दौड़ने से पहले जान लें ये 10 नियम, हाई ब्लड प्रेशर या हार्ट पेशेंट न करें ये गलत

Updated at: Sep 24, 2020
दौड़ने से पहले जान लें ये 10 नियम, हाई ब्लड प्रेशर या हार्ट पेशेंट न करें ये गलत

अचानक से दौड़ शुरू करेंगे तो फायदा कम और नुकसान ज्यादा होगा। इसके अलावा कब दौड़ें और कब नहीं इसकी भी जानकारी होनी जरूरी है। जानें दौड़ के नियम...

सम्‍पादकीय विभाग
एक्सरसाइज और फिटनेसWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Sep 23, 2020

अपनी सेहत और फिटनेस को लेकर आजकल लोग काफी जागरूक रहते हैं। ऐसे में लोगों ने सुबह की दौड़ और शाम की वॉक को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बना रखा है। लेकिन ये लोग रनिंग रूल्स से बेखबर हैं, जिसके कारण शरीर को फायदा कम और नुकसान ज्यादा हो सकता है। जानें इन नियमों के बारे में-

running tips

जानें दौड़ के 10 नियम

  • अचानक दौड़ शुरू करने से पूरी ऊर्जा नहीं मिल पाती इसलिए अपनी शुरुआत वॉर्म-अप से करें। साथ ही अगर आप ब्रिस्क वॉक और जॉगिंग से शुरुआत करेंगे तो ज्यादा फायदा मिलेगा।
  • शुरू में किसी भी पार्क के ट्रैक पर दौड़ें। लंबे कदमों की बजाय छोटे-छोटे कदमों से शुरुआत करें। 
  • अगर आप लक्ष्य तय करके दौड़ेंगे तो आप भटकेंगे नहीं। जैसे- पहले दिन 5 से 7 मिनट का लक्ष्य रखें। एक हफ्ते बाद इस टाइम को 7 से 12 मिनट तक बढ़ा दें। ऐसे ही धीरे-धीरे समय को बढ़ाते रहें।
  • सबसे जरूरी बात दौड़ते वक्त मुंह को बंद रखें और नाक से सांस लें। अगर आप मुंह से सांस लेंगे तो गला जल्दी सूखेगा। इसके अलावा दौड़ के दौरान पानी न पिएं। आप दौड़ने से थोड़ी देर पहले पानी पी सकते हैं। 
  • रात भर सोने से सुबह हमारे शरीर में भरपूर ऊर्जा रहती है। ऐसे में दौड़ने के लिए सुबह का वक्त सबसे अच्छा माना जाता है। हालांकि कुछ लोग शाम को भी दौड़ते हैं लेकिन उस समय इतना फायदा नहीं मिलता क्योंकि दिन भर काम के बाद शरीर थका हुआ रहता है। 
  • भीड़-भाड़ वाली जगह और इयरफोन लगाकर न दौड़ें। साफ-सुथरी जगह पर दौड़ने की कोशिश करें। शुरुआत में सड़क पर दौड़ने से असंतुलन का खतरा रहता है। 
  • दौड़ते वक्त अपनी पॉजिशन का ध्यान रखें। अगर आपका पोस्चर सही नहीं होगा तो गर्दन, कंधे आदि में दर्द हो सकता है। शरीर को सीधा रखें और दौड़ते वक्त हाथों को कमर पर रखें। 
  • दौड़ते वक्त शरीर पर दवाब महसूस न करें। अपनी क्षमता को पहचानें और उत्साह के लिए दौड़ें न कि थकने के लिए। 
  • दौड़ने के अभ्यास की जगह को बदलते रहें। कभी ब्रिज या ऊंची-नीची सड़कों का भी चयन करें। इससे आपकी पॉजिशंस भी बदलती रहेंगी और एक ही मसल्स पर दबाव नहीं पड़ेगा।
  • अगर आपको दौड़ने के बाद थकान हो, पैरों में दर्द हो या हांफ रहे हो तो घबराएं नहीं। शुरुआत में ऐसा होना स्वभाविक है। दर्द के कारण अगर आप दौड़ जारी न रख पाएं तो फिटनेस गतिविधियां करते रहें। 

ऐसी स्थिति में न दौड़ें

प्रेग्नेंसी, हाइ ब्लड प्रेशर या हार्ट पेशेंट्स को दौड़ना नहीं चाहिए। ऐसे लोगों को किसी भी फिटनेस गतिविधि को अपनाने से पहले एक्सपर्ट की सलाह लेनी चाहिए। वजन ज्यादा होने पर चोट का खतरा रहता है। स्लिप डिस्क, स्पाइन सर्जरी या किसी अन्य सर्जरी में भी दौड़ने के लिए मना करते हैं। ऐसी स्थिति में डॉक्टर्स ब्रिस्क वॉक की सलाह देते हैं। अगर आप केवल वजन कम करने के लिए दौड़ रहे हैं तो इसके लिए अपनी डाइट को भी नियंत्रित रखें।

इसे भी पढ़ें- सुबह नाश्ते से लेकर रात के खाने तक ये 9 मिथ वजन कम करना बना देते हैं मुश्किल, कहीं आप तो नहीं इनका शिकार

कुछ जरूरी चीजें

  • ट्रैक सूट
  • कंफर्टेबल शूज़
  • सपोर्टिंग स्पोर्ट ब्रा
  • नी और एंकल कैप

Read More Articles On Exercise and fitness

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK