दिन में किसी भी वक्त चटाई पर बैठकर लगाने लगते हैं ध्यान? ठहरिए, जानें ध्यान लगाने का सही वक्त, मिलेगें फायदे

Updated at: May 10, 2020
दिन में किसी भी वक्त चटाई पर बैठकर लगाने लगते हैं ध्यान? ठहरिए, जानें ध्यान लगाने का सही वक्त, मिलेगें फायदे

क्या आप जानते हैं कि हर दिन ध्यान लगाने से आपकी एकाग्रता बढ़ती है, आपको प्रेरणा मिलती है और साथ ही आप शांत भी रहते हैं। 

 

Jitendra Gupta
तन मनWritten by: Jitendra GuptaPublished at: May 10, 2020

हम अक्सर सोचते हैं कि वक्त आने पर ये करेंगे, वो करेंगे लेकिन सही वक्त कभी नहीं आता है और हम अपने हाथ यूं ही धरे के धरे रखकर बैठे रहते हैं।  हमारे बड़े-बुजुर्गों ने हमेशा से कहा है कि हमें चीजों को करते रहना चाहिए सही वक्त खुद ब खुद आ जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि कोई भी चीज करने का कोई परफेक्ट समय नहीं होता। जब भी आपको लगे कि आप तैयार हैं बस उस चीज को कर दीजिए। ऐसा ही हमें बरसों से सिखाया जाता रहा है। जब भी आपको किसी भी प्रकार की शारीरिक गतिविधि करने का समय मिले तो आपको उस मौके को गंवाना नहीं चाहिए। फिर चाहे वह दिन हो या रात आप सिर्फ कर्म करें फल की चिंता न करें। और ये बात वाकई में हमारे लिए बहुत ही ज्यादा जरूरी है क्योंकि हर कोई अपने व्यस्त जीवन में से कुछ न कुछ वक्त निकालना चाहता है लेकिन काम के चलते ऐसा कर पाना बहुत मुश्किल होता है। ठीक यही बात ध्यान लगाने पर भी लागू होती है। 

meditate

ध्यान लगाने के फायदे

क्या आप जानते हैं कि हर दिन ध्यान लगाने से आपकी एकाग्रता बढ़ती है, आपको प्रेरणा मिलती है और साथ ही आप शांत भी रहते हैं। ध्यान लगाना न सिर्फ आपके लिए शारीरिक रूप से बल्कि मानसिक रूप से भी बहुत ज्यादा फायदेमंद है। सामान्य तौर पर आप दिन में किसी भी वक्त ध्यान लगा सकते हैं। ध्यान लगाने के लिए आपको सिर्फ एक शांत स्थान की जरूरत होती है और इसे आप अपने घर के किसी भी शांत कोने में बैठकर आसानी से कर सकते हैं। लेकिन अगर आप ध्यान लगाने के अधिक से अधिक लाभ उठाना चाहते हैं तो आपको इसे करने का सही समय जरूर पता होना चाहिए और इसे सही समय पर करना भी चाहिए। 

इसे भी पढ़ेंः क्या सुबह 7 बजे के बाद उठने की है आपकी आदत? आयुर्वेद से जानें सुबह उठने का सही वक्त और उसका फायदा

ध्यान लगाने का सही समय

हेल्थ एक्सपर्ट का कहना है कि ध्ंयान लगाने का सबसे सही वक्त सूर्योदय से 2 या ढाई घंटे पहले, जिसका मतलब होता है तड़के। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि इस वक्त सूरज पृथ्वी के 60 डिग्री कोण पर स्थित होता है और किसी भी आध्यात्मिक कार्य को करने के लिए इस वक्त मिलने वाली ऊर्जा सबसे ज्यादा समर्थित होती है। सुबह यानी की तड़के 4 से 6 बजे के बीच के वक्त को जादुई माना जाता है और ये समय बिना किसी बाधा के ब्रह्मांड की ऊर्जा से जुड़ने के लिए बिल्कुल उपयुक्त होता है। 

medi

कब लगाना चाहिए आपको ध्यान

अगर आप ध्यान लगाने के अधिकतम लाभ प्राप्त करना चाहते हैं, तो सुबह सबसे पहले जल्दी उठें और ध्यान लगाएं। एक्सरसाइज के बाद ध्यान लगाने से आपका शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक विकास बेहतर होता है। इंटेंस वर्कआउट करने के बाद कम से कम 15 मिनट तक ध्यान लगाने से आपके दिमाग, शरीर और मांसपेशियों को शांत करने में मदद मिल सकती है। हालांकि, योग के साथ ध्यान सबसे बेहतर होता है। ये संयोजन निरंतर रक्त प्रवाह को बनाए रखता है और ऊर्जा को बढ़ाने का काम करता है।

इसे भी पढ़ेंः Melatonin Increase Tips: कोरोना को सीमित करने में मदद करता है मेलाटोनिन, जानें इसे बढ़ाने के 6 प्राकृतिक उपाय

ध्यान करते समय इन टिप्स को फॉलो करना है जरूरी 

  • अपने लिए एक शांत जगह की तलाश करें। अपने फोन और अन्य गैजेट्स को अपने से दूर रखें ताकि ये आपको बार-बार परेशान न करें।
  • आप चाहे शाम में करें या फिर सुबह बस ध्यान लगाने का एक समय बांध लीजिए। प्रतिदिन एक ही समय पर ध्यान लगाने का अभ्यास करें।
  • सुनिश्चित करें कि ध्यान लगाते हुए आप बिल्कुल सही मुद्रा में बैठे हों।
  • धीमी गति से शुरू करें और फिर धीरे-धीरे अपना समय बढ़ाएं।

Read More Articles On Mind & Body in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK