धूल-मिट्टी या कम्‍प्‍यूटर पर काम करना हो सकता है आंखों में खुजली का कारण, जानें क्‍या हैं इसके घरेलू उपाय

Updated at: Jul 17, 2020
धूल-मिट्टी या कम्‍प्‍यूटर पर काम करना हो सकता है आंखों में खुजली का कारण, जानें क्‍या हैं इसके घरेलू उपाय

क्‍या आपकी आंखों में भी बार-बार खुजली होती है या आप आंख मिचलते हैं? तो इस समस्‍या से निपटने के लिए यहां दिए उपाय अपनाएं। 

Sheetal Bisht
घरेलू नुस्‍खWritten by: Sheetal BishtPublished at: Jul 17, 2020

आंखे, जो कि आपको एक हंसीन दुनिया का एहसास कराने में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाती हैं, उनका ख्‍याल रखना भी बेहद जरूरी है। आंखों में खुजली या जलन होना कभी-कभी आम हो सकता है। यह समस्‍या कई बार बदलते मौसम, देर तक कम्‍प्‍यूटर पर काम करने या फिर धूल मिट्टी आदि के संपर्क में आने से हो सकती है। लेकिन ऐसे में आप क्‍या करते हैं आंखों को मिचलने लगते हैं ना? बिलकुल ऐसा ही करते होंगे, क्‍योंकि हम में से अधिकतर लोग यही करते हैं। लेकिन कई बार आंखों में खुजली के पीछे एलर्जी, इंफेक्‍शन और कुछ अंतर्निहित चिकित्सा स्थितियां हो सकती हैं। आइए यहां आप आंखो में खुजली के कारण, लक्षण और कुछ घरेलू उपाय जानिए, जिन्‍हें आपको आंखों में खुजली होने पर आजमाना चाहिए?

Itchy Eyes Cause

आंखों में खुजली के कारण 

यहां आंखों में खुजली के कुछ सामान्‍य कारण बताएं गए हैं: 

  • आंखों में नमी की कमी के कारण ड्राई आई सिंड्रोम
  • धूल मिट्टी या बैक्‍टीरिया के कारण ब्लेफेराइटिस 
  • लेंस के कारण होने वाली एलर्जी जायंट पैपिलरी कंजक्टिवाइटिस
  • आंखों में इंफेक्‍शन के कारण 
  • आंखों में धूया फिर कीट-पतंग के चले जाने से 
  • कंप्यूटर के सामने लंबे समय तक बैठने से 
  • शुष्क हवा, एयर कंडीशनिंग और धूम्रपान जैसी पर्यावरणीय स्थिति

खुजलीदार आंखों के लक्षण

  • आंखों में जलन
  • लगातार पानी या ड्राई आँखें
  • आँखों का लाल होना 

आंखों में खुजली से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय 

1. कच्‍चा दूध 

आप अपने आंखो की जलन और खुजली को शांत करने के लिए कच्‍चे दूध या फिर ठंडे दूध का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। यह आपकी आंखों की सूजन और खुजली को दूर करेगा। 

Raw Milk For Eys

इसके लिए आप एक कॉटन पैड या रूई लें। अब आप एक कटोरी में थोड़ा सा दूध लें और कॉटन पैड को दूध में भिगोकर आंखों में लगाएं। इसे आंखों पर 10 मिनट के लिए छोड़ दें। ऐसा करने से आपको राहत मिलेगी। 

2. खीरा या आलू की स्‍लाइस 

खीरा एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर है और त्वचा की जलन पर सुखदायक प्रभाव डालता है, जबकि आलू एंटी इंफ्लामेटरी गुणों और सूजन को कम करने में मदद करता है। आलू और खीरा खुजलीदार आंखों से राहत पाने का एक सरल उपाय हैं। 

आप कच्‍चे आलू और खीरे को गोल स्‍लाइस में काटरक फ्रिज में रख लें। अब इन्‍हें अपने आंखों के ऊपर 15-20 मिनट के लिए छोड़ दें। यह आपकी आंखों की जलन और खुजली को कम करने में मददगार हैं। 

इसे भी पढ़ें: कान में फुंसी या पिंपल से पाना है छुटकारा, तो आजमाएं ये 4 घरेलू उपाय

Potato For Eyes

3. टी बैग

टी बैग आपको आंखों के नीचे के डार्क सर्कल्‍स से लेकर आंखों की जलन और खुजली को दूर करने में मददगार है। आप ग्रीन टी बैग या सामान्‍य टी बैग का इस्‍तेमाल कर सकते हें। ग्रीन टी में मौजूद एपिगैलोकैटेचिन गैलेट आपकी आंखों की खुजली को शांत करने में मददगार है।

आप चाय बनाने के बाद टी बैग को 20 से 30 मिनट रेफ्रिजेटर में रखें और फिर टी बैग को अपनी आंखों पर रखें। यह आपको डार्क सर्कल्‍स, पफी आईज  और खुलीदार आंखों से राहत देने में मदद करेगा। 

4. गुलाबजल 

गुलाबजल में एंटी इंफ्लामेटरी और हाइड्रेटिंग गुण होते हैं। यह आपकी आंखों की सफाई करने और खुजलीदार आंखो के लिए काफी फायदेमंद है। आपको बस गुलाजल लेना है और फिर उसमें रूई या कॉटन पैड की मदद से अपने आंखों की सफाई करनी है। इसके अलावा, कुछ देर आप गुलाबजल में भीगी कॉटन बॉल को अपनी आंखों के ऊपर रख सकते हैं। यह सबसे आसान और सुरक्षित नुस्‍खा है। आप गुलाबजल को एक आई ड्रॉप के तौर पर भी इस्‍तेमाल कर सकते हैं। 

Rose Water For Eyes

5. एसेंशियल ऑयल 

आप आंखो में खुजली की समस्‍या के लिए टी ट्री ऑयल या लैवेंडर एसेंशियल ऑयल का उपयोग कर सकते हैं। लैवेंडर ऑयल में एंटी इंफ्लामेटरी और एनाल्जेसिक गुण होते हैं, जबकि टी ट्री ऑयल में एंटी इंफ्लामेटरी और एंटी माइक्रोबियल गुण होते हैं। ये दोनो ही तेल आंखों की खुजली और सूजन को शांत करने में मदद कर सकते हैं। आप इनमें से किसी भी एक तेल का उपयोग कर सकते हैं। 

आंखों की खुजली के लिए आप लैवेंडर या टी ट्री ऑयल की 4 से 5 बूंदों को 1 चम्‍मच नारियल तेल में मिलाएं । इसके बाद आप इस मिश्रण को आंखों के चारों ओर लगाएं और 50-20 मिनट रखने के बाद चेहरा धो लें। 

Read More Article On Home Remedies In Hindi 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK