एक्सरसाइज के दौरान इलेक्ट्रोलाइट क्यों है जरूरी? बता रहे हैं एक्सपर्ट

Updated at: Nov 10, 2020
एक्सरसाइज के दौरान इलेक्ट्रोलाइट क्यों है जरूरी? बता रहे हैं एक्सपर्ट

जिम जाने वालों के पास हमेशा पानी की एक-दो बोतलें देखने को मिलती है। क्योंकि शरीर में नमी को बनाए रखने के लिए पानी अहम भूमिका निभाता है।

Garima Garg
एक्सरसाइज और फिटनेसWritten by: Garima GargPublished at: Nov 10, 2020

एक्सरसाइज करते हैं या खेलों में हिस्सा लेते हैं हमारे कपड़ों पर सफेद रंग का पसीना जैसा कुछ पदार्थ चिपका रह जाता है। इसका संबंध इलेक्ट्रोलाइट से होता है जो पसीने के साथ हमारे शरीर से निकलता है। ऐसे में अब सवाल ये है कि हम उन खोए हुए इलेक्ट्रोलाइट की कमी को पूरा कैसे करें?

यदि हम खुद को रीहाइड्रेट करने यानी शरीर में नमी बनाएं रखने के लिए सिर्फ पानी पीते हैं तो इससे असंतुलन पैदा होता है। साथ ही वाटर इंटोक्सीकेशन को भी बढ़ावा भी मिल सकता है। क्योंकि सिर्फ पानी पीते रहने से शरीर इलेक्ट्रोलाइट कम हो जाता है। बता दें कि इलेक्ट्रोलाइट हमारे शारीरिक तंत्र में होने वाले बायोकेमिकल रिएक्शन का महत्वपूर्ण हिस्सा है। ऐसे में दिमाग की प्रक्रिया को सही तरीके से बरकरार रखने के लिए सही रक्त प्रवाह के लिए ये जरूरी है। इलेक्ट्रोलाइट के सही संतुलन से हमारी मांसपेशियां नहीं सिकुड़ती। आईये जाते हैं कि हम कैसे शरीर में इलेक्ट्रोलाइट को संतुलित बनाए रख सकते हैं।

electrolytes

बाजार में मिलने वाले प्रोडक्ट

हमें बाजार में कई तरह के कमर्शियल स्पोट्र्स ड्रिंक मिलते हैं जिसमें आपको जरूरी इलेक्ट्रोलाइट के साथ चीनी, आर्टीफिशियल फ्लेवर और प्रीजर्वेटिव्स भी मिलते हैं, जिससे बॉडी ओवरलोड हो जाती है। इनके कारण शरीर तनाव की स्थिति में आ जाता है और ये पाचन तंत्र पर प्रभाव डालता है। यह न केवल शरीर को ज्यादा एसीडिक बना देते हैं बल्कि इसेक सेवन से रिकवरी प्रक्रिया भी धीमी हो सकती है।

ऐसे करें इसकी पूर्ति

हम जो इलेक्ट्रोलाइट ले रहे हैं, उन्हें सोडियम, पोटेशियम, क्लोराइड, कैल्शियम और मैग्नीशियम जैसे मिनरल्स के नाम से भी जाना जाता है। इनकी पूर्ति के लिए आप जल्द पचने वाले फूड्स ले सकते हैं ये कमर्षियल स्पोट्र्स ड्रिंक का ही काम करेंगे। हम पानी में नींबू और नमक मिलाकर भी पी सकते हैं। इसके अलावा ताजा नारियल पानी लेना अच्छा विकल्प है। यह न केवल इलेक्ट्रोलाइट की पूर्ति करचा है बल्कि यह आसानी से पचने में भी मदद करता है। एक्सरसाइज के दौरान ओआरएस यानि ओरल रीहाइड्रेशन सॉल्युशन के पैकेटों का इस्तेमाल करना सही है। इसके लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने भी मंजूरी दे रखी है। इसका इस्तेमाल डायरिया जैसे उन संक्रमण से संबंधित लक्षणों के उपचार में किया जाता है, जिनमें इलेक्ट्रोलाइट की भारी कमी पैदा हो जाती है। हालांकि नियमित रीप से इसके सेवन से बचें।

इसे भी पढ़ें-फिट रहने के लिए वर्कआउट करना है पसंद तो जिम जाने से पहले बैग में रखें कुछ जरूरी चीज़ें

केले का सेवन

एक खास फूड भी है जो ऐसे मिनरल्स का स्रोत बन सकता है और वह है केला। यदि आप फिटनेस और स्पोट्र्स को पसंद करना वाले हमेशा केले को अपनी डाइट में जोड़ें। कुल मिलाकर, यह कहना सही होगा कि हम अपने दैनिक कार्यों/प्रशिक्षण रुटीन में इन इलेक्ट्रोलाइट के महत्व को नजरअंदाज नहीं कर सकते। इन्हें अपने डेली रुटीन में शामिल करें। इससे आप मांसपेशियों के कार्य में सुधार, बेहतर फोकस और उचित रक्त प्रवाह के साथ महसूस करेंगे। 

इसे भी पढ़ें-रूटीन एक्सरसाइज से हो गए हैं बोर तो इसमें जोड़ें डांस का फन, जानें किस डांस से होती है कितनी कैलोरी बर्न

 (ये लेख वैभव गर्ग, क्लीनिकल एंड स्पोट्र्स न्यूट्रीशनिस्ट एवं फाउंडर, प्योरसाइज से बातचीत पर आधारित है।)

Read More Article On fitness In Hindi

 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK