चेहरे पर छोटे-छोटे पस भरे लाल दाने हो सकते हैं कॉमेडोनल मुंहासे, एक्सपर्ट से जानें इन मुंहासों का कारण और इलाज

Updated at: Oct 21, 2020
चेहरे पर छोटे-छोटे पस भरे लाल दाने हो सकते हैं कॉमेडोनल मुंहासे, एक्सपर्ट से जानें इन मुंहासों का कारण और इलाज

कॉमेडोनल मुंहासे नॉर्मल मुंहासों से थोड़ा अलग होते हैं। डर्मेटोलॉजिस्ट से जानें ये मुंहासे क्यों होते हैं और इन्हें रोकने के लिए आपको क्या करना चाहिए।

Anurag Anubhav
त्‍वचा की देखभालReviewed by: डॉक्टर अजय राणा, डर्मेटोलॉजिस्ट एंड एस्थेटिक मेडिसीन फिजिशियन Published at: Oct 21, 2020Written by: Anurag Anubhav

मुंहासे एक आम त्वचा समस्या है, जो किसी भी उम्र में हो सकती है। लेकिन आमतौर पर मुंहासे टीनएज में परेशान करते हैं। मुंहासे लाल रंग के छोटे-छोटे दाने होते हैं, जो त्वचा पर उभर आते हैं और लंबे समय तक बने रहते हैं। ये मुंहासे भी कई प्रकार के होते हैं। इनमें से एक है कॉमेडोनल मुंहासे (Comedonal acne), जिसमें त्वचा पर छोटे-छोटे से लाल रंग के दाने त्वचा पर उभर आते हैं, जिनमें पस भरा होता है। ये मुंहासे आमतौर पर माथे, गाल और ठोड़ी पर उभरते हैं। इसके अलावा कई बार कंधे, गर्दन और पीठ पर भी ऐसे मुंहासे उभर सकते हैं। इन कॉमेडोनल मुंहासों के कारण व्यक्ति को काफी दर्द का सामना करना पड़ता है। इन मुंहासों के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए ओनलीमायहेल्थ की टीम ने सीनियर डर्मेटोलॉजिस्ट डॉ. अजय राणा से बात की। आइए आपको बताते हैं कि डॉ. राणा ने इन कॉमेडोनल मुंहासों के बारे में क्या बताया है।

comedonal acne causes and treatment

कॉमेडोनल मुंहासे होने का कारण क्या है?

डॉ. अजय राणा बताते हैं कि कॉमेडोनल मुंहासे त्वचा के रोमछिद्रों (हेयर फॉलिकल्स) के ब्लॉक होने पर होते हैं। ये ब्लॉकेज आमतौर पर धूल कणों, मृत कोशिकाओं (डेड स्किन सेल्स) और अतिरिक्त तेल के कारण होते हैं। हेयर फॉलिकल्स के ब्लॉक हो जाने के कारण त्वचा पर छोटे-छोटे दाने या ब्लैकहेल्ड उभर आते हैं। कॉमेडोनल मुंहासे सामान्य मुंहासों की तरह नहीं दिखते हैं।

इसे भी पढ़ें: घर में रहकर इन दिनों ज्यादा निकलने लगे हैं पिंपल्स तो कारण हो सकती हैं ये 4 गलतियां, जानें कैसे पाएं छुटकारा

कॉमेडोनल मुंहासों को बढ़ावा दे सकते हैं ये कारक

कॉमेडोनल मुंहासों का मुख्य कारण तो हेयर फॉलिकल्स का ब्लॉकेज ही है। लेकिन कई बार रोजमर्रा से जुड़ी कई गलतियां इन मुंहासों को बढ़ावा देती हैं। इसलिए अगर किसी व्यक्ति को चेहरे या शरीर के अन्य अंगों में बहुत ज्यादा मुंहासों की समस्या है, तो उसे इन सामान्य गलतियों को करने से बचना चाहिए-

  • बहुत ज्यादा ऑयली/फ्राइड फूड्स और जंक फूड्स खाने से
  • तंबाकू के सेवन से या धूम्रपान की आदत से
  • दूध और दूध से बने दूसरे प्रोडक्ट्स का सेवन करने से
  • चेहरे पर बहुत ज्यादा स्किन केयर प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल से
  • रात में सोने से पहले मेकअप न साफ करने से
  • हाई ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले आहारों का सेवन करने से

कॉमेडोनल मुंहासों को दूर करने के लिए क्या करें?

डॉ. अजय राणा के अनुसार कॉमेडोनल मुंहासों को दूर करने के लिए आप डर्मेटोलॉजिस्ट से संपर्क कर सकते हैं। इस तरह के मुंहासों के लिए आमतौर पर सैलिसिलिक एसिड, बेंजॉइल परऑक्साइड, डिफ्रिन, टॉपिकल रेटिनॉइड्स, एजेलाइक एसिड आदि के प्रयोग की सलाह दी जाती है। लेकिन इसका चुनाव डर्मेटोलॉजिस्ट की सलाह से ही करें कि आप किस चीज का प्रयोग करेंगे।

इसे भी पढ़ें: चेहरे पर ही क्यों ज्यादा निकलते हैं पिंपल्स? जानें इससे बचने के लिए 6 जरूरी बातें

comedonal acne in hindi

कॉमेडोनल मुंहासों को रोकने के लिए कुछ जरूरी टिप्स

डॉ. राणा ने कॉमेडोनल मुंहासों को रोकने के लिए कुछ खास टिप्स बताए हैं, जिन्हें अपनाकर आप किसी भी तरह के मुंहासों की समस्या होने से रोक सकते हैं।

  • अपने चेहरे को हर रोज कम से कम 2 बार जरूर धोएं। 2 बार से ज्यादा चेहरा धोना भी ठीक नहीं है क्योंकि इससे त्वचा ड्राई हो जाती है और त्वचा रोग बढ़ सकते हैं।
  • स्किन केयर प्रोडक्ट्स का चुनाव ठीक तरह से करें, जैसे- हमेशा नॉन ऑयली मॉइश्चराइजर्स, अच्छी क्वालिटी के क्लींजर्स और कॉस्मेटिक्स का प्रयोग करें, जिससे त्वचा के रोमछिद्रों में अतिरिक्त तेल न बढ़े और ब्लॉकेज न हो।
  • सोने से पहले हमेशा अपना मेकअप हटाकर (उतारकर) ही सोएं। मेकअप लगाए हुए सो जाने से आपके त्वचा के पोर्स ब्लॉक हो जाते हैं और फिर उनमें मुंहासे पैदा होते हैं।
  • जांच लें कि आपके मेकअप रिमूवर में एल्कोहल का प्रयोग न हो, ताकि आपको जलन और खुजली की समस्या न हो। एल्कोहल त्वचा को ड्राई बना देता है।
  • त्वचा पर ज्यादा देर तक तेल को न लगा रहने दें।
  • नहाने के बाद त्वचा को ड्राईनेस से बचाने के लिए ऑयल-फ्री मॉइश्चराइजर का प्रयोग करें।

Read More Articles on Skin Care in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK