खील खाने से सेहत को होते हैं कई फायदे, जानिए खील से बनी 2 इंस्टेंट स्वादिष्ट रेसिपी

Updated at: Jan 13, 2021
खील खाने से सेहत को होते हैं कई फायदे, जानिए खील से बनी 2 इंस्टेंट स्वादिष्ट रेसिपी

दिवाली में अधिकतर घरों में खील का भोल लगाया जाता है। यह खील सेहत और स्वाद दोनों में ही बेहतरीन होता है। आइए जानते हैं खील खाने के फायदे

Kishori Mishra
स्वस्थ आहारWritten by: Kishori MishraPublished at: Dec 05, 2020

खील यानी लावा बहुत से लोगों के घर में आपको आसानी से मिल जाएगा। इसे कई लोग लाई के नाम से भी जानते हैं। दिवाली, मकर संक्रांति, लोहरी, विवाह जैसे कई पर्व और अवसरों पर खील का प्रसाद चढ़ाया जाता है। दिवाली और धनतेरस पर मुख्य रूप से लाई चढ़ाया जाता है। पाचन के लिए लाई काफी फायदेमंद होती है। एक हेल्दी ब्रेकफास्ट के रूप में आप खील को अपने डाइट में शामिल कर सकते हैं। मकर संक्रांति (makar sankranti 2021) पर आप अपने घर पर खील से तरह-तरह के डिशेज तैयार कर सकते हैं। खील खाने से आपका सेहत दुरुस्त होता है। खील में भरपूर रूप से कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrate) होता है, जो आपको इंस्टेंट एनर्जी देता है। इसके साथ ही यह एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होता है, जो आपको कई बीमारियों से बचा सकता है। आप इसे फ्रूट्स और ड्राईफ्रूट्स के साथ स्नैंक्स के रूप में इसका सेवन कर सकते हैं। आइए जानते हैं खील खाने के (Health Benefits of Kheel) अन्य फायदे 

 

काब्रोहाइड्रेट की अधिकता (Carbohydrate)

खील मुख्य रूप से धान से तैयार होता है। इसमें भरपूर रूप से कार्बोहाइड्रेट होता है, जो बच्चों के विकास के लिए बहुत ही अच्छी होती है। कार्बोहाइड्रेट के सेवन से शरीर को उर्जा मिलती है। अगर आप शारीरिक रूप से कमजोर हैं, तो खील से बनी रेसिपी का सेवन जरूर करें। 

इसे भी पढ़ें - शरीर में ये लक्षण हैं क्रॉनिक किडनी डिजीज का संकेत, स्वाती बाथवाल से जानें किडनी रोगियों को क्या खाना चाहिए

फाइबर की अधिकता (Fiber)

खील खान से तैयार होता है। फाइबर की अधिकता की वजह से यह मोटापे को कम करने में आपकी मदद करता है। इसमें रेशे काफी ज्यादा होते हैं, जो कब्ज की परेशानी को दूर करने में सहायक होते हैं। इसके साथ ही इसमें फास्फोरस और  क्षारीय पदार्थ की मात्रा भरपूर रूप से होती है। 

ORS की तरह करें प्रयोग (Use Kheel Water)

शिशु को दस्त की शिकायत होने पर आप खील का इस्तेमाल ओआरएस (ORS) की तरह कर सकते हैं। खील का पानी दस्त की शिकायत को दूर करता है। साथ ही डिहाइड्रेश की परेशानी भी दूर होती है। खील का पानी तैयार करने के लिए आप 1 गिलास पानी लें। इसमें 2 चम्मच खील डालकर रातभर के लिए छोड़ दें। यह आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकता है। 

किडनी की परेशानी से करे बचाव (kheel beneficial for Kidney Problem)

खील में क्षारीय गुण होता है, जो किडनी में होने वाली परेशानियों से आपको बचाता है। किडनी की परेशानी से जूझ रहे लोगों को खील से बनी रेसिपी का सेवन करना चाहिए। इसके साथ ही आप खील के पानी का भी सेवन कर सकते हैं। 

भूख को करे कम (Reduce hunger)

खील का सेवन करने से आपको भूख कम लगती है। इसके साथ ही यह लंबे समय से उपवास रखने वालों के लिए भी उत्तम आहार माना जाता है। 

इसे भी पढ़ें - पौष्टिक गुणों से भरपूर होते हैं ये 10 मेवे, जानें इन्हें कब खाएं और कैसे खाएं तो मिलेगा ज्यादा फायदा

विटामिन डी से भरपूर (Vitamin-d)

खील में विटामिन डी भी भरपूर रूप से होता है। अगर आप दूध में खील मिलाकर खाते हैं, तो यह आपके लिए बढ़िया कॉम्बिनेशन साबित हो सकता है। इससे शरीर की हड्डियां मजबूत होती हैं। 

दिवाली में बचे खील से तैयार करें ये टेस्टी हेल्दी रेसिपी (Kheel Healthy Recipes)

खील से तैयार करें इंस्टेंट खीर

खील से आप घर में खीर तैयार कर सकते हैं। इसके लिए आप दिवाली पर बचे थोड़े से बताशे लें। इन बताशों को अच्छी तरह क्रश करें। अब इसमें खील मिलाकर मिक्सी ग्राइंडर में पीसें। इसमें थोड़ा ड्राई फ्रूट्स मिलाएं। अच्छी तरह मिक्स करने के बाद इसमें अपने अनुसार गर्म दूध मिलाएं। अच्छी तरह सभी चीजों को मिक्स करें। आपका इंस्टेंट खील खीर तैयार है। अब इसे एक बाउल में लोगों को परोसिए।

खील से बनाएं टिक्की

खील से आप घर में इंस्टेंट टिक्की भी तैयार कर सकते हैं। इसके लिए 1 कटोरी खील लें। इसे करीब 5 मिनट तक पानी में भिगो दें। 5 मिनट बाद खील से पानी को निकाल लें। अब इसमें 1 उबले आलू, 1-2 हरी मिर्च, स्वादानुसार नमक, 1 चुटकी लाल मिर्च पाउडर, 1 चुटकी धनिया और चाट मसाला मिक्स करें। सभी चीजों को अच्छी तरह से मिक्स करने के बाद इससे टिक्की बनाएं और तेल में फ्राई करें। लीजिए आपकी टिक्की तैयार है। गर्मागर्म खील टिक्की को अपने परिवार को परोसिए।

 Read more articles on Healthy-Diet in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK