Hindi

 

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।