• shareIcon

शादी के बाद आपके रिश्तों में आते हैं ये बदलाव, संभले नहीं तो कमजोर हो जाएगा रिश्ता

Updated at: Oct 27, 2019
डेटिंग टिप्स
Written by: मिताली जैनPublished at: Oct 27, 2019
शादी के बाद आपके रिश्तों में आते हैं ये बदलाव, संभले नहीं तो कमजोर हो जाएगा रिश्ता

शादी के बाद सिर्फ आपका सरनेम, खाने-पीने या रहने का तरीका ही नहीं बदलता। बल्कि शादी के बाद आपका रिश्ता भी बदल जाता है। आप चाहें या न चाहें, लेकिन शादी के बाद आपके रिश्ते में कुछ बदलाव जरूर आते हैं। 

शादी किसी भी व्यक्ति के जीवन का टर्निंग प्वाइंट होता है। भले ही आप लव मैरिज करें या अरेंज, आपके जीवन में कई बड़े बदलाव आते हैं। जैसे- शादी के बाद लड़का-लड़की का एक ही रूम, अलमारी यहां तक कि बेड शेयर करना या फिर लड़की का सरनेम बदल जाना या फिर आपकी स्टाइलिंग में बदलाव। यह कुछ ऐसे बदलाव होते हैं, जो हर किसी के जीवन में आते हैं।  लेकिन क्या आप इस बात से वाकिफ हैं कि शादी सिर्फ आपका लाइफस्टाइल ही नहीं बदलती, बल्कि विवाह के सात फेरे आपके रिश्ते को भी बदल देता है। आप मानें या न मानें, विवाह से पहले और बाद में रिश्ते में काफी चेंजेस देखेन को मिलते हैं। तो चलिए आज हम आपको उन बदलावों के बारे में बता रहे हैं-

अधिक ओपन होना

शादी से पहले कपल्स के मन में एक-दूसरे को खोने का डर हमेशा बना रहता है और इसलिए वह कई बातें एक-दूसरे को नहीं बताते। लेकिन शादी अपने साथ रिश्ते में एक सुरक्षा की भावना लेकर आती है। शादी के बाद पति-पत्नी एक-दूसरे से अधिक ओपन हो जाते हैं और अपने जीवन की अच्छी -बुरी सभी बातें आसानी से शेयर कर लेते हैं क्योंकि वह अपने पार्टनर को अपने सपोर्ट सिस्टम के रूप में देखते हैं। इतना ही नहीं, शादी के बाद आपको अलग से दिखावा करने की जरूरत नहीं होती क्योंकि आपका लाइफ पार्टनर आपकी हर अच्छी-बुरी चीज को खुले दिल से स्वीकारता है।

इसे भी पढ़ेंः शादी के बाद हर किसी की जिंदगी में आते हैं ये 6 बदलाव, संभले नहीं तो बढ़ सकती हैं मुश्किल

एक अलग स्वरूप

शादी के बाद हर व्यक्ति को अपने पार्टनर का एक दूसरा पहलू भी देखने को मिलता है और यह स्वरूप केवल शादी के बाद ही सामने आता है। शादी से पहले आप दोनों एक-दूसरे से कुछ वक्त के लिए मिलते होंगे और उस समय यकीनन आपको सामने वाले व्यक्ति की सिर्फ अच्छाईयां ही दिखती होंगी। लेकिन उसका वास्तविक स्वभाव शादी के बाद ही नजर आता है। मसलन, हो सकता है कि आपका पार्टनर आपको लेकर केयरिंग हो, लेकिन खुद के प्रति लापरवाह हो। वह अपनी अलमारी को कभी भी साफ न रखता हो या चीजों को यूं ही इधर-उधर छोड़ देता हो। उसका यह नया रूप आपको तभी पता चलेगा, जब आप शादी के बाद एकसाथ रहना शुरू करेंगे।

मिलकर निर्णय लेना

चूंकि शादी के बाद आपके फैसले सिर्फ आपको ही प्रभावित नहीं करते, बल्कि आपके जीवनसाथी पर भी इसका प्रभाव पड़ता है और इसलिए अमूमन कपल्स शादी के बाद बहुत से निर्णय मिलकर लेते हैं। खासतौर से, फाइनेंशियल प्लानिंग व खर्चों के बारे में तो दोनों मिलकर डिस्कस करते हैं ताकि वह एक बेहतर व खुशहाल भविष्य प्लान कर सकें। इस तरह शादी के बाद आपके निर्णय सिर्फ आपके ही नहीं रह जाते, बल्कि कोई भी निर्णय लेते समय आप अपने अलावा अपने पार्टनर व फैमिली के बारे में भी सोचने लग जाते हैं।

अपेक्षाकृत अधिक मजबूत रिश्ता

भले ही आप शादी से पहले एक-दूसरे को कितना भी प्यार करते हों, लेकिन उस रिश्ते को मजबूती विवाह ही देता है। दरअसल, शादी आपके मन की सभी उलझनें, रिश्ते को लेकर हर तरह की इनसिक्योरिटी दूर कर देती है। ऐसे में आपके रिश्ते को गजब की मजबूती मिलती है।

इसे भी पढ़ेंः अपनी शादीशुदा जिंदगी को इन 5 तरीकों से बनाएं परफेक्ट, सालों तक बना रहेगा रिश्ता

रिश्ते में ठहराव 

जब शादी से पहले कपल के बीच झगड़ा होता है तो वह जरा सी बात पर भी ब्रेकअप करने के लिए तैयार हो जाते हैं, लेकिन विवाह उनके रिश्ते में ठहराव लेकर आता है। शादी होने के बाद झगड़ा होने पर वह अलग होने की बजाय उन प्रॉब्लम्स को सुलझाने के बारे में सोचते हैं। इस तरह उनका आपसी तालमेल बेहतर होता है और समय के साथ उनका रिश्ता अटूट बनता चला जाता है।

प्राथमिकताओं का बदलना

शादी के बाद हर व्यक्ति की प्राथमिकताएं बदल जाती हैं। मसलन, समय होने पर आप बाहर जाने या पार्टी करने की जगह अपने पार्टनर के साथ समय बिताना अधिक पसंद करते हैं। शादी के बाद दोस्तों से ज्यादा व्यक्ति अपनी फैमिली को टाइम देना चाहता है। इतना ही नहीं, शादी के बाद आप एक-दूसरे के साथ अधिक समय बिता पाते हैं और इससे भी रिश्ते में मजबूती आती है।

Read More Articles On Marriage in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK